मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> PM मोदी के साथ काम करने वाले नेता ने कहा, मोदी ने गुजरात में किया था 22 हजार करोड़ का घोटाला

PM मोदी के साथ काम करने वाले नेता ने कहा, मोदी ने गुजरात में किया था 22 हजार करोड़ का घोटाला

वाराणसी  20 दिसंबर 2018 । अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव व राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने पीएम के संसदीय क्षेत्र में मीडिया से मुखातिब हो कर उन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि पीएम बड़े भ्रष्टाचारी हैं। वह करप्शन में करप्शन करते हैं। उनका भ्रष्टाचार छोटा नहीं होता। कहा कि मैनें उनके साथ गुजरात विधानसभा में भी काम किया है, तब मैं वहां प्रतिपक्ष का नेता था। वहां उन्होंने सीएम रहते 22 हजार करोड़ का घोटाला किया था। वहां से निकले और पीएम बने तो रक्षा मंत्रालाय को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाया क्योंकि उनकी सोच थी कि इसकी पड़ताल नहीं होती। ऐसे में फ्रांस गए और अपने मित्र अऩिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये का राफेल सौदा दिला दिया।

गोहिल ने कहा कि कांग्रेस के पास राफेल सौदे से संबंधित सारे दस्तावेज हैं। साथ ही उन्होंने फ्रांस के जिस मुखिया के साथ सौदा किया उन्होंने भी कहा है कि पीएम ने ही ऑप्शन दिया था कि अनिल अंबानी को यह सौदा दिया जाए। फिर खुद अनिल अंबानी ने सौद हासिल करने के बाद मीडिया से बातचीत में कहा था कि उन्हें 30 हजार करोड़ का राफैल सौदा मिल गया है। इतना ही नहीं उन्होने यह भी कहा था कि राफैल सौदे के बाबत एक लाख करोड़ का लाइफ साइकिल सौदा मिल गया है। इसके बाबत उन्होने बाकायदा प्रेस विज्ञप्ति जारी की थी।

कांग्रेस नेता ने भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता मिनाक्षी लेखी की बातों का जवाब देते हुए कहा कि यूपीए सरकार के मुखिया डॉ मनमोहन सिंह ने राफैल सौदे को निबटाने के लिए टेक्निकल कमेटी गठित की थी और टेक्निकल कमेटी ने हर एक पहलू पर गौर फरमाते हुए करार किया था। इस मामले में तत्काली प्रधानमंत्री ने खुद कोई फैसला नहीं किया। देश की सुरक्षा का मसला था लिहाजा कोई जल्दबाजी भी नहीं की गई। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सारी कमेटियों को दरकिनार करते हुए सारा निर्णय खुद ही ले लिया। फ्रांस गए और रक्षा उपकरण बनाने वाली सरकारी कंपनी एचएएल को दरकिनार कर अपने मित्र अनिल अंबानी को सौदा दिला दिया। इसके सारे साक्ष्य हैं। सुप्रीम कोर्ट ने भी इसे माना है। उसकी प्रोसीडिंग भी कांग्रेस के पास है। कहा कि ऐसे सौदों में बैंक गारंटी की जरूरत होती लेकिन प्रधानमंत्री ने उसे भी दरकिनार कर दिया।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि पीएम मोदी आधा सच बोलते हैं। सच तो यह है कि वह खुद बड़े भ्रष्टाचार में लिप्त हैं और अगर उनके सामने कोई सच बोलने की कोशिश करता है तो उसकी नींद उडा देते हैं। उनका भ्रष्टाचार सबकी निगाह में नहीं आता। कांग्रेस नेता ने कहा कि वह अपने आगे किसी को कुछ नहीं समझते। उन्होने तो गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशू भाई को भी हटाने के लिए कोई कोरकसर नहीं छोड़ी। उनके लूप पोल वह खुद विपक्षा और मीडिया को सौंपते थे। मध्य प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री कमलनाथ के यूपी बिहार के लोगों पर दिए बयान पर कहा कि इसकी शुरूआत तो भाजपा ने ही की है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अपोलो हॉस्पिटल्स, इंदौर में हार्ट सर्जरी के बाद नन्हे हीरोज अपने घर वापिस जाने के लिए तैयार

इंदौर 1 मार्च 2021 । यह अनुमान है कि भारत में हर साल 240,000 बच्चे …