मुख्य पृष्ठ >> मोदी की ‘सुनामी’ को सहयोगियों ने सराहा

मोदी की ‘सुनामी’ को सहयोगियों ने सराहा

नई दिल्ली 24 मई 2019 । लोकसभा चुनाव के ताजा रुझानों में भाजपा के बड़े बहुमत से सत्ता पर काबिज होने के संकेतों के बीच पार्टी नेताओं ने गुरुवार को जोर दिया कि इससे स्पष्ट है कि अब राजनीति का व्याकरण बदल चुका है और लोगों ने विपक्ष की नकारात्मक राजनीति को खारिज कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यों पर मुहर लगाई है। कई मंत्रियों और नेताओं ने इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की सुनामी करार दिया। वहीं दूसरी ओर तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने लोकसभा चुनाव में जीत की ओर बढ़ रहे उम्मीदवारों को बधाई दी और प्रक्रिया की पूर्ण समीक्षा की आवश्यकता पर जोर दिया। और कहा, लेकिन हारने वाले पराजित नहीं हैं।

मतगणना के रुझानों से जहां भाजपा नीत राजग के खेमे में हर्ष छाया हुआ है, वहीं कांग्रेस और वाम दलों का उत्साह ठंडा पड़ चुका है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा चुनावों में भाजपा की संभावित जीत को ‘ऐतिहासिक’ करार देते हुए इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मजबूत’ और पार्टी प्रमुख अमित शाह के ‘गतिशील’ नेतृत्व का नतीजा बताया।

सिंह ने अपने ट्वीट में कहा कि भारत के लोगों ने एक बार फिर मोदी के नेतृत्व में भरोसा दिखाया है और भाजपा नीत राजग को निर्णायक बहुमत दिया है। उन्होंने कहा, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से फोन पर बात की है और लोकसभा चुनावों में भाजपा नीत राजग को शानदार जीत दिलाने के लिए उन्हें बधाई दी।’

सिंह ने कहा, मोदी जी के दूरदर्शी नेतृत्व एवं गतिशील मार्गदर्शन में पार्टी निर्णायक जीत दर्ज कर रही है। मैं भाजपा नीत राजग को निर्णायक जनादेश देने के लिए लोगों का आभार प्रकट करता हूं।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- भारतीय जनता पार्टी को इतनी बड़ी विजय दिलाने के लिए आपका बहुत-बहुत अभिनंदन। मैं देशवासियों के प्रति हृदय से कृतज्ञता व्यक्त करती हूं।

भाजपा उपाध्यक्ष विनय सहस्रबुद्धे ने कहा, एक बार फिर से लोगों ने भाजपा और मोदी के प्रति व्यापक विश्वास व्यक्त किया है। जो संकेत मिले हैं, उससे स्पष्ट है कि अब राजनीति का व्याकरण बदल चुका है और लोगों ने विपक्ष की नकारात्मक राजनीति को खारिज कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यों पर मुहर लगाने का काम किया है।

भाजपा प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि पार्टी का शानदार प्रदर्शन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास कार्यों की जीत और विपक्ष की नकारात्मक राजनीति की पराजय है। उन्होंने कहा कि जो लोग यह सोचते थे कि जात-पात की राजनीति से वे विकास को पराजित कर देंगे, उन्हें यह समझना चाहिए कि यह नया युग है, मोदी युग है, यह विकास की राजनीति का युग है।

लोजपा नेता एवं केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने ट्वीट किया, यह चुनाव नहीं था, मोदी सुनामी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का दिल से हार्दिक अभिनंदन।

केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा, यह प्रचंड जीत कुछ और नहीं, पूरब से पश्चिम तक राजनीतिक सुनामी है, भाजपा सर्वश्रेष्ठ स्थिति में है, यह वास्तविकता है। उत्तर से लेकर दक्षिण तक लोगों ने एकमत विकल्प के लिए वोट दिया। लोगों की पसंद मोदी रहे।

केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि भारत के लोगों ने मोदी को अपना आशीर्वाद दिया है।

मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौर ने कहा, मेरा जयपुर ग्रामीण सहित संपूर्ण भाजपा कार्यकर्ताओं को सलाम। यह राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा है।

रुझानों में कांग्रेस की जबर्दस्त हार के संकेतों के बीच कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, कांग्रेस निरुत्साहित महसूस कर रही है। रुझान पार्टी की उम्मीदों के अनुरूप नहीं हैं। मतगणना पूरी होने तक मैं परिणाम के निष्कर्ष पर नहीं पहुंचूंगा।

उन्होंने कहा, अगर रुझान सही साबित होते हैं तो कांग्रेस को यह आत्मावलोकन करने की जरूरत है कि क्यों इसका अभियान देश के लोगों को प्रेरित करने में विफल रहा।

वहीं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने लोकसभा चुनाव में जीत की ओर बढ़ रहे उम्मीदवारों को बधाई दी और प्रक्रिया की पूर्ण समीक्षा की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि वीवीपैट का मिलान मतगणना प्रक्रिया पूरी होने के बाद होगा।

ममता ने ट्वीट किया, विजेताओं को बधाई। लेकिन हारने वाले पराजित नहीं हैं। उन्होंने कहा, हमें पूर्ण समीक्षा करनी है और फिर हम आप सभी के साथ अपने विचार साझा करेंगे। मतगणना की प्रक्रिया पूरी होने दीजिए और वीवीपैट का मिलान पूरा होने दीजिए।

रुझानों के तुरंत बाद विपक्षी खेमे में दरार पड़ गई। भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार अंजान ने कहा कि राहुल गांधी द्वारा लिए गए फैसलों से विपक्ष के भीतर बिखराव हुआ। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वारिस की नीतियों ने नरेंद्र मोदी की जीत के द्वार खोल दिए।

स्वराज इंडिया के योगेंद्र यादव ने रुझानों पर कहा, यह मोदी नीत भाजपा को स्पष्ट जनादेश है, जातिगत समीकरण कागजों में देखने में अच्छा लगता है, लेकिन केवल जातिगत समीकरण ही काम नहीं करता। आपको एक बड़ा संदेश देने की जरूरत होती है, जो कि विपक्ष ने नहीं किया।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, नरेंद्र मोदी और अमित शाह का समीकरण बहुत ही अद्वितीय और महत्वपूर्ण है। यह विजय मोदी और शाह के नेतृत्व तथा लाखों पार्टी कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत का नतीजा है।

फिर एक बार बन गई मोदी सरकार, हो जाइये इन 5 कड़े फैसलों के लिए तैयार !

फिर एक बार मोदी सरकार. देश का फैसला सामने आ गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम और काम पर भारतवासियों ने भरोसा जताया है और क्या खूब जताया है. बंपर जीत के साथ सत्ता में मोदी की वापसी हुई है. तमाम एग्जिट पोल्स ने जो भविष्यवाणी की थी, नतीजे भी वैसे ही आए हैं. नरेंद्र मोदी की ना सिर्फ सत्ता में वापसी हुई है, बल्कि ये वापसी बहुत धमाकेदार भी हुई है. अब जबकि केंद्र में बड़ी ताकत के साथ मोदी सरकार की वापसी हो गई है, तो उम्मीद है कि सरकार सबसे पहले धीरे-धीरे वो फैसले लेगी, जो उसके एजेंडे में हैं. ये फैसले नोटबंदी जैसे सख्त भी हो सकते हैं.

आतंकवाद पर और सख्त फैसला
आतंकवाद को लेकर मोदी सरकार बिल्कुल सख्त है. 282 सीटों के दम पर ही बीजेपी की सरकार ने पाकिस्तान के खिलाफ सख्त रुख अपनाया. फिर चाहे सर्जिकल स्ट्राइक हो या फिर एयरस्ट्राइक हो. अब जबकि बीजेपी दोबारा सत्ता में आ गई है तो पाकिस्तान के खिलाफ सख्त फैसले लेने को तरजीह मिल सकती है.

बेनामी संपत्ति पर प्रहार?
मोदी सरकार 2014 में आते ही नोटबंदी और जीएसटी जैसे कड़े कदम उठाए गए, जिससे हर कोई हैरान रह गया था. विपक्ष ने इन फैसलों की निंदा की, लेकिन मोदी सरकार पूरी ताकत के साथ आगे बढ़ी. यही नहीं, नरेंद्र मोदी कई बार बेनामी संपत्ति का जिक्र कर चुके हैं. इस बार वो बेनामी संपत्ति पर करारी चोट कर सकते हैं.

तीन तलाक पर बड़ा फैसला?
मुस्लिम महिलाओं को हक दिलाने की बात कर बीजेपी ने संसद में तीन तलाक बिल पेश किया. जिसमें अपनी पत्नियों को तीन तलाक देने वाले मुस्लिम पुरुषों के खिलाफ एक्शन लेने की बात कही गई हैं. बीजेपी इस बिल को लोकसभा-राज्यसभा में ला चुकी है, लेकिन विपक्ष ने हर बार अड़ंगा लगाया है. बीजेपी की सत्ता में वापसी के बाद मुस्लिम महिलाओं के हित में ये फैसला लागू किया जा सकता है.

समान नागरिक कानून
हर नागरिक के लिए एक ही कानून का मुद्दा बीजेपी काफी समय से उठाती रही है. यानी किसी भी धार्मिक कानून की जगह सिर्फ संविधान का कानून चलेगा. इसके तहत हर परिवार में दो बच्चे, शादी, संपत्ति के अधिकार नियमित किए जा सकते हैं. इस बार की सरकार में भारतीय जनता पार्टी इस ओर कदम बढ़ा सकती है.

NRC के मुद्दे पर आगे बढ़ेगी सरकार?
पूर्वोत्तर में NRC का मुद्दा इस बार के चुनाव में छाया रहा है. असम-अरुणाचल में जिस तरह से विरोध के बावजूद बीजेपी इस मुद्दे पर आगे बढ़ी उससे वह विपक्ष पर हमलावर है. बीजेपी ने NRC को पूरे देश में लागू करने का वादा किया है, मोदी की नई केंद्र सरकार इसे हकीकत में तब्दील कर सकती है.

धमाकेदार वापसी करते ही मोदी ने किए तीन बड़े ऐलान

लोकसभा चुनाव 2019 में आखिरकार नरेंद्र मोदी ने धमाकेदार वापसी कर ली। उनकी ये जीत साल 2014 से भी बड़ी जीत है। बीजेपी गठबंधन ने यूपीए का पूरी तरह से सफाया कर दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तो प्रेस वार्ता कर अपनी हार स्वीकार कर ली और मोदी को बधाई दे दी। नवभारत टाइम्स वेबसाइट के मुताबिक गुरुवार को प्रचंड बहुमत मिलते ही मोदी ने तीन धमाकेदार ऐलान कर दिए हैं। दूसरे ऐलान पर तो उनके नारे गूंजने लगे।

ये है नरेंद्र मोदी का पहला ऐलान
भारतीय जनता पार्टी को प्रचंड बहुमत देकर देश की जनता ने फिर से सरकार में बैठा दिया। इसी बात से उत्साहित होकर मोदी गुरुवार शाम को बीजेपी दफ्तर से कार्यकर्ताओं को संबोधित करने पहुंचे। उन्होंने पहला बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि देश की जनता ने जो मुझ पर भरोसा किया है, मैं सार्वजनिक वादा करता हूं कि बदनीयत और बदइरादे से कोई काम नहीं करूंगा।

जानें मोदी का दूसरा बड़ा ऐलान
मोदी ने कहा कि 130 करोड़ हिन्दुस्तानियों ने फकीर की झोली भर दी। इससे वहां उत्साह का माहौल बन गया। इसके बाद उन्होंने दूसरा बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि मैं आपको यकीन दिलाता हूं कि दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद मैं खुद के लिए कभी कुछ नहीं करूंगा। मोदी के इस ऐलान के बाद कार्यालय में उनके नाम के नारे गूंजने लगे।

ये है मोदी का तीसरा बड़ा ऐलान
बहुमत मिलने के बाद मोदी का तीसरा ऐलान भी दमदार रहा। उन्होंने कहा कि उनके समय का हर पल और उनके शरीर का हर कण केवल भारतवासियों के लिए रहेगा। मोदी बोले कि आप मेरा मूल्यांकन करते रहिएगा और जहां गलत लगे, मुझे कोसते भी रहिएगा। हालांकि उन्होंने वादा कि सार्वजनिक तौर पर किए वादे को वो निभाने की पूरी कोशिश करेंगे।

जानिये किस सीट से कौन जीता और किसे मिली हार

बिहार की पटना साहिब सीट से बीजेपी उम्मीदवार रवि शंकर प्रसाद ने कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा को भारी मतों से हरा दिया है।

बिहार की ही बेगूसराय सीट से बीजेपी केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह से जीत गए हैं, वहीं सीपीआइ के कन्हैया कुमार और आरजेडी के तनवीर हसन हार गए हैं।

मध्य प्रदेश की गुना सीट से पश्चिमी यूपी के कांग्रेस प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी के केपी यादव से बड़े अंतर के साथ हारे।

मध्य प्रदेश की अहम सीट भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह भारी मतों से हार गए हैं। बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर इस सीट पर कब्जा करने में सफल रही।

जम्मू-कश्मीर की श्रीनगर सीट से एनसीपी नेता फारूक अब्दुल्ला जीत गए हैं, जबकि अनंतनाग सीट से एनसीपी की महबूबा मुफ़्ती हार गयी हैं।

केरल की वायनाड सीट से कांग्रेस अध्यक्ष करीब 7 लाख वोटों से जीत गए हैं। जबकि अमेठी सीट को कब्जाने में बीजेपी की स्मृती इरानी सफल रही।

उत्तर प्रदेश की वाराणसी सीट से पीएम मोदी ने करीब 4 लाख मतों के अंतर से गठबंधन की उम्मीदवार शालिनी यादव को हराकर जीत हासिल की है।

उत्तर पूर्वी दिल्ली सीट से पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को हराकर मनोज तिवारी लगातार दूसरी बार जीते।

दक्षिणी दिल्ली से कांग्रेस उम्मीदवार विजेंदर सिंह हार गए हैं।

गाज़ियाबाद सीट से बीजेपी के जनरल वीके सिंह ने लगातार दूसरी बार जीत दर्ज की।

गुजरात की गांधी नगर सीट से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भारी मतों से जीत हासिल की।

यूपी की रायबरेली सीट से यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने जीत दर्ज की।

कर्नाटक की टुमकुर सीट से जेडीएस नेता और पूर्व पीएम एचडी देवगौड़ा हार गए।

कर्नाटक की मंड्या सीट से मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के बेटे निखिल कुमारास्वामी हार गए हैं।

उत्तर प्रदेश की आजमगढ़ सीट से समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव ने बीजेपी के दिनेश लाल को हरा कर जीत दर्ज की।

केरला के तिरुवनंथपुरम सीट से कांग्रेस के शशि थरूर जीत गए हैं।

यूपी की रायबरेली सीट से यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने जीत दर्ज की।

गौतमबुध नगर से बीजेपी के डॉक्टर महेश शर्मा जीत गए हैं।

लखनऊ से गृहमंत्री राजनाथ सिंह जीते हैं।

महाराष्ट्र की नागपुर सीट से बीजेपी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जीते।

बैंगलोर सेन्ट्रल से निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश राज हार गए हैं।

पंजाब के गुरदासपुर से बीजेपी के सनी देओल जीते।

यूपी की रामपुर सीट से बीजेपी की जया प्रदा और समाजवादी पार्टी के अमर खान के बीच कड़ी टक्कर में आजम खान हारे।

दिल्ली की सभी सीटें बीजेपी के खाते में गयीं हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …