मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> कोरोना से चीन में मरें है 1 करोड़ से ज्यादा लोग

कोरोना से चीन में मरें है 1 करोड़ से ज्यादा लोग

नई दिल्ली 14 अप्रैल 2020 । पूरी दुनिया कोरोना वायरस से त्राहि-त्राहि कर रही है । पूरी दुनिया घरों में रहने को मजबूर हो गयी है । इन सबका जिम्मेदार है चीन । वहां के राक्षसी मीट मार्केट से जन्मे इस वायरस के कारण दुनिया भर में हाहाकार है । जहां अन्य देश एक दम सटीक आंकड़े दे रहें है वही इस वायरस के जनक देश के आंकड़े एक सामान्य व्यक्ति को भी पच नही रहें है । चीन ने सिर्फ 3268 मौत का आंकड़ा दुनिया को दिया है जबकि असल हकीकत इससे काफी अलग है, मीडिया रिपोर्ट चीन में एक करोड़ से अधिक मौत का दावा कर रहे हैं, लेकिन इस दावे की पीछे की वजह क्या है ? आइए जानते है पूरी वजह जिसे देखकर आप चौक जाएंगे ।
चुकी चीन की बेचारी मीडिया पूरी तरह सरकारी नियंत्रण में है,यहां मीडिया वही दिखाता है जो सरकार चाहती है,इससे असली आंकड़े लोगों तक नहीं पहुंच पाते हैं,चीन इन दिनों बता रहा है कि उसने इस बीमारी को पूरी तरह से काबू कर लिया है और यहां नए मामलों में बहुत कमी आई है और मरने वालो की संख्या भी बहुत कम है,हमारे देश मे लोकतंत्र बहुत मजबूत है पत्रकार खोजी भी है सरकार उनसे कुछ छुपा नही पाती इसी डर से सरकार फूक-फूक कर कदम रखती है और सच ही बताती है । हमारा देश गुलाम नही जो केवल शासक ने जो कहाँ उसे आंख बंद करके मान लें । चीन से अब जो जानकारियां निकल कर सामने आ रही हैं उससे आप हैरान रह जाएंगे।

1 .खुलाशा :-चीन के ऊपर सैटेलाइट तस्वीरों में दिखी सल्फर गैस, बड़ी संख्या में शव जलाने का अंदेशा रिपोर्ट लगभग 2 माह पूर्व वुहान की सैटेलाइट तस्वीर सामने आई। इसमें आग के बड़े गोले के रूप में सल्फर डाई ऑक्साइड गैस दिख रही है। वैज्ञानिकों के मुताबिक ऐसा शवों को जलाने से हो सकता है। इंटेलवेव के मुताबिक इतना धुआं करीब 14,000 शवों को जलाने पर निकलता है। ब्रिटिश अखबार डेलीमेल ने भी वुहान की सैटेलाइट इमेज पर संदेह जताया है। अमेरिका के पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक शवों को जलाने पर सल्फर गैस के अलावा पारा, डाइऑक्सिन, हाइड्रोक्लोरिक एसिड जैसे केमिकल भी निकलते हैं। यह सभी तत्व वहां पाए गए थे ।

2 . खुलासा :- चीन से निर्वासित किये गए बिलियनेयर गुओ वेंगुई ने दावा किया है कि सिर्फ वुहान से ही हर दिन 12 सौ लाशें जलाई जा रही है। गुओ वेंगुई को देश से निर्वासित कर दिया गया है।उनपर देश की इमेज धूमिल करने का आरोप लगाया गया है। बता दें कि उन्होंने कई मौकों पर सरकार के खिलाफ सबूत पेश कर सरकार को गलत साबित किया है। अपने इस स्टेटमेंट का गुओ वेंगुई ने सबूत भी पेश किया। उन्होंने बताया कि चीन के वुहान में 40 लाश जलाने वाली मशीनें मंगवाई गई है। एक मशीन में एक साथ 30 लाशों को जलाया जा सकता है। इस बात से इंकार इसलिए भी नहीं कर सकते कि पिछले कुछ दिनों में चीन के वुहान और इसके अगल-बगल के खाली इलाकों में सल्फर डायऑक्साइड की मात्रा काफी बढ़ गई है। उन्होंने अपनी बात की पुष्टि के लिए इमेज भी सोशल मीडिया पर डाले थे ।

3. खुलासा :- 1.5 करोड़ एक्टिव मोबाइल यूजर गायब है :-जनवरी से मार्च के बीच इसके 1 करोड़ 50 लाख लाख से ज्यादा एक्टिव ग्राहक गुम हो गए, 80 लाख से ज्यादा ऐसे लोग जो रोज मोबाइल नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे थे वो अब कहां हैं किसी को नहीं पता, वो एक्टिव यूजर थे पर उनके मोबाइल अब बंद हैं, न के 60 फीसद मोबाइल मार्केट पर नियंत्रण रखने वाली कंपनी चाइना मोबाइल ने बताया कि देश में फेशियल स्कैन अनिवार्य होने के बाद दिसंबर में 30.73 लाख नए उपभोक्ता जुड़े थे। लेकिन जनवरी में आठ लाख 62 हजार और फरवरी में 72 लाख उपभोक्ता कम हो गए। इसी तरह चाइना टेलीकॉम ने जनवरी में चार लाख तीस हजार और फरवरी में 56 लाख यूजर्स घटने की जानकारी दी। दो करोड़ मोबाइल यूजरों की संख्या में हो गई कमी ।

4. खुलासा :- डेली मेल की रिपोर्ट एक शहर में 42 हजार मौते :- डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक हुबेई प्रांत के वुहान में रहनेवाले स्थानीय निवासियों की बात की जायें तो उनका मानना है कि इस घातक संक्रमण से 42 हजार लोगों की मौत हुई है। अब सवाल उठ रहे हैं कि आखिर कितने लोगों की मौत हुई।

5. खुलासा :- वुहान शहर में अंधेरों का साया :- वर्तमान में वुहान में सब सामान्य होने के बाद अनेकों स्थानीय निवासियों ने दावा किया है कि उनके घर के लोग अभी तक नही लौटे है । वही हमेशा लाइटों से गुलजार रहने वाले शहर के अनेकों घरों में लाइट नही जल रही है । अर्थात उन घरों में कोई निवासी नही बचा है ।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

बिना लगेज सफर करने वाले एयर पैसेंजर्स को किराए में छूट मिलेगी

नई दिल्ली 27 फरवरी 2021 ।  डोमेस्टिक एयर पैसेंजर्स को अब बैगेज नहीं ले जाने …