मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> आपात स्थिति में मदद के लिए डायल करना होगा 112 नंबर

आपात स्थिति में मदद के लिए डायल करना होगा 112 नंबर

भोपाल  5 जुलाई 2018 । झगड़ा-फसाद होने पर 100, आगजनी होने पर 101 और सड़क हादसा या गंभीर बीमारी में मदद के लिए अभी लोगों को इमरजेंसी कॉल 108 डायल करना होता है। लेकिन अब किसी भी आपात स्थिति में मदद के लिए लोगों को सिर्फ एक नंबर-112 डायल करना होगा। अमेरिका की तर्ज पर शुरू की जाने वाली यह सुविधा देश में सबसे पहले मप्र से शुरू होने जा रही है। स्मार्ट पुलिसिंग के तहत योजना तीन माह में अमल में आने के आसार हैं।

केंद्र सरकार ने पूरे देश में आपात स्थिति में मदद के लिए सिर्फ एक नंबर-112 लागू करने की योजना तैयार की है। इसके लिए मध्यप्रदेश पुलिस को 14.50 करोड़ रुपए का बजट भी दिया जा चुका है। इसके लिए पुलिस की टेलीकॉम विंग ने काम भी शुरू कर दिया है। इसके तहत वर्तमान में चल रही डायल-100, एम्बुलेंस (108) और फायरब्रिगेड (101) की संचार व्यवस्था नए सेट अप में 112 में मर्ज कर दी जाएंगी।

प्रदेश में सबसे पहले क्यों

एसपी डायल-100, अमित सक्सेना ने बताया कि देश में सबसे पहले राज्य स्तरीय डायल-100 की सेवा मप्र में वर्ष-2015 में शुरू की गई है। इसके तहत प्रदेश में अत्याधुनिक संचार साधनों से लैस 1000 पुलिस वैन विभिन्ना जिलों में तैनात हैं। एक कॉल पर 5 से 15 मिनट में पुलिस मौके पर पहुंचने के कारण इस सेवा को काफी सराहना मिली। इसको देखते हुए अन्य प्रदेशों ने भी इसे लागू किया। डायल-100 का अत्याधुनिक संसाधनों से लैस नेटवर्क को देखते हुए केंद्र सरकार ने सबसे पहले मप्र से 112 को लागू करने के लिए चुना।

कैसे काम करेगा सिस्टम

112 पर कॉल रिसीव होते ही फोन करने वाले से घटना के बारे में पूछा जाएगा। जानकारी मिलते ही संबंधित सेवा (पुलिस, फायरब्रिगेड, एम्बुलेंस) के लिए कॉल फारवर्ड हो जाएगा। साथ ही घटना का फालोअप भी किया जाएगा।

सीडेक करेगी सेटअप

केंद्र सरकार के इलेक्ट्रॉनिक एवं संचार तकनीक मंत्रालय के तहत काम करने वाली सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांश कम्प्युटिंग कंपनी (सीडेक) डायल-112 के लिए पूरा सेटअप तैयार कर रही है। इसके लिए सीडेक की टीम जल्द ही डायल-100 का निरीक्षण करने आ रही है। एसपी सक्सेना के मुताबिक इस सुविधा के तीन माह में शुरू होने की पूरी संभावना है। गौरतलब है कि अमेरिका में किसी भी आपात स्थिति में पूरे देश में डायल-911 की सुविधा है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

भस्मासुर बना तालिबान, अपने ही सुप्रीम लीडर अखुंदजादा का कत्ल; मुल्ला बरादर को बना लिया बंधक

नई दिल्ली 21 सितम्बर 2021 । अफगानिस्तान में सत्ता पाने के बाद आपस में खूनी …