मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> निज़्मुद्दीन मरकज जमातियों से तंग डॉक्टरों के शरीर पर लगाए गए कैमरे

निज़्मुद्दीन मरकज जमातियों से तंग डॉक्टरों के शरीर पर लगाए गए कैमरे

नई दिल्ली 12 अप्रैल 2020 । निजामुद्दीन स्थित मरकज से निकालकर क्वारंटाइन किए गए जमातियों से परेशान डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ को स्वास्थ्य विभाग और रेलवे ने शरीर (कपड़ों) पर लगाने वाले कैमरे दिए हैं। ये कैमरे इसलिए उनके शरीर पर लगाए गए हैं ताकि तुगलकाबाद रेलवे कॉलोनी में बनाए गए क्वारंटाइन केंद्र में रह रहे जमातियों की बदसलूकी सामने आ सके। इनकी हरकतें कैमरे में रिकॉर्ड होगी। इस केंद्र के मेडिकल स्टाफ ने शिकायत की थी कि जमाती मेडिकल स्टाफ पर थूकने और अपने कपड़े उतारने जैसी हरकत कर रहे हैं। वे बिरयानी और गुटखे की मांग कर रहे हैं।

जमातियों का हंगामा : तुगलकाबाद क्वारंटाइन सेंटर में रेलवे के 10 मेडिकल स्टाफ के अलावा करीब दो दर्जन कर्मचारी व हेल्पिंग स्टाफ तैनात हैं। यहां करीब 167 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। ये लोग दो रात से जमकर हंगामा कर रहे हैं। ये घरों की खिड़कियों, दीवारों व सड़कों पर जानबूझकर थूक रहे थे, ताकि अधिक से अधिक लोगों को संक्रमित कर सकें। ये लोग डॉक्टरों पर भी थूक रहे थे। विदेशी सबसे ज्यादा परेशान कर रहे हैं।

चार को अस्पताल भेजा

तुगलकाबाद रेलवे कॉलोनी के क्वारंटाइन सेंटर में लाए गए 167 लोगों की जांच की जा रही है। रेलवे सूत्रों ने बताया कि इनमें से चार में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर शुक्रवार को इन्हें डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल स्थानांतरित कर दिया गया। इनमें दो जमाती यूनाइटेड किंगडम और दो जमाती असम के हैं।

अस्पतालों में सुरक्षा बढ़ाई गई

डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा को देखते हुए लोकनायक अस्पताल, राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, जीटीबी अस्पताल, दीन दयाल उपाध्याय अस्पतालऔर झज्जर स्थित एम्स अस्पताल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

तुगलकाबाद, बदरपुर, नरेला, सुल्तानपुरी, बक्करवाला, द्वारका और दिल्ली एयरोसिटी स्थित क्वारंटाइन केंद्रों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। तुगलकाबद में बने क्वारंटाइन सेंटर से भी जमात के लोगों द्वारा जानबूझकर थूकने और खांसने की शिकायत मिली थी, जिसके कारण यहां रेलवे कॉलोनी में रह रहे कर्मचारी बुरी तरह डरे हुए थे।

डॉक्टरों ने शिकायत की थी : अस्पतालों के डॉक्टर की शिकायत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर अस्पतालों और क्वारंटाइन केंद्रों की सुरक्षा बढ़ाने का अनुरोध किया था। इसके बाद इन सभी जगहों पर अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है।

डब्ल्यूएचओ की टीम ने निजामुद्दीन का दौरा किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम ने शुक्रवार को निजामुद्दीन के उस इलाके का दौरा किया, जहां कोरोना संक्रमण के सबसे अधिक मामले मिले हैं। टीम ने सेनेटाइजेशन के काम का भी जायजा लिया। इस दौरान लोगों को लक्षण दिखते ही तुरंत स्वास्थ्यकर्मियों को सूचित करने के लिए कहा गया।

भोपाल में एक आईएएस अफसर गिरीश शर्मा समेत 12 नए संक्रमित इंदौर में 3 की मौत।
मध्य प्रदेश राज्य में कोरोना के हॉटस्पॉट बन चुके हैं इंदौर में शनिवार को फिर तीन लोगों की मौत हो चुकी शुक्रवार को भी वहां एक डॉक्टर समेत चार लोगों ने दम तोड़ा 24 घंटे मैं अकेले इंदौर में 7 लोगों की जान कोरोनावायरस के कारण जा चुकी, इंदौर में उन 50 नए संक्रमित प्रकरण मिले। राजधानी भोपाल में 12 मरीजों की रिपोर्ट कोरोनावायरस पॉजिटिव आई इस रिपोर्ट में आईएएस अधिकारी गिरीश शर्मा और उनका बेटा भी शामिल है जब इस संदर्भ में आईएएस अधिकारी गिरीश शर्मा से चर्चा हुई तब बताया मैंने और मेरे बेटे ने रिपोर्ट पॉजिटिव आने के कारण आइसोलेट कर लिया है। रतलाम मंदसोर और देवास में एक एक व्यक्ति की वरुणा की पुष्टि हुई है।
इंदौर से जबलपुर सेंट्रल जेल में भेजा गया रासुका का आरोपी जावेद खान भी संक्रमित पाया गया है रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे मेडिकल हॉस्पिटल में शिफ्ट कर दिया गया है उसके संपर्क में आए आधा दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मियों को क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है। जावेद पर इंदौर में पुलिसकर्मियों पर पत्थर फेंकने और दुर्व्यवहार करने का आरोप है प्रशासन ने जावेद समेत चार आरोपियों पर रासुका लगाकर उन्हें जबलपुर की जेल में शिफ्ट किया था हालांकि बाकी तीन की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।
जब इस संदर्भ में हमारी चर्चा जबलपुर एसपी अमित सिंह से की गई चर्चा में बताया इंदौर कोरोनावायरस हॉटस्पॉट बना हुआ है । इसके बावजूद चारों बंदियों को बिना जांच के यहां भेज दिया कोरोला से अब तक राज्य में 38 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 551 संक्रमित रोगी सामने आ चुके हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …