मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> 4 और 7 नवंबर को जमा नहीं होंगे नामांकन पत्र

4 और 7 नवंबर को जमा नहीं होंगे नामांकन पत्र

भोपाल 1 नवम्बर 2018 । मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्ही.एल कान्ताराव ने मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के साथ बैठक की। उन्होंने बताया कि 2 से 9 नवंबर तक नामांकन पत्र सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक रिटर्निंग ऑफिसर के कार्यालय में प्रस्तुत किए जा सकेंगे। रविवार 4 नवंबर और 7 नवंबर को दीपावली पर सार्वजनिक अवकाश होने के कारण नामांकन पत्र जमा नहीं किए जाएंगे।

युवाओं को रोजगार दिलाना कांगे्रस पार्टी का लक्ष्य: राहुल गांधी

अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने धार की सभा में कहा कि प्रदेश के युवाओं को रोजगार दिलवाना कांगे्रस पार्टी का लक्ष्य है। मध्यप्रदेश के युवाओं को रोजगार के लिये दूसरे प्रदेश में जाना पड़ता है। गुजरात जाने पर उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश और अन्य राज्य के लोगों को नौकरी से भगा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि किसानों को फसल का दाम नहीं मिला। प्याज सस्ती कर दी। सस्ते आलू खरीद कर उद्योगपतियों ने उसकी चिप्स बनाकर महंगे दामों पर बेच दी। हम चाहते हैं कि फसल का जो भी फायदा हो उसका अधिक से अधिक हिस्सा किसानों को मिले। मध्यप्रदेश के हर जिले में किसानों को खेतों के पास फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाये जायेंगे, ताकि फसलों के अच्छे दाम मिलने के साथ-साथ गांव के युवाओं को रोजगार भी मिले।
राहुल गांधी ने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने अमीरों का पैतीस लाख करोड़ कर्जा माफ कर दिया, लेकिन किसानों के कर्जा माफ करने का कोई काम नहीं किया। मैंने पहले ही कहा है कि प्रदेश में कांगे्रस सरकार आने के दस दिन में किसानों का कर्जा माफ होगा। नरेन्द्र मोदी ने कालेधन का बहाना बनाकर नोटबंदी के समय आपको बैंक की लाईन में लगा दिया। क्या आपके साथ कोई अमीर आदमी जैसे अंबानी, माल्या, चैकसी, मोदी लाईन में लगा दिखा? लाईन में लगा तो सिर्फ गरीब। उन्होंने कहा कि अमित शाह के बेटे के 50 हजार रूपये तीन माह में 80 करोड़ कैसे हो गये?
राहुल गांधी ने कहा कि एचएएल कंपनी को विमान बनाने का 70 साल का अनुभव है। इन 70 सालों में उसने मिग, मिराज और जगुआर जैसे विमान बनाये, जिसने पाकिस्तान में बम गिराकर उसके छक्के छुड़ा दिये थे। इस कंपनी को विमान बनाने का ठेका न देकर अनुभवहीन अनिल अंबानी की कंपनी को राॅफेल लड़ाकू विमान बनाने का ठेका दे दिया। उन्होंने राॅफेल विमान 526 करोड़ की जगह 1670 करोड़ रूपये में अनिल अंबानी के मार्फत खरीदने का ठेका देकर यह साबित कर दिया कि चैकीदार चोर है। जिस व्यक्ति को खुद मोदी ने सीबीआई का डायरेक्टर बनाया था, जब वह राॅफेल खरीदी की जांच का प्रयास करता है तो रातों-रात उसे उठाकर बाहर फेंक दिया जाता है। उन्होंने मोदी को चैकसी, माल्या, अंबानी, नीरव मोदी का चैकीदार बताया न कि देश की जनता का।
गांधी ने नरेन्द्र मोदी पर युवाओं के सपने तोड़ने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने अमीरों की मदद की और गरीबों का तिरस्कार किया। सरकार द्वारा चिकित्सा, शिक्षा, खेती आदि में आम आदमी की मदद न करने का आरोप भी मोदी पर लगाया। हिन्दुस्तान की एकरूपता की बात पर कहा कि अमीरों का कर्ज माफ होगा तो किसानों का भी कर्जा माफ होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जल, जंगल और जमीन का कानून लायेंगे। जमीन अधिग्रहण कानून को लागू करेंगे। आदिवासी बिल को मध्यप्रदेश में लागू करेंगे। हम लोगों के मन की बात करेंगे, ना कि मोदी की तरह खुद के मन की बात।
प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि 28 नवम्बर को चुनाव के दिन दबाने वाला बटन किसानों, नौजवानों और महिलाओं की सुरक्षा के हितों के लिए दबाना है। भाजपा कौन से अच्छे दिन की बात करती थी, न तो किसानों के अच्छे दिन आये और न ही गरीबों के। अच्छे दिन आये हैं तो सिर्फ भाजपा नेताओं के आये हैं। गुमराह और घोषणाओं की राजनीति बहुत हो गयी। अब सच्चाई की राजनीति होना चाहिए।
सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जो विकास का झंडा यहां गाड़ा जायेगा, वह किसान और गरीबों के लिये गाड़ा जायेगा। जिन किसान भाईयों को फसलों के दाम नहीं मिले, वे अब भाजपा को 28 नवंबर को हराकर अपना हिसाब बराबर करेंगे। उन्होंने कहा कि गांव वालों को जो राशन की शक्कर और तेल मिलना चाहिए था, वह नहीं मिला। उन्होंने कहा ‘‘खा गये शक्कर, पी गये तेल, यही है भाजपा का खेल।’’
इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह, संजय कपूर, सज्जनसिंह वर्मा, कांतिलाल भूरिया, विधायक जीतू पटवारी, गजेन्द्रसिंह राजूखेड़ी, उमंग सिंघार, बालमुकुंद गौतम, कांगे्रस कार्यकर्ता और भारी संख्या में जनसमूह उपस्थित था।

महात्मा गांधी ने कांगे्रस को जनता का संगठन बनाया था

अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने आज इंदौर में प्रोफेशनल्स से चर्चा के दौरान कहा कि आरएसएस हिन्दुस्तान की जनता का संगठन नहीं है, वह कुछ चुने हुए ग्रुप का संगठन है। हमारे कांगे्रस संगठन का नेचर अलग है। महात्मा गांधी ने उसे जनता का संगठन बनाया था। उन्होंने कहा कि आरएसएस और भाजपा मिलकर हिन्दुस्तान की सभी संस्थाओं को कैप्चर करने की कोशिश कर रहे हैं। चाहे न्याय व्यवस्था हो, सीबीआई हो या इलेक्शन कमीशन हो। उन्होंने प्लानिंग कमीशन का तो नेचर ही बदल दिया। इस तरह भारत की हर संस्था पर अटेक हो रहा है।
राहुल गांधी ने कहा कि जो काम भाजपा को करना चाहिए, वह काम नहीं कर रही है। नरेन्द्र मोदी ने रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया और सीबीआई के जिए गर्वनर और डाॅयरेक्टर को स्वयं चुना। उन्होंने ही कह दिया कि हम प्रधानमंत्री की बात नहीं मानेंगे, क्योंकि वे हमारी संस्था को कैप्चर कर रहे हैं। श्री गांधी ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी के बाद छोटे-छोटे उद्योग धंधे और छोटे व्यापारी नष्ट हो गये। छोटे व्यापारी ईमानदार होते हैं। हिन्दुस्तान के करोड़ों व्यापारी ईमानदार हैं। पूरी कौम को एक दो व्यक्तियांे से नहीं आंकना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारा सिस्टम दूसरों की बात सुनने का है, जबकि मोदी जी का सिस्टम सिर्फ कहने का है।
गांधी ने कहा कि जीएसटी को बदले बिना काम नहीं चलेगा। हम गब्बरसिंह टैक्स को वास्तविक जीएसटी में बदलेंगे। जीएसटी का मतलब है वन लेविल टैक्स। अभी पांच तरह के जीएसटी लग रहे हैं। जो आम आदमी के रोजमर्रा की जरूरतें हैं, उन छोटी-छोटी वस्तुओं को हम जीएसटी से निकाल देंगे। उसे सरल बनायेंगे। इसके लिए हम भाजपा सरकार के पास गये थे, हमने कहा कि जीएसटी सिम्पल होना चाहिए और एक होना चाहिए, लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं मानी।
प्रदेश में व्यापमं घोटाला, खनन घोटाला, ई-टेंडरिंग घोटाले से संबंधित प्रश्नों के जबाव में श्री राहुल गांधी ने कहा कि जिसने गलती की है, उस पर कार्यवाही होगी और उसे दण्ड जरूर मिलेगा। हम यह कार्यवाही ईष्र्या, बदले और गुस्से के साथ नहीं करना चाहते। जनता को न्याय मिलेगा। उन्होंने कहा कि सबके पास कोई न कोई हुनर होता है और हमें उस हुनर का आदर करना चाहिए। हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी समस्या यही है कि हम ज्ञान का आदर नहीं करते हैं। इस संदर्भ मंे उन्हांेने एक किस्सा सुनाते हुए कहा कि ‘‘जब मछलीमार नाविक एक सूट बूट पहने व्यक्ति को नदी पार करा रहा था तो उस व्यक्ति ने नाविक से पूछा क्या तुमको गणित आती है, तुमने हिस्ट्री पढ़ी है? नाविक ने जबाव दिया कि नहीं आती और हमें इससे कोई मतलब नहीं है। तब उसने कहा कि अरे तुम्हंे तो कुछ नहीं आता, इतने में नदी का पानी बढ़ने लगा, तब नाविक ने उस व्यक्ति से पूछा क्या तुम्हें तैरना आता है, हमें तो आता है।’’
गांधी ने कहा कि कांगे्रस के मेनिफेस्टो में जो वादा किया जायेगा, वह पूरा जरूर होगा। जो भी मुख्यमंत्री बनेगा, उसकी प्रतिबद्धता चुनाव घोषणा पत्र के प्रति पूरी तरह रहेगी। रेत उत्खनन के संबंध में पूछे गये एक सवाल पर कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने उसका जबाव दिया। उन्होंने कहा कि राहुल जी के निर्देश पर हम नई रेत नीति लायेंगे। रेत किसी की निजी संपत्ति नहीं है। यह संपत्ति लोगों की है। स्थानीय लोगों को कैसे जोड़ा जाये, इसकी व्यवस्था हम नई रेत नीति में करेंगे। इसीलिये मैंने घोषणा पत्र का नाम ‘‘संकल्प पत्र’’ रखा है। उन्होंने यह भी कहा कि कांगे्रस की सरकार आने पर हम जन आयोग बनायेंगे, जिनमंे पत्रकारों, विभिन्न क्षेत्रों के विद्वानों, जजों और वकीलांे को रखा जायेगा।
एक अन्य प्रश्न का जबाव देने के लिये राहुल जी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को आगे किया। श्री सिंधिया ने कहा कि दवाई और रेत के धंधों मंे भाजपा की मोनोपाॅली है। प्रदेश के स्कूलों में शिक्षक इसलिये नहीं हंै, क्योंकि महिलाओं, नौजवानों के लिये शिवराजसिंह ने शिक्षा के द्वार को ही बंद कर दिया। अस्पतालों के भवन हैं, तो वहां डाॅक्टर नहीं हैं। गांवों में तो अस्पताल ही नहीं हैं। हर व्यक्ति परेशान हैं। ये चुनाव कांगे्रस के भविष्य का नहीं, साढ़े सात करोड़ जनता के भविष्य का चुनाव है।
एक दवा व्यवसायी मोहम्मद हुसैन पीठावाला ने श्री राहुल गांधी से कहा कि केंद्र सरकार की दवा नीति के कारण वर्तमान में भारत का पूरा दवा व्यवसाय और साढ़े आठ लाख केमिस्ट रोजगार से जूझते आ रहे हैं। आगे चलकर दवा व्यवसाय समाप्त हो जायेगा। इसका असर पूरे भारत की जनता के स्वास्थ्य पर पड़ेेगा। उनकी बात सुनकर राहुल ने कहा कि हमें जानने की रूचि है और इस विषय पर आप दिल्ली आकर मुझे विस्तार से बतायें और सुझाव दें।
प्रदेश में कार्यरत अतिथि विद्वान की समस्याओं पर उन्होंने प्रश्नकर्ता अतिथि विद्वान से पूछा कि 15 वर्षों से आप यह कार्य कर रहे हैं तो इस रूप में कैसा महसूस कर रहे हैं? अतिथि विद्वान ने जबाव दिया कि अपने और अपने परिवार को असुरक्षित महसूस करता हूं। इस पर श्री गांधी ने कहा कि कांगे्रस सरकार बनने पर यही असुरक्षा मिटाने की कोशिश करेगी। इसके बाद कमलनाथ ने कहा कि हमें अतिथि और संविदा की प्रथा पर विश्वास नहीं है। हम घोषणा पत्र नहीं न्याय और सम्मान का वचन पत्र बनायेंगे। कुछ दिन रूक जाईये अतिथि विद्वानों को शिकायत नहीं होगी।

अन्य प्रोफेशनल्स ने भी टेक्स के बारे में चर्चा करते हुए बताया कि करोड़ों छोटे व्यापारी जीएसटी में रजिस्टर्ड हैं, व्यापारी बैचेन हो गया है, पैनाल्टी पर पैनाल्टी लग रही है। नोटबंदी ने कैश-लैश और जीएसटी ने छोटे व्यापारियों बेस-लेस कर दिया है। रेत व्यापारी एसोसिएशन के मनीष अजमेरा, व्यापारी गोविंद अग्रवाल, प्रो. डाॅ. रचना गुप्ता, डाॅक्टरों, वकीलों आदि ने भी अपनी-अपनी समस्यायें राहुल जी को बतायीं।

पूरा प्रदेश जानता है कि व्यापमं में शिवराजसिंह व उनके परिवार का हाथ : राहुल गांधी

अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने खरगोन में आयोजित विशाल सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कल मुख्यमंत्री शिवराजसिंह को बड़ा गुस्सा आ रहा था। पूरा मध्यप्रदेश जानता है कि व्यापमं कांड में मुख्यमंत्री और उनके परिवार का हाथ है, वे कहते हैं कि राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना का केस लगायेंगे। मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। मगर वे सच्चाई से बच नहीं सकते। व्यापमं में निर्दोषों को जेल में डाला, ई-टेडरिंग में घोटाला किया। यह सच्चाई है कि गरीब, दलित, आदिवासी को शिक्षा चाहिए तो जेब से पैसा निकालकर देना पड़ता है। सच्चाई नहीं मिटायी जा सकती। अब शिवराजसिंह को सच्चाई तो कुछ दिनांे में ही चुनाव के बाद पता चल जायेगी। मध्यप्रदेश की जनता किसानों, युवाओं, दलितों, आदिवासियों, महिलाओं और छोटे दुकानदारों की सरकार चाहती है।
श्री राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी बोलते हैं कि 70 साल में कुछ नहीं हुआ। लाल किले से उन्होंने कहा था कि मेरे प्रधानमंत्री बनने से पहले हाथी सो रहा था। यानि आपके माता-पिता, दादा-दादी, नाना-नानी सब सो रहे थे। उन्होंने देश के लिए कुछ नहीं किया। जान की कुर्बानी देने वाले सब सैनिक सो रहे थे। मोदी जी के आने से पहले हरित क्रांति और श्वेत क्रांति नहीं हुई। उनके आने से पहले अग्रेजों से जनता ने लड़ाई नहीं लड़ी। कहते हैं मेरे प्रधानमंत्री बनने से पहले कुछ नहीं हुआ। ऐसा कहकर उन्होंने देश की जनता का अनादर किया है।
श्री गांधी ने कहा कि भाजपा हिन्दू धर्म की बात करती है। हिन्दू धर्म का मतलब सच्चाई है। हिन्दू धर्म के अंदर नफरत और हिंसा कहीं भी नहीं है। हिन्दू धर्म में दूसरांे का आदर और सम्मान करना सिखाया जाता है और प्रधानमंत्री इस देश की जनता का अपमान करते हुए कहता है कि मेरे आने से पहले कुछ नहीं हुआ। ऐसा कहकर वे देश की जनता, देश की शक्ति और देश के इतिहास पर उंगली उठाते हैं। मध्यप्रदेश में अब जो सरकार बनेगी, उसमें सिर्फ जनता की आवाज सुनाई देगी। मैं झूठ नहीं बोलता। जो हम कह देंगे, जो मेनिफेस्टो में डाल देंगे, उसे करके दिखायेंगे।
श्री गांधी ने कहा कि मध्यप्रदेश के हर क्षेत्र में कुछ न कुछ पैदा होता है। हर जगह अलग-अलग स्ट्रेन्थ है। यहां जो ज्ञान है, जो वस्तु बनाते हैं और जो फसल लगाते हैं, उनके उत्पादों को हम पूरी दुनिया से जोड़ेंगे। इसमें विज़न की जरूरत है। हैदराबाद और बैंगलोर ऐसे ही नहीं बन गये हैं, उन्हें बनाया गया है और आज दोनांे शहर दुनिया से जुड़ गये हैं। इसी तरह मध्यप्रदेश भी दुनिया का एक फूड प्रोसेसिंग सेंटर बन सकता है। पूरी दुनिया में यहां का माल जा सकता है। बस हमारी सोच सही होना चाहिए। लेकिन भाजपा की सोच व्यापमं है, ई-टेंडरिंग घोटाला है, रेतमाफिया है। यह फर्क है, उनमें और हममे। हम आपके लिये काम करना चाहते हैं और यहां झूठ बोलने नहीं आये हैं।
श्री गांधी ने नोटबंदी, राॅफेल घोटाला, भाजपा द्वारा युवाओं को दो करोड़ रोजगार देने का छलावा, बडे़ उद्योगपतियों की लोन माफी, किसानों को सही दाम न मिलना आदि चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि पहले कांगे्रस के समय किसानांे को न्यूनतम समर्थन मूल्य अपने आप मिल जाता था, अब भाजपा सरकार में उन्हें मांगना पड़ता है। शिवराजसिंह चैहान और नरेन्द्र मोदी कहते हैं कि किसानों का कर्ज माफ करना हमारी नीति नहीं है। लेकिन बड़े लोगों के साढ़े तीन लाख करोड़ रूपये एक बार में माफ कर दिये। नरेन्द्र मोदी ने अच्छे दिन आयेंगे का ऐसा जादू किया कि सब कहने लग गये ‘‘चैकीदार चोर है।’’
श्री राहुल गांधी ने कहा कि इंदिरा जी, राजीव जी और सोनिया जी के दिल में यदि एक बड़ी जगह थी, और है, तो वह है आदिवासियों के लिए। आदिवासियों के साथ इंदिराजी का रिश्ता पूरी दुनिया जानती है। सब जानते हैं कि जब इंदिरा गांधी निर्णय लेती थीं तो सबसे पहले कमजोर से कमजोर व्यक्तियों, आदिवासियों, दलितों, किसानों और मजदूरों के बारे में सोचकर निर्णय लेती थीं। यदि यहां सिंचाई का काम किया है तो इसमें इंदिरा जी का भी बड़ा योगदान है।
प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि आप लोग 15 साल लूट और झूठ की सरकार के शिकार बने हैं। अब बदलाव का समय आ गया है। खरगोन, खंडवा, बड़वानी के मतदाता भोले-भाले जरूर हैं, लेकिन वे समझदार भी हैं। वे 28 तारीख को बटन दबावकर जो फैसला करेंगे वह नौजवानों, माता-बहनों, किसानों और मजदूरों के भविष्य का फैसला होगा। यह प्रदेश कलाकारी और ध्यान मोड़ने की राजनीति का शिकार हुआ है। उन्होंने कहा कि जनता के नहीं, भाजपा नेताओं के अच्छे दिन आये हैं। आज वे महंगी और बड़ी-बड़ी कारों में घूमते हैं। तस्वीर आपके सामने है। सही बटन दबाईये जिससे आने वाली पीढ़ी का भविष्य सुरक्षित हो।
सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कांगे्रस ने खरगोन और निमाड़ की धरती पर सदैव किसानों की लड़ाई का परचम लहराया है। श्री राहुल गांधी यही परचम लेकर जन-जन की लड़ाई लड़ रहे हैं। अगली 28 तारीख बदलाव की आंधी लेकर आयेगी और हम सब मिलकर भाजपा को रवाना करेंगे। नर्मदा मैया के नाम पर भाजपाईयों ने जितना भ्रष्टाचार किया है, उसे इस क्षेत्र की जनता 28 नवंबर को ब्याज सहित वसूलेगी। जन-जन की सरकार बनेगी ‘‘आपका हाथ-राहुल जी के साथ’’ और ‘‘भाजपा का सूपड़ा साफ।’’
इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह, अरूण यादव, विजय लक्ष्मी साधौ, संजय कपूर, बाला बच्चन, सचिन यादव, केशवचंद यादव, ताराचंद पटेल, रमेश पटेल, झूमा सोलंकी, विजय सोलंकी, कमला रावत आदि उपस्थित थे। मोर्चा संगठनों के पदाधिकारी, कांगे्रस कार्यकर्ता, आदिवासियों का विशाल जनसमूह और आसपास से आये आम नागरिकों का जनसैलाव श्री राहुल गांधी को सुनने उमड़ा था।

आज अंबेडकर के बनाये संविधान पर भाजपा और आरएसएस हमला कर रहे हैं

अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने महू की विशाल जनसभा में कहा कि यह अंबेडकर की जमीन है। वे बाबा साहेब अम्बेडकर जिन्होंने अपनी जिंदगी, पूरा दम और दिल संविधान बनाने मंे लगाया था। यदि हिन्दुस्तान के पास शानदार संविधान है तो वह अंबेडकर जी की ही देन है।
श्री गांधी ने कहा कि आज इस संविधान पर आक्रमण हो रहा है। सुप्रीम कोर्ट के जज कहते हैं कि हमें काम नहीं देते हैं। भाजपा के एमएलए जब बलात्कार करते हैं, तब प्रधानमंत्री एक शब्द नहीं बोलते। रोहित वेमुला को शिक्षा मंत्रालय से पत्र मिलता है और उसे परेशान किया जाता है। यह इन लोगों पर हमला नहीं है, बल्कि हमारे संविधान पर हमला है। यह सब हमले भाजपा और आरएसएस मिलकर कर रहे हैं। कांगे्रस की सरकार बनने पर हम सब मिलकर संविधान की रक्षा करंेगे और इस संविधान को कोई छू भी नहीं पायेगा।
श्री राहुल गांधी ने कहा कि मध्यप्रदेश में भाजपा के मुख्यमंत्री उनके दस-बारह अधिकारी और चंद नेता ही मजे में हैं। बाकी महिला, किसान, बच्चे और युवा दुखी हैं। कहा था अच्छे दिन आयेंगे। सूट बूट और झूठ की सरकार बनी, अब लूट की सरकार बन गयी है। जनता ने कहा चैकीदार चोर है। छत्तीसगढ़ का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि एक महिला को प्रधानमंत्री के सामने सिखा-पढ़ा कर लाये तो मोदी जी ने उससे पूछा तुम्हारी आय कितनी है? महिला ने कहा कि दोगुनी हो गयी है। बाद में जब एक पत्रकार ने उससे पूछा तो महिला ने कहा कि आय आधी हो गई है। यह सच्चाई पत्रकार ने अखबार में छाप दी और दूसरे दिन मालिक ने उसे नौकरी से चलता कर दिया।
श्री गांधी ने पत्रकारों से कहा कि जिस तरह सेना बार्डर पर रक्षा करती है, वैसे ही आपका काम सच्चाई की रक्षा करना है। कभी-कभी हमारे बारे में भी लिखा जाता है। लेकिन आप जैसे लोगों को सच्चाई के बारे में लिखना है। आज भाजपा ने दो हिन्दुस्तान बना दिये हैं, एक में अरबपति रहते हैं और दूसरा हिन्दुस्तान मजदूरों, किसानों, छोटे व्यापारियों, गरीबों, कुपोषित बच्चों, बेरोजगारों, पीड़ित महिलाओं, दलितों और आदिवासियों का है। हमें दो नहीं एक हिन्दुस्तान चाहिए।
श्री राहुल गांधी ने राॅफेल घोटाले, नोटबंदी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, किसानों की कर्जमाफी को लेकर कहा कि दो धाराओं के बीच लड़ाई है। बस कुछ दिन ओर बचे हैं, अब आपकी सरकार आने वाली हैं। कांगे्रस सरकार के दरवाजे जनता और कार्यकर्ताओं के लिए हमेशा खुले रहंेगे, क्योंकि हम आपके मन की बात सुनकर आपके लिये काम करना चाहते हैं।
प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि चुनाव प्रजातंत्र का उत्सव होता है। हर चुनाव के अपने मायने होते हैं। अठ्ठाईस नवम्बर को होने वाले चुनाव के मायनों का फैसला आप करेंगे। यह फैसला केवल कांगे्रस के उम्मीदवार का फैसला नहीं, बल्कि लूट और झूठ की सरकार के शिकार हर वर्ग की सुरक्षा का फैसला होगा। महू मंे केन्टोन्मेंट के कारण फायर रेंज में किसान खेती नहीं कर पाते। सरकार बनने पर हम कुछ उपाय निकालेंगे। या तो किसानों की जमीन अधिग्रहित की जाये, या उन्हें मुआवजा दिया जाये।
सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जिस भूमि पर बाबा साहेब अम्बेडकर का जन्म हुआ वहां से अब एक नयी आवाज उठेगी। आज आप सभी 15 साल की भ्रष्टाचारी सरकार को उखाड़ फेकने का संकल्प लें। किसान को भगवान और अपने को उनका पुजारी कहने वाले शिवराजसिंह चैहान कलयुगी मुख्यमंत्री है, जिसे भगवान कहते हैं, उसकी ही छाती पर गोली चलवाते हैं।
प्रारंभ में श्री राहुल गांधी ने बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्मस्थली में स्थापित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें अपनी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह, संजय कपूर, जुबेर खान, सज्जनसिंह वर्मा, जीतू पटवारी, केशवचंद यादव, चंद्रप्रभाष शेखर, प्रेमचंद गुड्डू, सदाशिव यादव, योगेश यादव, अर्चना जायसवाल, तुलसीराम सिलावट, रामेश्वर पटेल, कैलाश दत्त पांडे, अंतरसिंह दरबार सहित स्थानीय एवं आसपास की जनता का जनसैलाव एकत्रित था।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अमेरिका के आगे झुका पाकिस्तान, अफगानिस्तान में हमलों के लिए देगा एयरस्पेस

नई दिल्ली 23 अक्टूबर 2021 । जो बाइडेन प्रशासन ने कहा है कि अमेरिका अफगानिस्तान …