मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> कांग्रेस में भी नहीं गली सिद्धू की दाल? अध्यक्ष पद से इस्तीफे को स्वीकार कर सकती है पार्टी

कांग्रेस में भी नहीं गली सिद्धू की दाल? अध्यक्ष पद से इस्तीफे को स्वीकार कर सकती है पार्टी

नई दिल्ली 12 अक्टूबर 2021 । नवजोत सिंह सिद्धू ने हाल ही में पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, उनकी इस पेशकश पर कांग्रेस आलाकमान ने अंतिम फैसला नहीं लिया है। अब खबर आ रही है कि पार्टी सिद्धू के इस्तीफे को मंजूर कर सकती है। सिद्धू के मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी सहित अपने सहयोगियों के साथ निरंतर बिगड़ते संबंधों के कारण पार्टी जल्द ही नए प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा कर सकती है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों का कहना है कि पार्टी उस इस्तीफे को स्वीकार कर सकती है जो सिद्धू ने कुछ दिन पहले दिया था। आपको बता दें कि उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इसकी घोषणा की थी। पार्टी ने उनके सार्वजनिक इस्तीफे और बार-बार की गई टिप्पणियों को लेकर किसी तरह की दया नहीं दिखाई है।

एक सूत्र ने कहा, “सिद्धू द्वारा दिया गया इस्तीफा स्वीकार किया जा सकता है। पार्टी संभावित उम्मीदवारों की तलाश कर रही है। हालांकि, यह अभी भी एक खुला मुद्दा है।”

यदि कांग्रेस वास्तव में सिद्धू को पंजाब के अध्यक्ष के रूप में हटा देती है, तो यह पिछले कुछ महीनों में राज्य की राजनीतिक घटनाओं में एक नया मोड़ होगा। आपको बता दें कि सिद्धू से लगातार मतभेद के कारण ही तत्कालीन सीएम अमरिंदर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने सिद्धू को लेकर कई गंभीर आरोप भी लगाए। यदि सिद्धू को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया जाता है तो सभी की निगाहें उनके अगले कदम पर होंगी। उनके पास अभी भी कांग्रेस के बाहर विकल्प हैं। उन्होंने अपने त्याग पत्र में लिखा था कि वह पार्टी के लिए काम करना जारी रखेंगे। बाद में एक ट्वीट में कांग्रेस के प्रति अपनी वफादारी की भी पुष्टि की थी। उन्होंने प्रियंका गांधी की यूपी में लखीमपुर खीरी हिंसा पर उनके जुझारू रुख के लिए भी सराहना की। सिद्धू ने पार्टी विधायकों और मंत्रियों के साथ खीरी तक एक मार्च का नेतृत्व किया, जिसने एक प्रभाव पैदा किया है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …