मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> नहीं माना बेशर्म पाकिस्तान, LoC पर फायरिंग का सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

नहीं माना बेशर्म पाकिस्तान, LoC पर फायरिंग का सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

नई दिल्ली 17 फरवरी 2019 । जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को हुए ब्लास्ट में शहीद 40 जवानों की चिता की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई है कि घाटी में एक और ब्लास्ट की खबर सामने आ गई है. यह ब्लास्ट राजौरी के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा (LoC) के पास हुआ है, जिसमें एक मेजर शहीद हो गए हैं और एक जवान के घायल होने की भी सूचना है. वहीं, पाकिस्तान ने एक बार फिर अपनी बेशर्मी दिखाई है. पाक की सेना ने शनिवार शाम अंतरराष्ट्रीय सीमा के सटे राजौरी में फिर से सीजफायर का उल्लंघन किया है. पाकिस्तान की तरफ से हो रही इस गोलीबारी में एक जवान के घायल होने की खबर है. हालांकि, भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तानी गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है.

जानकारी के मुताबिक नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा से 1.5 किलोमीटर अंदर आतंकियों ने इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) लगाया था. सेना की तलाशी अभियान के दौरान इस बात की जानकारी मिली कि वहां पर IED लगाई गई है. इसके बाद सेना सतर्क हो गई. लेकिन IED डिफ्यूज करते समय ही ब्लास्ट हो गया जिसमें एक मेजर शहीद हो गए, वहीं एक जवान भी घायल हुआ है. शहीद होने वाले मेजर इंजिनियरिंग कॉप से थे.

बता दें कि गुरुवार को ही घाटी के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने आत्मघाती हमला किया था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. दरअसल, आतंकी ने RDX से भरी गाड़ी के साथ सीआरपीएफ के काफिले में टक्कर मार दी जिसके बाद एक बड़ा धमाका हुआ और 40 जवान हमेशा के लिए साथ छोड़कर चले गए.

श्रीनगर स्थित सीआरपीएफ कैंप के एक जवान (जो काफिले में शामिल थे) ने आजतक को बताया कि सीआरपीएफ के काफिले पर पहले पत्थरबाजी हुई और उसके 10 मिनट बाद धमाका हुआ. जवानों की शहादत के बाद पूरे देश में पाकिस्तान और आतंकी संगठन के खिलाफ गुस्सा है. देश के कोने-कोने में लोगों ने जुलूस और कैंडल मार्च निकाला गया. 40 शहीदों को आखिरी विदाई और श्रद्धांजलि देने के लिए शहर दर शहर लोगों की भीड़ उमड़ी है. लोग गम में हैं. ऐसा गम में जो गुस्सा बनकर वैसे हर किसी को नेस्तनाबूद करने का माद्दा रखता है जिन्होंने नापाक साजिशों को अंजाम दिया है.

सीआरपीएफ ने कहा कि जवानों की शहादत को ना भूलेंगे, ना माफ करेंगे, ना ही छोडेंगे. एक-एक जवान की शहादत का बदला लिया जायेगा. वहीं, देश की भावनाओं को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने भी कहा है कि शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. सेना को खुली छूट है. वो समय, स्थान खुद तय करें. उन्होंने कहा कि शहीदों के परिवारों के हर आंसू का बदला लिया जाएगा. पीएम ने कहा कि हम पहले छेड़ते नहीं और नए भारत को छेड़ने वालों को छोड़ते भी नहीं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना की तीसरी लहर आई तो बच्चों को कैसे दें सुरक्षा कवच

नई दिल्ली 12 मई 2021 । भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार …