मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> अब अफगानिस्तान ने दिया पाक को झटका, UNSC में की शिकायत

अब अफगानिस्तान ने दिया पाक को झटका, UNSC में की शिकायत

नई दिल्ली 28 अगस्त 2019 । भारत (India) पर दबाव बनाने और कश्मीर (Kashmir) को अंतरराष्ट्रीय मसला बनाने की कोशिश में नाकाम होने के बाद अब पाकिस्तान (Pakistan) आखिरी कदम के तौर पर भारत के लिए अपने एयरस्पेस (Airspace) को बंद करने की धमकी दे रहा है.

पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन (Ch Fawad Hussain) ने अपने ट्विटर (Twitter) के जरिए धमकी के लहजे में कहा कि पाकिस्तान, भारत के लिए अपने एयरस्पेस को पूरी तरह से बंद करने पर विचार कर रहा है.

फवाद हुसैन ने लिखा, ‘मोदी ने शुरू किया है, हम खत्म करेंगे’
पाकिस्तानी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने धमकी के लहजे में एक ट्वीट किया है. इस ट्वीट में लिखा गया है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री भारत के लिए पाकिस्तानी एयरस्पेस (Pakistani Airspace) को पूरी तरह से बंद किए जाने के मसले पर विचार कर रहे हैं. उन्होंने यह भी लिखा कि पाकिस्तानी सरकार की कैबिनेट मीटिंग में अफगानिस्तान के साथ जमीन के रास्ते होने वाले भारतीय व्यापार पर भी पाकिस्तान ने पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है. इन फैसलों को लागू किए जाने के लिए कानूनी औपचारिकताओं पर काम किया जा रहा है. इतना ही नहीं अपनी बचकानी धमकी के बाद चौधरी फवाद हुसैन ने यह भी लिखा है कि मोदी ने शुरू किया है, हम खत्म करेंगे.

पाकिस्तान के खिलाफ UNSC गया अफगानिस्तान
वहीं पाकिस्तान को एक और झटका देते हुए अफगानिस्तान (Afghanistan) ने पाकिस्तानी सीमा की ओर से जारी लगातार बमबारी के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अपील की है. 22 अगस्त को की गई इस शिकायत में कहा गया है कि कई द्विपक्षीय प्रयासों के बावजूद, पाकिस्तानी सेना बार-बार अफगान क्षेत्र में घुसने का प्रयास करती रही है.

अफगानिस्तान ने अपनी शिकायत में कहा है कि पाकिस्तान सेना की ओर से किए गए ऐसे ही उल्लंघन में 19 और 20 अगस्त को 200 रॉकेट अफगानिस्तान में दागे थे. इसमें कहा गया है कि इन हमलों में अफगानिस्तान में घरों को नुकसान हुआ है और स्थानीय जनता को दूसरी जगहों पर भेजा गया है, जिसे पाकिस्तान के इस उल्लंघन से बहुत नुकसान हुआ है.

कश्मीर के हालात पर सरकारी सूत्रों का बड़ा खुलासा- हिरासत में 40 नेता और 1000 से ज्यादा पत्थरबाज

जम्मू कश्मीर: सरकारी सूत्रों से जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) की स्थिति पर अहम जानकारी मिली है. 40 नेताओं और 1000 से ज्यादा पत्थरबाजों को हिरासत में लिया गया है. बीते 24 दिनों में जम्मू कश्मीर के 2 पूर्व मुख्यमंत्रियों को घर में नजरबंद किया गया है और उनके पास पहुंचने के लिए उनके परिवार के किसी सदस्य या केंद्र द्वारा कोई प्रयास नहीं किया गया. बीते हफ्ते के आखिर में आईबी के डायरेक्टर अरविंद कुमार और कई अधिकारी कश्मीर में थे. कुमार ने एजेंसियों की कई शाखाओं के साथ अंतरम बैठक की थी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ( Ajit Doval) द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार प्रतिक्रिया ली. महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) की बेटी इल्तिजा मुफ्ती, जिन्होंने गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को पत्र लिखा था, वह भी राज्य छोड़ चुकी हैं.

इस बीच लगभग चार सप्ताह तक विभिन्न स्थानों पर 40 से अधिक मुख्यधारा और राज्य के नेताओं को हिरासत में लिया गया है. 6 लोगों को जम्मू में हिरासत में लिया गया और बाकी को घाटी में हिरासत में लिया गया है. जम्मू में मोदी सरकार में मंत्री जितेंद्र सिंह के भाई को भी घर में नजरबंद किया गया है.

महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला सरकार के 70 साल से कम उम्र के सभी कैबिनेट मंत्री भी अपने घरों में नजरबंद हैं. कई राजनेता सेंटौर होटल में रुके हैं. कुछ नेताओं के परिजन उनसे मिलने के लिए आए लेकिन उन्हें सभी जरूरी कागजात दिखाने के बाद ही मिलने दिया गया. लेकिन दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों के परिवार से कोई मिलने नहीं आया.

उमर अब्दुल्ला हरि निवास पैलेस में हैं और महबूबा मुफ्ती चश्मे शाही में हैं. लेकिन चिंता की बात ये है कि भारत सरकार के पास कोई रोडमैप नहीं है कि कैसे और कब इन नेताओं को रिहा किया जाएगा और उनकी नजरबंदी खत्म होगी. केंद्र ने इस मुद्दे को राज्य प्रशासन पर डाल दिया है. ग्राउंड पर मौजूद अधिकारियों ने साफ तौर पर कह दिया है कि इन नेताओं की नजरबंदी खत्म होने में लंबा समय है.

विपक्ष के नेता मोहम्मद युसुफ तारीगमी को भी उनके घर में नजरबंद किया गया है. राज्य में 1100 से ज्यादा पत्थरबाजों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें से 150 लोगों पर निवारक सुरक्षा अधिनियम और बाकी पर अलग कानूनों के तहत मामला दर्ज किया गया है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …