मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> अब मन्दिरों के आसपास से भी हटेगा अतिक्रमण

अब मन्दिरों के आसपास से भी हटेगा अतिक्रमण

उज्जैन 5 जनवरी 2020 । कलेक्टर श्री शशांक मिश्र ने उज्जैन शहर के एसडीएम एवं नगर निगम को निर्देशित किया है कि शहर के सभी मन्दिरों के आसपास के अतिक्रमण हटाये जायें।

दुकानों के बाहर निकले हुए शेड एवं सड़क पर लगाई गई कुर्सियां भी हटाई जायें। कलेक्टर ने स्पष्ट रूप से कहा है कि मन्दिरों के आसपास साफ-सफाई एवं स्वच्छता सुनिश्चित की जायेगी।

कलेक्टर ने उज्जैन शहर के विभिन्न मन्दिरों की प्रबंध समिति के प्रबंधकों एवं पुजारियों के साथ मेला कार्यालय में बैठक लेकर दर्शन एवं अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा की। बैठक में अपर कलेक्टर श्री क्षितिज सिंघल, नगर निगम आयुक्त श्री ऋषि गर्ग, अपर कलेक्टर श्रीमती बिदिशा मुखर्जी, श्री जीएस डाबर, एडीएम श्री आरपी तिवारी, पूर्व विधायक श्री राजेन्द्र भारती एवं मन्दिर प्रबंध समितियों के पुजारी एवं प्रबंधक मौजूद थे।
बैठक में बताया गया कि विभिन्न मन्दिरों में दुकानदारों द्वारा सामग्री मनमाने दामों पर बेची जाती है। दुकानदारों की ऑटो रिक्शा वालों से सांठगांठ रहती है और बाहर से आने वाले दर्शनार्थियों को ठगा जाता है।

कलेक्टर ने सभी मन्दिरों में पूजन सामग्री, खाद्य सामग्री की रेटलिस्ट लगाने, दुकानों को व्यवस्थित करने तथा शिकायत होने पर एक हेल्पलाइन नम्बर तैयार कर उसको डिस्प्ले करने के निर्देश दिये हैं।
कलेक्टर ने कहा है कि ये सभी व्यवस्थाएं 15 दिन में हो जाना चाहिये। कलेक्टर ने इसी के साथ शहर के धार्मिक स्थलों के लिये ऑटो रिक्शाओं के एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के रेट तय करके इनकी सूची सभी मन्दिर परिसरों में डिस्प्ले करने के निर्देश क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को दिये हैं।

गरीब दिव्यांग के लिए उज्जैन नगर निगम कमिश्नर सचमुच बने ऋषि
देवास गेट पर एक गरीब दिव्यांग अमर सिंह पिता चरण सिंह ग्राम बलवा थाना मक्सी जिला उज्जैन उम्र करीब 75 वर्ष दोनो हाथों से घिसट कर चलने को मजबूर था। यह द्रवित दृश्य जब उज्जैन नगर निगम कमिश्नर ऋषि कुमार गर्ग ने देखा तो त्वरित निर्णय लेते हुए, नगर निगम के रेन बसेरे में गरीब दिव्यांग को स्थायी तौर पर रहने की व्यवस्था की। दोनो समय भोजन भी वही पर करने के लिए निगम अधिकारियों को निर्देशित किया। साथ ही दिव्यांग अमर सिंह को ट्रायसिकल भी तुरन्त मुहैय्या कराई गई। ये सब सुविधाओं की सौगात पाकर दिव्यांग अमर सिंह को निगमायुक्त के रूप में सचमुच जैसे कोई ऋषि मिल गया हो।
कंपकपाती भीषण ठंड में जिस तरह से दिव्यांग अमर सिंह को न सिर्फ स्थाई तोर पर छत मिल गई बल्कि दो वक्त का भोजन और चलने फिरने के लिए ट्रायसिकल मिलना किसी नई जिंदगी से कम नही है।। निगमायुक्त ऋषि गर्ग के आदेश पर अपर आयुक्त मनोज पाठक समेत तमाम जिम्मेदारो ने इस अतिमहत्वपूर्ण कार्य को त्वरित क्रियान्वित किया।।
देवासगेट पर निगमायुक्त ऋषि गर्ग की इस पहल को जिसने भी देखा सुना उन्होंने इस कार्य की सराहना की।।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Skepticism And Vaccine Hesitancy For Precaution dose Among People : Dr Purohit

Bhopal 28.01.2022. Advisor for National Immunisation Programme Dr Naresh Purohit said that there exists vaccine …