मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> Omicron Variant से फिर बढ़ेंगी मुश्किलें, PM मोदी के बयान और इस स्कीम से मिले संकेत

Omicron Variant से फिर बढ़ेंगी मुश्किलें, PM मोदी के बयान और इस स्कीम से मिले संकेत

नई दिल्ली 29 नवंबर 2021 । संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन एक तरफ पीएम नरेंद्र मोदी ने सांसदों से सदन में शांति बनाए रखने की अपील की तो वहीं कोरोना के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron Variant) को लेकर सावधान रहने की भी अपील की। यही नहीं उन्होंने देशवासियों से भी अपील करते हुए कहा कि दुनिया में कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर चिंता जताई जा रही है। ऐसे में हमें सावधान रहने की जरूरत है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले सत्र के बाद कोरोना की विकट स्थिति में भी देश ने 100 करोड़ से ज्यादा कोरोना टीके लगाए हैं। इस दिशा में हम और तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के नए वैरिएंट की खबरें हमें और सतर्क रहने को कहती हैं। मैं सभी लोगों और अपने संसद के साथियों से आग्रह करता हूं कि वे सतर्क रहें। देश के 80 करोड़ से अधिक नागरिकों को कोरोना काल में और अधिक दिक्कत न हो, इसके लिए पीएम गरीब कल्याण अन्ना योजना के तहत मुफ्त राशन दिए जाने की योजना चल रही है। इस स्कीम को अब मार्च, 2022 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। एक तरफ पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मिलने वाले मुफ्त राशन की अवधि को अगले साल मार्च तक बढ़ाया जाना और अब पीएम नरेंद्र मोदी की इस अपील ने कोरोना के चलते नई आफत के संकेत दिए हैं। अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर केंद्र सरकार ने बढ़ा दी है सख्ती
बता दें कि केंद्र सरकार ने अफ्रीका, यूरोप समेत दुनिया के कई देशों में मिले ओमिक्रॉन कोरोना वैरिएंट के चलते अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की देश में एंट्री पर सख्ती बढ़ा दी है। इसके तहत भारत आने वाले यात्रियों को पिछले 14 दिनों की अपनी ट्रैवल हिस्ट्री के बारे में बताना होगा। इसके अलावा अपनी निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट भी एयर सुविधा पोर्टल पर अपलोड करनी होगी। तभी वे भारत की यात्रा कर पाएंगे। ओमिक्रॉन वैरिएंट के चलते दुनिया भर में एक बार फिर से हलचल मच गई है। जर्मनी, इजरायल, ब्रिटेन समेत कई देशों ने यात्रा पाबंदियां लागू करना शुरू कर दिया है। ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी की अपील, इंटरनेशनल यात्रियों के लिए ट्रैवल गाइडलाइंस और पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार से संकेत मिल रहे हैं कि संकट एक बार फिर से गहरा सकता है। बीते करीब 5 महीनों से कोरोना केसों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। ऐसे में अब एक बार फिर से संकट बढ़ता है तो यह देश के लिए बुरी खबर होगी, जो अर्थव्यवस्था, शिक्षा समेत तमाम मामलों में उबरने की कोशिश में लगा है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

नरेश पटेल की एंट्री के कयास ने लिखी हार्दिक पटेल के एग्जिट की पटकथा

नयी दिल्ली 18 मई 2022 । कांग्रेस से लंबे समय से नाराज चल रहे गुजरात …