मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> कोरोना के बीच सक्रिय है ऑनलाइन चोर- ऐसे कर रहे आपके खातों पर निगरानी

कोरोना के बीच सक्रिय है ऑनलाइन चोर- ऐसे कर रहे आपके खातों पर निगरानी

नई दिल्ली 10 अप्रैल 2020 । देश सहित पूरे विश्व में एक महामारी बन चुके कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण से बचने एवं उसके उपचार के लिए साइबर अपराधियो द्वारा लोगों के साथ दर्जनों नए-नए तरीके निकालकर धोखाधड़ी की जा रही है। कभी लिंक भेज कर तो कभी व्हाट्सएप फेसबुक सहित अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट का फायदा उठाकर लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा रहा है। ऐसे में जरूरत है कि लोग इन ठगों से सावधान रहें, साथ ही उन तरीकों के बारे में भी गहन अध्ययन करें, जिन तरीकों को यह साइबर ठग इस्तेमाल कर रहे हैं। इसी संबंध में आप लोगों तक जानकारी पहुंचाने के लिए हमने बात की साइबर/सर्विलांस सेल एक्सपर्ट से जिनके द्वारा हमें साइबर ठगों द्वारा उपयोग में लाए जा रहे नए-नए तरीकों के बारे में बताया गया। आइए हम आपसे भी उनके इन अनुभवों को साझा करते हैं ताकि भविष्य में आप ऐसे साइबर ठगों से सावधान रहें और अपने पैसे को सुरक्षित रख सकें।
साइबर सेल के अपने अनुभवों को साझा करते हुए बताया कि लोग अपने बैंक खातों में अपने पैसों को सुरक्षित रखने के लिए बहुत ही सावधानियां बरतते हैं परंतु छोटी-छोटी गलतियों से वह ठगी का शिकार हो जाते हैं तो ऐसे में जरूरत है कि हम उन छोटी-छोटी गलतियों के बारे में पहले से ही जानकारी कर लें। उन्होंने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए-
1- कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु सरकारी वेबसाइट्स से मिलता जुलता पेज बनाकर धोखाधड़ी की जा सकती है इससे बेहद सावधान रहने की जरूरत है।
2-फर्जी ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स बनाकर काफी ज्यादा डिस्काउंट पर फेस मास्क और सैनिटाइजर बेचने के नाम पर लोगों की बैंक डिटेल प्राप्त कर धोखाधड़ी हो सकती है।
3- अंशदान के नाम पर @pmcare की फर्जी UPI आईडी बनाकर पैसा स्थानातंरण संबंधी धोखाधड़ी हो सकती है।
4- WHO या हॉस्पिटल से बताकर लोगों को कॉल करके कोरोन संक्रमण किट उपलब्ध कराने के नाम पर धोखाधड़ी हो सकती है।
5- ऑनलाइन कोरोना वायरस संक्रमण से उपचार करने के नाम पर धोखाधड़ी हो सकती है।
6- आपदा प्रबंधन का फर्जी बैंक खाता संख्या सोशल मीडिया पर वायरल करके उसमें पैसा स्थानांतरण करने संबंधी धोखाधड़ी हो सकती है।
7- फेसबुक पर घर बैठे ऑनलाइन बिजनेस जैसे प्रचार करके लिंक भेजते हैं और सारा डिटेल भरने को कहते हैं जैसे ही डिटेल भरते हैं वैसे आपके खाते से पैसा उड़ जा रहे हैं।
8- व्हाट्सएप ऑफिस से बता कर कॉल करते हैं और लाटरी निकलने की बात कहकर सारी डिटेल प्राप्त कर खाते से पैसा उड़ा दे रहे हैं।
9- लकी ड्रा निकलने का झांसा देकर 100-200 रुपए फोन पर गूगल पर पर भेज कर एक लिंक ही साथ भेजते हैं जिस को टच करने को कहते हैं और पैसा उड़ा दे रहे हैं।
10- फेसबुक अकाउंट में मैसेंजर इंस्टॉल करके मैसेज भेज कर पैसा मांगते हैं।इसी के साथ साथ दर्जनों और भी तरीके ठग इस्तेमाल कर रहे हैं जिनमें फोन कर आपके रिश्तेदार बनकर, आपका दोस्त बनकर, किसी ऑफिस या सरकारी विभाग का सहारा लेकर आपको नौकरी देने का झांसा देकर, आपके किसी प्रीय के बारे में अप्रिय सूचना देकर, आपके एटीएम के बंद होने की बात कहकर, खाते को दोबारा एक्टिवेट करने की बात कहकर या आपके फोन नंबर के बंद होने की बात कहकर इसी के साथ आपको किसी भी मामले में भय दिखाकर, पुलिस का डर दिखाकर भी ठगी की जा सकती है।

कैसे बचें और तत्काल क्या करें-अगर आपके साथ ऐसा हो जाता है तो ऐसी स्थिति में आप तत्काल नजदीकी चौकी या थाने में सूचना अवश्य दें। इसके साथ ही साइबर सेल जो आपके जिले में एक्टिवेट है उसके अधिकारी से मिले या फिर जिले के आला अधिकारियों से भी आप अपनी समस्या बता सकते हैं। इसके साथ-साथ आप ऑनलाइन शिकायत भी कर सकते हैं। ठगी होने की स्थिति में आप सभी कानूनी प्रक्रियाओं को अपना सकते हैं परन्तु इन सबसे अच्छा है कि आप पूरी सावधानी रखें और खुद भी इन साइबर ठगों से सावधान रहें और अपने परिवार को भी इन साइबर ठगों से सावधान रखें। यही सबसे अच्छा और सबसे सुरक्षित तरीका है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब में अब जहरीली शराब बेचने वालों को मिलेगी सजा-ए-मौत

नई दिल्ली 3 मार्च 2021 । बीते साल पंजाब के अमृतसर, तरनतारन व गुरदासपुर जिले …