मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं : मोदी

हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं : मोदी

नई दिल्ली 24 फरवरी 2019 । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद देश के कुछ हिस्सों में कश्मीरियों पर हुए हमले को नामंजूर करते हुए शनिवार को कहा कि हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है , कश्मीरियों के खिलाफ नहीं है ।

प्रधानमंत्री ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा , ‘‘ हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है , कश्मीरियों के खिलाफ नहीं है । कश्मीरी बच्चों की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है। कश्मीर का बच्चा-बच्चा आतंकवादियों के खिलाफ है। हमें उसे अपने साथ रखना है।’’ उन्होंने कहा कि अमरनाथ की यात्रा करने लाखों श्रद्धालु जाते हैं, उनकी देखभाल कश्मीर का बच्चा करता है। अमरनाथ यात्रियों को जब गोली लगी तो कश्मीर के मुसलमान खून देने के लिए कतार लगाकर खड़े हो गए थे।

उन्होंने कहा कि “हमारी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है, कश्मीर के खिलाफ नहीं है। पिछले दिनों कश्मीरी बच्चों के साथ हिंदुस्तान के किसी कोने में क्या हुआ, क्या नहीं हुआ, घटना छोटी थी या बड़ी थी.. मुद्दा यह नहीं है। इस देश में यह होना नहीं चाहिए।

कश्मीर में जैसे हिदुस्तान के जवान शहीद होते हैं, वैसे ही कश्मीर के लाल भी इन आतंकवादियों की गोलियों से शहीद होते हैं। ऐसी हरकतें उन लोगों को ताकत देते हैं जो भारत तेरे टुकड़े होंगे गैंग को आशीर्वाद देने जाते हैं।” उन्होंने कहा , ‘‘ अगर हमें आतंकवाद को जड़ से उखाड़ना है तो गलती नहीं करनी है। ’’

मोदी ने कहा कि आम कश्मीरी भी आतंकवाद से मुक्ति चाहता है , लेकिन पहली सरकारों ने ऐसे बीज बोये की उनके सपने पूरे नहीं हुए।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री का यह बयान ऐसे समय में काफी महत्वपूर्ण है जब उच्चतम न्यायालय ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की जनहित याचिका पर केन्द्र और 11 राज्यों को नोटिस जारी किया था । शीर्ष अदालत ने कश्मीरियों और अन्य अल्पसंख्यकों पर हमले की स्थिति में तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। केंद्र ने शुक्रवार रात सभी राज्यों को जम्मू कश्मीर से संबंधित लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। पीडीपी , नेशनल कांफ्रेस सहित कुछ राजनीति दलों ने भी इस विषय को उठाया था ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी लड़ाई आतंकवाद और मानवता के दुश्मनों के खिलाफ है। अगर कश्मीरियों के सपने कोई पूरा करेगा तो यही नया हिंदुस्तान करेगा ।

मोदी ने कहा कि कश्मीर के पंच-सरपंचों ने मुझसे किया वादा निभाया है। मैंने उनसे कहा था कि जब आतंकवादी स्कूल जलाता है तब वह इमारत नहीं जलाता है, आपके बच्चों का भविष्य जलाता है।

उन्होंने कहा, ‘‘ आज मैं गर्व के साथ कहता हूं कि कश्मीर घाटी के मेरे पंच-सरपंचों ने एक भी स्कूल जलने नहीं दिया । ’’

सुरक्षाबलों की बड़ी कार्रवाई के बीच सरकार ने अर्धसैनिक बलों की 100 कंपनियां श्रीनगर भेजीं

जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट चीफ यासीन मलिक को शुक्रवार रात हिरासत में लिए जाने और घाटी में जमात-ए-इस्लामी के कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के बाद केन्द्र ने अर्धसैनिक बलों की अतिरिक्त सौ कंपनियां हवाई मार्ग से श्रीनगर भेजी हैं।

14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले हुए हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद की गई कार्रवाई में मध्य, उत्तरी और दक्षिणी कश्मीर से जमात-ए-इस्लामी से जुड़े करीब दो दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

हालांकि, पुलिस ने अभी तक इस हिरासत के बारे में कुछ भी नहीं टिप्पणी की है। जमात-ए-इस्लामी ने इस कदम को “क्षेत्र को अनिश्चितता में डालने के लिए तैयार साजिश” करार दिया है।

इसने बयान में कहा- “22-23 फरवरी की मध्य रात को पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों ने बड़ी कार्रवाई करते हुए घाटी में कई घरों पर छापे मारे, जिनमें दर्जनों सेंट्रल और जिला स्तरीय नेताओं को गिरफ्तार किया गया है।”

इसने बयान में आगे बताया- जिन लोगों हिरासत में लिया गया है उनमें चीफ डॉक्टर अब्दुल हमीद फयाज, एडवोकेट जाहिल अली (प्रवक्ता), गुलाम कादिर लोन (पूरव महासचिव) और दर्जनों अन्य लोग शामिल हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ये तो छोड़कर चले गए थे…अशोक गहलोत ने सचिन पायलट गुट के विधायकों पर कसा तंज

नयी दिल्ली 4 दिसंबर 2021 । अशोक गहलोत और सचिन पायलट राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ अच्छा …