मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> कश्मीर-अरुणाचल को दिखाया पाकिस्तान-चीन का हिस्सा

कश्मीर-अरुणाचल को दिखाया पाकिस्तान-चीन का हिस्सा

नयी दिल्ली 31 जनवरी 2022 ।  विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO की वेबसाइट पर भारत के गलत नक्शे के मुद्दे को सरकार ने WHO के समक्ष जोरदार तरीके से उठाया है। दरअसल WHO के कोविड डैशबोर्ड पर भारत का गलत नक्शा दिखाया गया। इसमें भारत के जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान और अरुणाचल प्रदेश को चीन का हिस्सा दिखाया गया है। इस मामले पर भारत सरकार ने WHO के समक्ष ऐतराज जताया है और संसद में बयान भी दिया है। विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि हमने इस मुद्दे को WHO के सामने उठाया और अपना ऐतराज जताया। हालांकि भारत के ऐतराज जताने पर WHO ने डिस्क्लेमर जारी किया है। विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, “WHO की वेबसाइट पर भारत के नक्शे के गलत चित्रण का मुद्दा WHO के समक्ष जोरदार तरीके से उठाया गया। जवाब में, WHO ने जिनेवा में भारत के स्थायी मिशन को सूचित किया कि उन्होंने पोर्टल पर एक डिस्क्लेमर डाल दिया है।” मंत्री ने कहा कि भारत सरकार हमेशा से अपनी सीमाओं को लेकर स्पष्ट रही है और WHO भी सीमाओं के सही चित्रण पर भारत सरकार की स्थिति को स्पष्ट रूप से दोहराता है।

भारत के गलत नक्शे पर क्या है WHO का डिस्क्लेमर
विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा, “विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की वेबसाइट पर भारत के नक्शे के गलत चित्रण का मुद्दा उच्चतम स्तर सहित डब्ल्यूएचओ के साथ जोरदार तरीके से उठाया गया है। जवाब में, डब्ल्यूएचओ ने जिनेवा में भारत के स्थायी मिशन को सूचित किया है कि उन्होंने पोर्टल पर एक डिस्क्लेमर डाल दिया है, जिसमें कहा गया है कि “इस सामग्री की प्रस्तुति विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारियों या संगठन की ओर से किसी भी राय की अभिव्यक्ति को नहीं दर्शाती है। नक्शे पर डॉट और लाइन की मदद से अनुमानित सीमा रेखाओं को दिखाया गया है। जिन पर अभी तक पूर्ण सहमति नहीं बन सकी है।”टीएमसी सांसद ने लिखा पीएम मोदी को खत
तृणमूल सांसद डॉ शांतनु सेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा था कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भारत का गलत नक्शा दिखा रहा है। सांसद ने लिखा था, “जब मैंने WHO Covid19.int साइट पर क्लिक किया, तो एक विश्व मानचित्र दिखा, और जब मैंने भारत के हिस्से को जूम किया, तो यह जम्मू और कश्मीर के लिए आश्चर्यजनक रूप से दो अलग-अलग रंगों के साथ एक नीला नक्शा दिखा रहा था।” उन्होंने कहा कि जब उन्होंने नीले हिस्से पर क्लिक किया, तो नक्शा उन्हें भारत का डेटा दिखा रहा था, लेकिन दूसरा हिस्सा पाकिस्तान का डेटा दिखा रहा था।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …