मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> पाकिस्तानी हैकर्स ने किया साइबर अटैक, 100 से ज्यादा भारतीय वेबसाइट हैक

पाकिस्तानी हैकर्स ने किया साइबर अटैक, 100 से ज्यादा भारतीय वेबसाइट हैक

नई दिल्ली 20 फरवरी 2019 । जम्मू कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तान समर्थित जैश ए मोहम्मद के आतंकी हमले के बाद अब पाकिस्तानी हैकर्स ने भारत पर साइबर अटैक किया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान के एक हैकर ने भारत की 100 से ज्यादा वेबसाइट हैक कर डाली. इसमें बीजेपी के नागपुर दफ्तर और गुजरात की सरकारी वेबसाइट भी शामिल है. वहीं बीजेपी नेता आईके जडेजा का ब्लॉग भी हैक हो गया है.

इससे पहले हैकर्स ने शनिवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ऑफिशियल वेबसाइट को निशाना बनाया था. पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने इस साइबर अटैक के पीछे भारतीय हैकर्स पर आशंका जताई थी.

फैसल ने बताया था कि कई देशों के यूज़र्स ने शिकायत की है कि वह साइट नहीं खोल पा रहे हैं. फैसल ने कहा कि हॉलैंड, ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और सऊदी अरब जैसे देशों से शिकायत मिली है कि वह विदेश मंत्रालय की वेबसाइट तक पहुंच नहीं पा रहे. हालांकि बाद में वेबसाइट्स ठीक कर लिया गया था.

आपको बता दें साइबर अटैक ऐसी जंग होती है जो इंटरनेट और कंप्यूटरों के जरिए लड़ा जाता है. ऐसे कुछ हमलों में एकदम पारंपरिक विधियां प्रयोग की जाती हैं, जैसे कंप्यूटर से जासूसी. इन हमलों में वायरसों की सहायता से वेबसाइट ठप कर दी जाती हैं. इस युद्ध से बचने के लिए कई देशों जैसे चीन ने वेबसाइट्स को ब्लाक करने, साइबर कैफों में गश्त लगाने, मोबाइल फोन के प्रयोग पर निगरानी रखने और इंटरनेट गतिविधियों पर नजर रखने के लिए हजारों की संख्या में साइबर पुलिस तैनात कर रखी है.

Indane गैस की वेबसाइट पर लीक हुई 67 लाख ग्राहकों की डिटेल

आधार डेटा लीक को लेकर तमाम चिंताओं के बीच अब खबर आई है कि मशहूर गैस कंपनी इंडेन की आधिकारिक वेबसाइट से लाखों आधार नंबर लीक हो गए हैं. टेक्नोलॉजी से जुड़ी जानकारी देने वाली वेबसाइट Techcrunch के अनुसार यह सिक्योरिटी में हुई चूक के कारण हुआ है.

खबर के मुताबिक वेबसाइट का यह पेज गूगल से इंडेक्स्ड था, जिसके कारण यह सबके लिए एक्सेसेबल हो गया. एक और सिक्योरिटी रिसर्चर इलियट एंडरसन ने भी अपने ब्लॉग पोस्ट में इस बात की जानकारी दी है. इस बारे में पता लगाने वाले रिसर्चर्स का कहाना है कि उन्हें एक टिप मिली थी जिसमें इंडेन की वेबसाइट पर लोगों का आधार डेटा अपडेट होने की बात कही गई थी.

हालांकि अभी पेज से आधार नंबर को हटा लिया गया है, लेकिन Techcrunch की खबर के मुताबिक, पेज पर न सिर्फ आधार नंबर दिया गया, बल्कि यूजर्स का एड्रेस और नाम भी सार्वजनिक कर दिया गया. रिसर्चर्स ने दावा किया है कि उन्हें इंडेन की वेबसाइट पर 11,000 डीलर्स का डेटा मिला है जो कस्टम बिल्ट स्क्रिप्ट का इस्तेमाल कर रहे थे. उन्होंने कहा कि स्क्रिप्ट के ब्लॉक होने से पहले वे 5.8 मिलियन (58 लाख) कस्टमर्स के को एक्सेस कर सकते थे. उन्होंने कहा कि उनके अनुसार 6.7 मिलियन (67 लाख) ग्राहकों का डेटा एक्सपोज हुआ है.

Techcrunch ने अपनी रिपोर्ट में यह भी दावा किया कि उन्होंने लीक में मिले आधार नंबर को UIDAI वेब-बेस्ड वेरिफिकेशन टूल के जरिए वैरिफाई किया, जिसमें सभी सही निकले. हालांकि इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है कि यह कैसे हुआ और कितनी देर के लिए लोगों का आधार डेटा वेबसाइट पर मौजूद रहा.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अमेरिका के आगे झुका पाकिस्तान, अफगानिस्तान में हमलों के लिए देगा एयरस्पेस

नई दिल्ली 23 अक्टूबर 2021 । जो बाइडेन प्रशासन ने कहा है कि अमेरिका अफगानिस्तान …