मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> अब रेल मार्ग से वापस लाएंगे अन्य प्रदेशों में फंसे मजदूर

अब रेल मार्ग से वापस लाएंगे अन्य प्रदेशों में फंसे मजदूर

नई दिल्ली 3 मई 2020 । मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विभिन्न प्रदेशों से मध्यप्रदेश के लगभग 40 हजार मजदूरों को बसों के द्वारा सुगमतापूर्वक प्रदेश लाया जा चुका है। कुछ मजदूर मार्ग में है तथा अब शेष बचे एक लाख से अधिक मजदूरों को ट्रेन के माध्यम से मध्यप्रदेश वापस लाया जाएगा। श्री चौहान ने बताया कि इसके लिए रेल मंत्री से बात हो चुकी है तथा यह कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपर मुख्य सचिव श्री आई.सी.पी. केशरी को निर्देश दिए हैं कि इस संबंध में रेल मंत्रालय को कल तक पूरी जानकारी दे दी जाए कि हमारे कितने मजदूर किन प्रदेशों में फँसे हुए हैं, वे किस स्थान से ट्रेन में चढ़ेंगे तथा मध्यप्रदेश में किस स्थान पर उतरेंगे। मजदूर सुगमतापूर्वक मध्यप्रदेश आ जाएँ, उनका आवश्यक स्वास्थ्य परीक्षण एवं भोजन आदि की व्यवस्था हो जाए, इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें।

अपर मुख्य सचिव श्री केशरी ने बताया कि वर्तमान में हमारे एक लाख से अधिक मजदूर विभिन्न प्राँतों में फँसे हुए हैं। वर्तमान में हमारे 50000 मजदूर महाराष्ट्र में, 30000 गुजरात में, 8000 मजदूर तमिलनाडु में, 5000 मजदूर कर्नाटक में, 10000 मजदूर आंध्र प्रदेश में तथा 3,000 मजदूर गोवा में फँसे हुए हैं।

यात्री रेल सेवाएँ 17 मई, 2020 तक रद्द रहेंगी

कोविड – 19 के मद्देनजर किए गए उपायों को जारी रखते हुए, यह निर्णय लिया गया है कि भारतीय रेल की सभी यात्री रेल सेवाएँ 17 मई, 2020 तक रद्द रहेंगी। हालांकि, राज्य सरकारों द्वारा किये गए अनुरोध और गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों के आधार पर विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों की आवाजाही के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलायी जायेंगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फतह मुबारक हो मुसलमानो, भारत के खिलाफ जीत इस्लाम की जीत…जश्न मनाने के बदले जहर उगलने लगा पाक

नई दिल्ली 25 अक्टूबर 2021 । खराब बल्लेबाजी और खराब गेंदबाजी की वजह से टीम …