मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> जनता से पतंजलि आयुर्वेद ने मांगे 250 करोड़ रुपये

जनता से पतंजलि आयुर्वेद ने मांगे 250 करोड़ रुपये

नई दिल्ली 31 मई 2020 ।  देश की जनता करोड़ों रुपए निवेश कर देती है और इसी का लाभ मिला पतंजलि आयुर्वेद को 250 करोड़ रुपये के नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCD) जारी किए थे. इसे निवेशकों ने हाथोहाथ लिया और 3 मिनट के भीतर ही कंपनी का यह डिबेंचर पूर्ण रूप से सब्सक्राइब्ड हो गया. हरिद्वार मुख्यालय वाली कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने पहली बार पूंजी जुटाने के लिए बॉन्ड बाजार का सहारा लिया है.

पतंजलि को मिला 250 करोड़ का निवेश
पतंजलि आयुर्वेद को चाहिए था 250 करोड़ का निवेशकंपनी ने इसके लिए लिया बॉन्ड बाजार का सहाराउसका एनसीडी 3 मिनट में हुआ फुल सब्सक्राइब्ड
बाबा रामदेव के नेतृत्व वाले पतंजलि आयुर्वेद ने बॉन्ड मार्केट के निवेशकों से 250 करोड़ रुपये मांगे थे. कंपनी को निवेशकों से 3 मिनट के भीतर 250 करोड़ रुपये मिल गए.
पतंजलि आयुर्वेद ने असल में 250 करोड़ रुपये के नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (NCDs) जारी किए थे. इसे निवेशकों ने हाथोहाथ लिया और 3 मिनट के भीतर ही कंपनी का यह डिबेंचर पूर्ण रूप से सब्सक्राइब्ड हो गया.

हरिद्वार मुख्यालय वाली कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने पहली बार पूंजी जुटाने के लिए बॉन्ड बाजार का सहारा लिया है. ब्रिकवर्क ने इस डिबेंचर को AA की रेटिंग दी थी जो कि अच्छी मानी जाती है. इसे शेयर बाजार में सूचीबद्ध किया जाएगा. इसे गुरुवार को जारी किया गया था.

गौरतलब है कि हाल में रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील, एचडीएफसी बैंक, महिंद्रा ऐंड महिंद्रा जैसी कई कंपनियों ने बॉन्ड बाजार से पैसा जुटाया है.

क्या होता है नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर

नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर एक ऐसा वित्तीय साधन है जो कंपनियां लॉन्ग टर्म की पूंजी जुटाने के लिए जारी करती हैं. इसकी अवधि फिक्स होती है, इसलिए यह एफडी जैसा होता है,

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

सुनील गावस्कर ने बताया, महेंद्र सिंह धोनी के बाद कौन सा बल्लेबाज नंबर-6 पर बेस्ट फिनिशर की भूमिका निभा सकता है

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट के बाद भारत को …