मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मोदी जी की राह पर शिवराज

मोदी जी की राह पर शिवराज

नई दिल्ली 2 सितम्बर 2018 । अपने मामा मुख्यमंत्री शिवराज की आजकल प्रधानमंत्री मोदी की तर्ज पर अपना प्रचार प्रसार अभियान चला रहे हैं। भीड मैनेजमेंट और स्थानीय हर जानकारी वह जन आशीर्वाद यात्रा में संबंधित स्थान पर पहुंचने से पहले कर लेते हैं। इसके लिये उनके सारथी बने भाजपा नेता प्रभात झा महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।
सूत्रों की मानें तो मामा मुख्यमंत्री शिवराज की जन आशीर्वाद यात्रा से पहले भाजपा नेता व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा संबंधित यात्रा वाले स्थान का दौरा कर आते हैं। वहां के स्थानीय मुददे, भाषा शैली व अन्य प्रमुख जानकारी वह एकत्रित कर मुख्यमंत्री को देते हैं। वह कार्यकर्ता को व नेताओं का असंतोष भी दूर कर रहे हैं।
जिससे जब मुख्यमंत्री जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान वहां पहुंचते हैं तो वह बात स्थानीय स्तर पर करते हैं जिससे वहां के लोग समझते हैं कि मामा मुख्यमंत्री सारी बात जानते हैं। इससे यह होता है कि स्थानीय स्तर पर व्यक्ति डायरेक्ट मुख्यमंत्री को अपने बीच का ही समझने लगता है।
ज्ञातव्य है कि प्रभात झा से पूर्व यही स्टाइल भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने हरियाणा विधानसभा के चुनाव में अपनाई थी। जिसका लाभ भाजपा को जबरदस्त मिला था।

 कमलनाथ ने कहा- शिवराज सिंह चौहान का कांग्रेस में स्वागत है..

मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी कांग्रेस में शामिल होने का आमंत्रण दिया है। इससे पहले वरिष्ठ बीजेपी नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान कमलनाथ की छिंदवाड़ा के विकास के लिए सराहना की थी। बता दें कि कमलनाथ छिंदवाड़ा से सांसद भी हैं।

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गौर को कांग्रेस में शामिल होने का आमंत्रण देने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा, ‘मैं तो शिवराज को भी निमंत्रण देता हूं। बाबूलाल गौर को केवल क्यों।’ कमलनाथ ने कहा, ‘बाबूलाल गौर जी एक सच्चे इंसान हैं, बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं, जिन्होंने सच्चाई स्वीकार की।’

कमलनाथ ने कहा कि गौर ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि वह सच्चाई जानते हैं। बाबूलाल गौर प्रदेश के शहरी विकास मंत्री थे और मैं केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री। मेरे कार्यकाल में मैंने सबसे ज्यादा धन मध्यप्रदेश को दिया। मैंने मध्यप्रदेश के लिए 4500 करोड़ से अधिक रुपये जारी किए।’ वहीं आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा, ‘मैंने तय नहीं किया है कि मैं लडूंगा, क्योंकि मैं सांसद हूं। ये भी चर्चा है कि चुनाव (लोकसभा और विधानसभा) साथ-साथ हों। तो जब इन सब चीजों का फैसला होगा, तब मैं भी फैसला करूंगा।’

उन्होंने कहा, ‘अमित शाह (बीजेपी अध्यक्ष) ने भी इस बारे (एक साथ चुनाव) में विधि आयोग को चिठ्ठी लिखी है, तो कोई मजाक करने के लिए तो नहीं लिखी और किसी छोटे कार्यकर्ता ने भी नहीं लिखी। अमित शाह ने लिखी है। उन्होंने चिठ्ठी लिखी और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिला और यह मांग कर रहे हैं तो इससे इसमें गंभीरता दिखती है।’ पूर्व केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री कमलनाथ ने नोटबंदी को पूरी तरह से असफल करार देते हुए कहा, ‘इससे बाजार में प्रचलित नोटों से अधिक नोट बैंकों में जमा हो गए।’

राजे को बाड़मेर में दिखाए काले झंडे

सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजामों के बावजूद राजस्थान की मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे को बाड़मेर में शनिवार को आयोजित एक जनसभा में विरोध में नारे लगाये और काले झंडे दिखाए गए।

पुलिस ने इन लोगों पकड़ लिया और उन्‍हें सभा स्‍थल से बाहर ले गयी। राजे ने भी अपने संबोधन में इस घटना का जिक्र किया।

राजे अपनी राजस्‍थान गौरव यात्रा के तहत यहां आई थीं। जनसभा में राजे ने जैसे ही अपना संबोधन शुरू किया सभा स्‍थल में मौजूद कुछ लोगों ने काले झंडे दिखाते हुए ‘उनके खिलाफ नारे लगाने शुरू कर दिए। पुलिस ने विरोध कर रहे लोगों पकड़ लिया और सभास्‍थल से बाहर ले गयी।

अपने संबो‍धन में घटना का जिक्र करते हुए राजे ने कहा कि समाज में तरह-तरह के लोग होते है और ऐसे लोग आपको मिल ही जायेगे। उन्‍होनें कहा कि यह दुनियादारी है लेकिन चार लोग मिलकर किसी प्रदेश के विकास को नहीं रोक सकते।

गौरतलब है कि मुख्‍यमंत्री की सभा को लेकर बाड़मेर में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किए गए थे। करीब तीन हजार पुलिसकर्मियों को सुरक्षा व्‍यवस्‍था में तैनात किया गया था। कड़ी सुरक्षा जांच के बाद लोगों को सभा स्‍थल पर जाने दिया जा रहा था। काले कपड़े पहने किसी भी व्‍यक्ति को सभा स्‍थल में प्रवेश नहीं दिया गया। उनके कपड़े सभा स्‍थल से बाहर रखवाने के बाद ही उन्‍हे सभा स्‍थल में जाने दिया गया। इतने कड़े सुरक्षा बंदोबस्‍तों के बावजूद कुछ लोग काले झण्‍डे लेकर सभास्‍थल तक जाने में सफल हो गए।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब में अब जहरीली शराब बेचने वालों को मिलेगी सजा-ए-मौत

नई दिल्ली 3 मार्च 2021 । बीते साल पंजाब के अमृतसर, तरनतारन व गुरदासपुर जिले …