मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> विभाग के रडार पर ‘पुलिस सुधार’ अभियान, चार सस्पेंड, कार्रवाई से हड़कंप

विभाग के रडार पर ‘पुलिस सुधार’ अभियान, चार सस्पेंड, कार्रवाई से हड़कंप

भोपाल 18 अक्टूबर 2019 । मध्य प्रदेश में इन दिनों पुलिस कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर खुलकर सोशल मीडिया पर अभियान चला रहे हैं| वहीं विभाग भी ऐसे पुलिसकर्मियों पर सख्ती दिखा रहा है| प्रदेश में एक के बाद एक विभाग के कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल धरना प्रदर्शन आंदोलन की राह पर हैं, लेकिन पुलिस विभाग में अनुशासन का एक अलग दायरा है, हालांकि पहले भी अपनी मांगों को लेकर पुलिस परिवार सड़क पर उतर चुका है| लेकिन इस बार सोशल मीडिया पर यह अभियान शुरू हुआ है| इस अभियान में जुड़ने वाले सिपाही विभाग के रडार पर आ गए हैं| इसके चलते भोपाल के सिपाही समेत चार जिलों के चार पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। यह कार्रवाई जिला स्तर पर एसपी द्वारा की गई है। अपनी मांगों को लेकर आवाज उठाना पुलिसकर्मियों को महंगा पड़ रहा है, वहीं विभाग की कार्रवाई से ‘पुलिस सुधार’ अभियान से जुड़े पुलिसकर्मियों में हड़कंप मचा हुआ है|

दरअसल, सोशल मीडिया पर आरक्षक का ग्रेड पे, आवास भत्ता, साप्ताहिक अवकाश, समेत अन्य मांगों को पूरा करने सरकार से मांग की जा रही है| अपनी मांगों को लेकर पुलिस परिवार का #मध्यप्रदेशपुलिससुधार अभियान चल रहा है| सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर की जा रही है| मीडिया पर खबरे आने के बाद विभाग अलर्ट हो गया है और कई पुलिस कर्मी विभाग के रडार पर हैं| बता दें कि पुलिस मुख्यालय के निर्देश के अनुसार सोशल मीडिया पर मांगों को लेकर अभियान चलाने वाले पुलिस कर्मियों की पहचान कर कार्रवाई करने को कहा गया है। मुख्यालय का मानना है कि ऐसे प्रचार-प्रसार से शासन की छवि धूमिल हो रही है| हालांकि पुलिस कर्मियों की मांगों को लेकर सरकार से अब तक कोई बातचीत नहीं हुई है| चुनाव पूर्व पुलिस विभाग को लेकर भी कई वादे किये गए थे, जो पूरे नहीं हुए, जिसको लेकर पुलिसकर्मी अब लामबंद हो रहे हैं|

इस निर्देश के बाद भोपाल पुलिस लाइन में पदस्थ आरक्षक रंजीत रघुवंशी, इंदौर के आरक्षक नितेश सिंह राठौर, जबलपुर जिले के आरक्षक शुभम वाजपेयी और भिंड में पदस्थ मनोज सिंह गुर्जर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर किया गया है। सभी पुलिसकर्मियों को पुलिस लाइन में अटैच किया गया है। उन्हें कारण बताओ नोटिस भी जारी किया जा रहा है। जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Skepticism And Vaccine Hesitancy For Precaution dose Among People : Dr Purohit

Bhopal 28.01.2022. Advisor for National Immunisation Programme Dr Naresh Purohit said that there exists vaccine …