मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> MP में सियासी भूचाल, देर रात बंद कमरे में शिवराज से मिले ज्योतिरादित्य सिंधिया

MP में सियासी भूचाल, देर रात बंद कमरे में शिवराज से मिले ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल 23 जनवरी 2019 । मध्य-प्रदेश में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अचानक मुलाक़ात से सियासी भूचाल मच गया है. करीब आधे घंटे तक बंद कमरे में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच बातचीत हुई. अचानक हुई इस मुलाकात के बाद से कांग्रेस पार्टी से लेकर भाजपा के राजनीतिक गलियारों में राजनीतिक माहौल गरमा चुका है.

गौरतलब है कि सिंधिया सोमवार रात दिल्ली से भोपाल पहुंचे थे. यहां से वे वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक जैन भाभा के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए उनका आवास भी पहुंचे. इसके बाद सिंधिया शिवराज सिंह चौहान के निवास स्थान पर पहुंचे. ख़बरों की मानें तो इस दौरे में साथ गए उनके समर्थकों को भी शिवराज सिंह के साथ इस मुलाकात के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. सूत्रों की मानें तो दोनों दिग्गजों के बीच राज्य की मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों समेत कई अहम मुद्दों पर बातचीत हुई.

वहीं इस बारे में सिंधिया ने कहा, ”मैं सौजन्य मुलाकात करने आया था.” इसके बाद ही उन्होनें कहा, ”मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं कि जो कड़वाहट लेकर पूरी जिंदगी बिताऊं. रात गई, बात गई. मैं आगे की सोचता हूं. विपक्ष की प्रजातंत्र में उतनी ही भूमिका है, जितनी सत्ता पक्ष की होती है. हम लोगों का भी केंद्र में महत्वपूर्ण योगदान है, जैसा भाजपा का मध्यप्रदेश में है.”

सिंधिया के ये तेवर देखते हुए पार्टी में अलग अलग कयास लगाई जा रही है. इसके बाद इस तरह से औचक मुलाक़ात को लेकर भी संशय पैदा हो गया है. इस एक मुलाक़ात से मध्यप्रदेश की राजनीति में हलचल मच गयी है. ऐसा इसलिए भी हुआ है कि अचानक हुई इस मुलाक़ात के बारे में सिंधिया के साथ आये समर्थकों को भी कुछ मालूम नहीं था. हालांकि अभी तक इस मुलाकात को लेकर शिवराज सिंह की तरफ से कोई बयान नहीं आया है, वहीं सिंधिया ने इस मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर ‘रात गई बात गई’ कहकर सवाल को टाल दिया.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब में अब जहरीली शराब बेचने वालों को मिलेगी सजा-ए-मौत

नई दिल्ली 3 मार्च 2021 । बीते साल पंजाब के अमृतसर, तरनतारन व गुरदासपुर जिले …