मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सावरकर को भारत रत्न देने के वादे से गरमाई राजनीति

सावरकर को भारत रत्न देने के वादे से गरमाई राजनीति

इंदौर 20 अक्टूबर 2019 । महाराष्ट्र चुनाव के लिए भाजपा के संकल्प पत्र में स्वतंत्रता सेनानी विनायक दामोदर सावरकर (वीर सावरकर) को भारत रत्न देने के वादे पर राजनीति गर्म है। शनिवार को विरोध स्वरूप कांग्रेस ने रीगल चौराहे पर पोस्टर लगाकर सावरकर को भारत रत्न देने के वादे का विरोध किया।

इस दौरान पोस्टर हटाने पहुंचे निगमकर्मियों के साथ कांग्रेसियों ने जमकर बहस की और मप्र में उनकी सरकार होने का रौब भी दिखाया। कांग्रेसियों ने निगमकर्मियों को मौके से जाने तक का कह दिया।विरोध स्वरूप कांग्रेसियों ने शनिवार को रीगल चौराहे पर सावरकर का फोटो लगा पोस्टर लगाया। जिसमें उन्होंने लिखा – भारत माता इन्हें क्षमा करना। यह आजादी के आंदोलन में आपसे गद्दारी करने वाले और अंग्रेजों से माफी मांगने वाले सावरकर को गोडसे समर्थक भाजपा ने भारत रत्न देने का संकल्प लिया है.. इन्हें सद्बुद्धि देना। कांग्रेसियों द्वारा पोस्टर लगाने की सूचना पर निगमकर्मी इसे हटाने मौके पर पहुंचे, लेकिन उन्हें यहां कांग्रेसियों के विरोध का सामना करना पड़ा। निगम अधिकारी पर भाजपा की मानसिकता का आरोप लगाते हुए कांग्रेसियों ने जमकर खरीखोटी सुनाई और प्रदेश में अपनी सरकार होने का रौब झाड़ते हुए पोस्टर नहीं हटाने देने पर अड़ गए। इसके बाद पुलिस का मौजूदगी में्र बमुश्किल पोस्टर हटाए गए।

संकल्प पत्र में किया था वादा
भाजपा ने 15 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए अपना संकल्प पत्र जारी किया था। भाजपा ने वादा किया था कि दोबारा सत्ता में आने पर वह स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर, समाज सुधारक महात्मा ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले को भारत रत्न देने की मांग करेगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

सुनील गावस्कर ने बताया, महेंद्र सिंह धोनी के बाद कौन सा बल्लेबाज नंबर-6 पर बेस्ट फिनिशर की भूमिका निभा सकता है

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट के बाद भारत को …