मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> RBI चुनाव से पहले 500 और 2000 रुपए के नोट भी बदलने की तैयारी में! जानिए क्या है मामला

RBI चुनाव से पहले 500 और 2000 रुपए के नोट भी बदलने की तैयारी में! जानिए क्या है मामला

नई दिल्ली 26 नवम्बर 2018 । आरबीआई ने 100 रुपए का नया नोट बाजार में उतारना शुरू कर दिया है। बैंगनी रंग का 100 रुपए का नोट कुछ जगह पर ATM में भी मिल रहा है। बताया जा रहा है कि ये एक स्पेशल फीचर लैस 100 रुपए का नोट होगा। कहा जा रहा है कि अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले आपकी जेब में पड़े बाकी नोट भी बदले जा सकते हैं। जी हां, 200, 500 और 2000 रुपए के नोट भी बदल दिए जाएंगे।

साथ ही जानकारी के लिए बता दें कि नोट बदलने का मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि इनके आने पर मौजूदा नोट बंद हो जाएंगे, बल्कि दोनों तरह के नोटों का बाजार में चलन होगा। हालांकि, अगर नए फीचर वाले नोट का ट्रायल सही रहता है तो मौजूदा नोट को सिस्टम से धीरे-धीरे कम किया जाएगा। नए नोटों को वॉर्निश पेंट के साथ बाजार में उतारा जाएगा।

जानकारों के मुताबिक, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का प्लान है कि नोटों का वर्निश करके बाजार में लाया जाए, इससे उनकी उम्र बढ़ जाएगी। आरबीआई की वार्षिक रिपोर्ट 2017-18 में प्रस्ताव दिया गया था कि बैंक नोट्स को बदलने की जरूरत है। हालांकि, यह सिर्फ ट्रायल के तौर पर होगा। इस तरह का ट्रायल दूसरे देशों में भी अपनाया जा चुका है। हालांकि, आरबीआई की तरफ से अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं है।

दरअसल, 100 रुपए के नए नोट पर वार्निश पेंट चढ़ा हुआ होगा। आरबीआई इस नोट के प्रस्ताव को मंजूरी दे सकता है. वहीं, 100 के बाद 500 और 2000 रुपए में भी वार्निश पेंट चढ़ाकर इसे ट्रायल के तौर पर बाजार में लाया जाएगा। Zeebiz.com के मुताबिक, सरकार के साथ चर्चा के बाद RBI भारतीय बैंक नोट्स में बदलाव करने की तैयारी कर रहा है। आरबीआई के प्रस्ताव के मुताबिक, इससे नोटों की लाइफ बढ़ाने में मदद मिलेगी।

वॉर्निश वाले बैंक नोट्स लाने का प्रस्ताव आरबीआई के एजेंडे में पहले से शामिल है। आरबीआई की वार्षिक रिपोर्ट 2016-17 के करेंसी मैनेजमेंट चैप्टर में इसका जिक्र किया गया है। RBI के 2017-18 के एजेंडे में प्रोक्योरमेंट ऑफ करेंसी वेरिफिकेशन एंड प्रोसेसिंग सिस्टम (CVPS)/Shredding and Briquetting Systems (SBS) के अलावा नए सीरीज के बैंक नोट जारी करना। साथ ही वार्निश बैंकनोट्स को लॉन्च करना भी उसके एजेंडे में शामिल है।

चूंकि देश में चुनाव से पहले या चुनाव के दौरान कैश की किल्लत देखने को मिलती है। इस दौरान एटीएम और बैंक में कैश की कमी देखने को मिलती है। आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले चुनाव के दौरान भी कैश किल्लत देखने को मिली थी। चुनाव से पहले इन नोटों को लाने से इनकी टेस्टिंग भी हो जाएगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

मोदी सरकार के आर्थिक सुधार कार्यक्रमों के सुखद परिणाम अब नजर आने लगे हैं

नई दिल्ली 20 सितम्बर 2021 । वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के स्थापित …