मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> भारत के गणतंत्र दिवस 2022 पर मुख्य अतिथि होंगे 5 मध्य एशियाई देशों के राष्ट्रपति

भारत के गणतंत्र दिवस 2022 पर मुख्य अतिथि होंगे 5 मध्य एशियाई देशों के राष्ट्रपति

नयी दिल्ली 12 दिसंबर 2021 । साल 2022 के गणतंत्र दिवस समारोह में अतिथि के रूप में सभी 5 मध्य एशियाई देशों के राष्ट्रपतियों को आमंत्रित किया गया है। यह पांच देश कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उजबेकिस्तान है। बता दें कि, यह पहली बार है जब मध्य एशियाई देश अतिथि के रूप में उपस्थित होंगे और दूसरी बार जब इतने सारे देशों को 2018 के बाद एक साथ आमंत्रित किया जाएगा।इसकी औपचारिक बातचीत लगभग 3 सप्ताह पहले दोनों पक्षों के बीच शुरू हो गई थी।जानकारी के लिए बता दें कि, साल 2015 में पीएम मोदी ने सभी मध्य एशियाई देशों का दौरा किया था और किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री द्वारा पहली बार किया गया दौरा था। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, 18 और 19 दिसंबर को, नई दिल्ली मध्य एशियाई, भारत के विदेश मंत्री की बैठक की मेजबानी करेगा। मध्य एशियाई और भारतीय विदेश मंत्रियों की यह तीसरी ऐसी बैठक होगी। पहली मुलाकात जनवरी 2019 में उज्बेकिस्तान के समरकंद में हुई थी जहां भारत का प्रतिनिधित्व तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने किया था। भारत ने उस दौरान कनेक्टिविटी, ऊर्जा, आईटी, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा, कृषि आदि जैसे क्षेत्रों में प्राथमिकता वाली विकास परियोजनाओं के लिए 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर की ऋण सहायता की घोषणा की थी। गौरतलब है कि, गणतंत्र दिवस पर 2014 से पीएम मोदी के कार्यकाल के तहत, भारत ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा (2015), फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रेंकोइस ओलांद (2016), यूएई के मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान (2017), सभी 10 आसियान देशों (2018), दक्षिण अफ्रीका के सिरिल रामफोसा (2019) और ब्राजील के जायर बोल्सोनारो (2020) को आमंत्रित किया है। पिछले साल ब्रिटेन के बोरिस जॉनसन के मेहमान के तौर पर आने की उम्मीद थी लेकिन कोविड की वजह से उनका भारत दौरा रद्द हो गया था।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …