मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के लोगों में जगाया नया विश्वास : दिग्विजय सिंह

प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के लोगों में जगाया नया विश्वास : दिग्विजय सिंह

भोपाल 10 नवंबर 2021 । मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने जनता के मुद्दों पर आवाज उठा कर उत्तर प्रदेश के लोगों में पार्टी के प्रति एक नया विश्वास पैदा किया है। सिंह ने मंगलवार रात संभल के एचोंडा कंबोह में श्री कल्कि महोत्सव में शिरकत करने के दौरान संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वाद्रा ने जिस तरह उत्तर प्रदेश में जनता के मुद्दों को लेकर खुद आगे आकर संघर्ष किया है उससे यहां की जनता में कांग्रेस के प्रति एक नया भरोसा पैदा हुआ है कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि चाहे लखीमपुर खीरी का मामला हो, हाथरस, आगरा का मामला हो, किसान, मजदूर या व्यापारियों का मसला हो, वाद्रा ने अन्य दलों के नेताओं से कहीं आगे बढ़कर संघर्ष किया है और उत्तर प्रदेश में एक नई टीम खड़ी कर दी है। उन्होंने कहा कि पहले जहां कोई कांग्रेस के बारे में बात नहीं करता था, वहीं अब लोग कांग्रेस के बारे में बात करते हैं, यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती द्वारा कांग्रेस को उसके चुनावी वादों को लेकर घेरने के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा मायावती का जन्म भी नहीं हुआ होगा तब से कांग्रेस पार्टी दलितों की सेवा कर रही है। महात्मा गांधी ने 1920 के दशक में छुआछूत के खिलाफ आंदोलन शुरू किया था और कांग्रेस का कार्यक्रम तब से लेकर आजादी तक और उसके बाद बाबा साहब भीमराव आंबेडकर के साथ संविधान में भी इसका जो आह्वान किया गया वह कांग्रेस की ही देन थी। मायावती शायद वो इतिहास नहीं जानतीं। सरहद पर चीन की बढ़ती घुसपैठ के बारे में पूछे गए एक सवाल पर सिंह ने कहा,‘‘ बड़े आश्चर्य की बात है कि अरुणाचल प्रदेश से भाजपा के सांसद ने खुद कहा है कि चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा कर लिया है इसके बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मसले पर चुप्पी साधे हैं।’’समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव के पाकिस्तान के राष्ट्रपिता मोहम्मद अली जिन्ना के बारे में हाल में की गई टिप्पणी पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी अपनी पाकिस्तान यात्रा पर जिन्ना की मजार पर चादर चढ़ा चुके हैं, जिन्ना पूरी तरह से सांप्रदायिक नेता थे, जिन्होंने अंग्रेजों को भारत का बंटवारा करने के लिए तैयार किया था। भाजपा द्वारा उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर फिर से हिंदू कार्ड खेले जाने के बारे में पूछे गए सवाल पर सिंह ने कहा,‘‘ भाजपा के पास इसके सिवा और कोई मुद्दा ही नहीं है। भाजपा का धर्म से कोई लेना देना नहीं है। उसका काम सिर्फ मजहब के नाम पर लोगों को बांटना और भय को मुद्दा बनाकर नफरत पैदा करना है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ वर्ष 1925 से ही डर और घृणा की राजनीति कर रहा है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

‘राजपूत नहीं, गुर्जर शासक थे पृथ्वीराज चौहान’, गुर्जर महासभा की मांग- फिल्म में दिखाया जाए ‘सच’

नयी दिल्ली 21 मई 2022 । राजस्थान के एक गुर्जर संगठन ने दावा किया कि …