मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> प्रियंका गांधी ने कहा- बीजेपी सरकार के 100 दिनों का जश्न ‘बर्बादी के जश्न’ की तरह

प्रियंका गांधी ने कहा- बीजेपी सरकार के 100 दिनों का जश्न ‘बर्बादी के जश्न’ की तरह

नई दिल्ली 8 सितम्बर 2019 । अर्थव्यवस्था में सुस्ती और वाहनों की बिक्री में गिरावट को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) ने शनिवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि सरकार अपने 100 दिनों का जश्न मना रही है जो कई औद्योगिक क्षेत्रों के लिए ‘बर्बादी का जश्न’ की तरह है. उन्होंने यह दावा भी किया कि हर जगह से नौकरियां जाने की खबरें आ रही हैं. प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, भाजपा सरकार सौ दिन का जश्न मनाने जा रही है. लेकिन ऑटो, परिवहन , खनन क्षेत्रों को तो यह जश्न बर्बादी के जश्न जैसा लगेगा.’
उत्‍तर प्रदेश कांग्रेस में बड़े बदलाव की आहट!

उन्होंने कहा, ‘हर सेक्टर से एक के बाद एक संयंत्र बंद होने और नौकरियां जाने की खबर आ रही हैं.’ इससे पहले प्रियंका ने यूपी सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था, ‘उत्तर प्रदेश के लोगों को योगी सरकार की ओर से जोर का ‘झटका’ लगा है. यूपी सरकार ने बिजली की दरों में 12 फीसदी तक की बढ़ोतरी की है. घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली दरों में अधिकतम 60 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी की कई है, वहीं, किसानों की बिजली 15 फ़ीसदी महंगी हो गई है.’

JNU के छात्रसंघ चुनाव में 7 सालों में सबसे ज्यादा मतदान, अदालत ने परिणाम पर लगाई रोक

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) चुनाव में शुक्रवार को 67.9 फीसदी मतदान हुआ. माना जा रहा है कि पिछले सात साल के मुकाबले इस बार सबसे ज्यादा मतदान हुआ है. पिछले साल 67.8 फीसदी मतदान हुआ था. JNUSU चुनाव समिति ने शुक्रवार को डीन ऑफ स्टूडेंट्स पर पहले चरण के मतदान के दौरान मतदान केंद्र में प्रवेश कर चुनाव प्रक्रिया में ‘दखल’ देने का आरोप लगाया. शुक्रवार को मतदान में कुल 8,488 पंजीकृत मतदाताओं में से 5,762 छात्र-छात्रों ने मतदान किया. दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को छात्र संघ के चुनाव के परिणाम घोषित करने पर 17 सितंबर तक रोक लगा दी. इस मामले की सुनवाई 17 सितंबर को होगी. अदालत ने अपने आदेश में कहा कि अंतिम परिणाम की घोषणा अदालत के अगले आदेशों पर निर्भर करेगा. इसके बाद अदालत ने विश्वविद्यालय को अगली सुनवाई तक परिणाम नहीं जारी करने का निर्देश दिया. चुनाव में विभिन्न पदों के लिए 14 उम्मीदवार मैदान में हैं. मतों की गिनती रात नौ बजे से शुरू होनी थी. चुनाव समिति के अध्यक्ष शशांक पटेल ने कहा, ‘शिकायत निवारण प्रकोष्ठ के अध्यक्ष जो डीन ऑफ स्टूडेंट्स भी हैं, ने मतदान केंद्र के अंदर जाकर चुनाव प्रक्रिया में हस्तक्षेप किया. यह लिंगदोह समिति की सिफारिशों और उच्च न्यायालय के एक आदेश का स्पष्ट उल्लंघन है.’ डीन उमेश कदम ने इस मुद्दे पर फोन और संदेशों का जवाब नहीं दिया.

प्रदेश के सभी थाने सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट में शामिलः मंत्री श्री बच्चन

गृह एवं जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने 12 नये थाने और 210 नये वरिष्ठ कार्यालयों को क्राइम एण्ड क्रिमिनल ट्रेकिंग सिस्टम (सीसीटीएनएस) में शामिल करने के आदेश दिये है। इसके बाद मध्यप्रदेश इस सिस्टम की स्थापना में भारत सरकार द्वारा जारी प्रगति मापदंडों के क्रियान्वयन में अग्रणी राज्यों में शमिल हो गया है। साथ ही राज्य सरकार द्वारा वचन-पत्र में दिया गया एक और वचन भी पूरा हो गया है।
पुलिस मुख्यालय में राज्य अपराध अभिलेख ब्यूरो में सिस्टम का तकनीकी संचालन किया जायेगा। सीसीटीएनएस कमाण्ड एण्ड कंट्रोल रूम स्थापित कर प्रदेश के 1061 पुलिस स्टेशन एवं 638 वरिष्ठ कार्यालयों की एकीकृत मॉनीटरिंग शुरू कर दी गई है।

सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट के लाभ

प्रोजेक्ट से प्रदेश के सभी अपराधियों की जानकारी सभी थानों को तत्काल उपलब्ध होगी। इलेक्ट्रॉनिक अभिलेख संधारण किया जा सकेगा। विभिन्न रजिस्टर एवं रिपोर्ट सॉफ्टवेयर से तैयार होगी। थानों की कार्यवाही का सतत् एवं सघन पर्यवेक्षण संभव हो सकेगा। गिरफ्तार अपराधियों एवं बरामद सम्पत्ति की सूचना सभी थानों में तत्काल प्रसारित होगी। चरित्र सत्यपान प्रदेश स्तर पर संभव हो सकेगा। अपराधियों का इतिहास और प्रवृत्ति की जानकारी प्रदेश स्तर पर उपलब्ध रहेगी। विभिन्न राज्यों से अपराधियों की सूचनाओं का आदान-प्रदान संभव होगा।

 

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

सुनील गावस्कर ने बताया, महेंद्र सिंह धोनी के बाद कौन सा बल्लेबाज नंबर-6 पर बेस्ट फिनिशर की भूमिका निभा सकता है

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट के बाद भारत को …