मुख्य पृष्ठ >> अंतर्राष्ट्रीय >> महाविनाश करेंगे पुतिन! दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार परमाणु हथियारों की दी गई धमकी

महाविनाश करेंगे पुतिन! दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार परमाणु हथियारों की दी गई धमकी

नयी दिल्ली 25 फरवरी 2022 । विश्व इतिहास में बीते कई दशकों से ऐसा नहीं हुआ है, जब किसी देश ने खुले तौर पर परमाणु हमले की धमकी दी हो। लेकिन यूक्रेन पर हमला करने वाले व्लादिमीर पुतिन ने ऐसा किया है। यूक्रेन पर हमले से पहले दिए अपने भाषण में व्लादिमीर पुतिन ने दुनिया के तमाम देशों को धमकी दी है कि यदि उन्होंने दखल देने का प्रयास किया तो फिर उनके पास हथियार भी हैं। भले ही पुतिन अपनी इस धमकी पर अमल न करें, लेकिन यह दुनिया को डराने वाला जरूर है। पुतिन के इरादों से साफ है कि किसी भी एक चूक के चलते यूक्रेन में चल रहा युद्ध परमाणु जंग में तब्दील हो सकता है। पुतिन ने अपने भाषण में कहा, ‘सैन्य मामलों की बात करें तो सोवियत संघ के विघटन और अपनी ताकत के काफी कम होने के बाद भी आज का रूस दुनिया की सबसे बड़ी परमाणु ताकतों में से एक है।’ व्लादिमीर पुतिन ने कहा, ‘रूस के पास बड़े पैमाने पर हथियार हैं। ऐसे में किसी को भी इस बात का संदेह नहीं रखना चाहिए कि वे दखल देंगे और उनकी हार नहीं होगी। कोई भी हमारे देश पर हमला करता है तो फिर उसे परिणाम भुगतने होंगे।’ व्लादिमीर पुतिन के इस बयान से साफ है कि यूक्रेन पर चल रही जंग अमेरिका और रूस के बीच परमाणु युद्ध में तब्दील हो सकती है।

इस धमकी के बाद से दुनिया भर में शीत युद्ध के हालात पैदा हो गए हैं। तब अमेरिका में स्कूली छात्रों को सायरन बजने पर डेस्क के नीचे छिपने की सलाह दी जाती है। हालांकि बर्लिन की दीवार घिरने के बाद यह खतरा लगातार टलता गया। फिर सोवियत संघ के विघटन के बाद तो यह पूरी तरह से ही समाप्त हो गया। बता दें कि 1945 में दूसरे विश्व युद्ध के बाद से अब तक किसी भी देश ने परमाणु हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया है। तब अमेरिकी राष्ट्रपति हैरी ट्रूमैन ने जापान में परमाणु हथियार गिराए थे, जिसके चलते बड़ी संख्या में लोग मारे गए थे। इस हमले के बाद 2 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा, हिंदू पक्ष ने किया दावा-‘बाबा मिल गए’; कल कोर्ट में पेश होगी रिपोर्ट

नयी दिल्ली 16 मई 2022 । ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा हो गया है। तीसरे …