मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> राहुल गांधी ने कहा, सत्ता में आए तो खत्म कर देंगे नीति आयोग

राहुल गांधी ने कहा, सत्ता में आए तो खत्म कर देंगे नीति आयोग

नई दिल्ली 30 मार्च 2019 । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि अगर उनकी सरकार सत्ता में आती है तो सबसे पहले नीति आयोग को खत्म किया जाएगा. राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि नीति आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए मार्केटिंग प्रेजेंटेशन बनाने और अपने डेटा के जरिए देश को बहकाने के अलावा कोई काम नहीं किया है. उन्होंने कहा कि हम इस आयोग को हल्का करेंगे, जिसमें केवल 100 से कम कर्मचारी होंगे. इस आयोग में अर्थशास्त्री और विशेषज्ञ ही होंगे.

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के घोषणा पत्र के बारे में बात करते हुए कहा कि हमारी पार्टी का घोषणा पत्र किसी एक व्यक्ति का विचार नहीं, जनता की आवाज है.

पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि हमारा मकसद नौकरी को बढ़ावा देना है. कृषि संकट को खत्म करना, स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाना और अर्थव्यवस्था को मजबूत करना हमारी पार्टी की प्राथमिकता में शामिल है.

राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी ने नए रोजगार पैदा करने के लिए अभी से रणनीतिक योजना पर काम करना शुरू कर दिया है. हमारी कोशिश होगी कि हम व्यापारियों पर लगाए गए गैर जरूरी टैक्स को कम कर सकें, जिससे छोटे कारोबारियों को व्यापार करने में मदद मिल सके. इससे पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि , ‘क्या आप नया बिजनेस शुरू करना चाहते हैं? भारत के लिए जॉब क्रियेट करना चाहते है? तो आपके लिए ये रहा हमारा प्‍लान.’ एंजल टैक्स को खत्म कर दिया जाएगा, कंपनी का जॉब क्रिएशन अधिक रहने पर आर्थिक मदद भी दी जाएगी. लोगों को आसानी से लोन दिलाया जाएगा. नए व्‍यापार को शुरू करने के लिए अगले तीन साल तक किसी की अनुमति लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

हार्दिक पटेल नहीं लड़ पाएंगे लोकसभा चुनाव, कोर्ट का सजा पर रोक लगाने से इंकार
कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को शुक्रवार को गुजरात हाईकोर्ट (Gujarat High Court) से तगड़ा झटका लगा है। हार्दिक पटेल आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। कोर्ट ने दंगा मामले में सजा पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है।

हार्दिक को पिछले साल 25 जुलाई को एक स्थानीय अदालत ने दो साल के साधारण कारवास की सजा सुनाई थी। उन पर जुर्माना भी लगाया गया था। हार्दिक को यह सजा राज्य के महेसाणा जिले के विसनगर में 23 जुलाई 2015 को एक आरक्षण रैली के दौरान हुई हिंसा के मामले में सुनाई गई थी। तत्कालीन स्थानीय भाजपा विधायक ऋषिकेश पटेल के कार्यालय पर हमला और तोड़फोड़ करने का आरोप भी लगा था।

नियम के मुताबिक दो साल या इससे अधिक की सजा वाले लोग चुनाव नहीं लड़ सकते। इसी वजह से हार्दिक ने आठ मार्च को एक बार फिर गुजरात हाई कोर्ट का रुख किया था। उनके वकील रफीक लोखंडवाला ने बताया कि हार्दिक ने अदालत में एक अर्जी दी है जिसमें विसनगर की अदालत की सजा पर रोक लगाने का आग्रह किया गया है। ताकि हार्दिक के चुनाव लड़ने में परेशानी न हो या उन्हें अयोग्य न ठहराया जा सके।

कांग्रेस ने जारी की 18 उम्मीदवारों की सूची, पात्रा के खिलाफ सत्‍यप्रकाश को टिकट

कांग्रेस ने  उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, असम और ओडिशा में लोकसभा की 18 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित किए जिनमें प्रमुख नाम पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर का है जिन्हें क्रमश: सासाराम (बिहार) और मुंबई-उत्तर से टिकट दिया गया है. पार्टी की ओर से दो अलग अलग सूचियां जारी की गईं जिनके मुताबिक, बिहार में चार, असम में चार और ओडिशा में सात सीटों पर उम्मीदवार की घोषणा के साथ ही उत्तर प्रदेश में महाराजगंज सीट पर उम्मीदवार बदला भी गया है.

कांग्रेस ने  महराजगंज से तनुश्री त्रिपाठी का नाम घोषित किया था जो बाहुबली अमरमणि त्रिपाठी की पुत्री हैं. अब तनुश्री की जगह सुप्रिया श्रीनते को उम्मीदवार बनाया गया है. बिहार में सुपौल से रंजीत रंजन, समस्तीपुर से अशोक कुमार, मुंगेर से नीलम देवी और सासाराम से मीरा कुमार को टिकट दिया गया है.

ओडिशा में पुरी लोकसभा सीट से भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ सत्य प्रकाश नायक को टिकट दिया गया है. इसके साथ ही राज्य की छह अन्य सीटों पर भी उम्मीदवार घोषित किए गए हैं पार्टी ने ओडिशा विधानसभा चुनाव के लिए भी 20 उम्मीदवार घोषित किए हैं. लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी ने यह 14वीं सूची जारी की है. इससे पहले कांग्रेस उत्तर प्रदेश एवं कुछ अन्य राज्यों के लिए 13 बार में कुल 299 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है जिनमें संप्रग प्रमुख सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नाम भी शामिल हैं.

उर्मिला मातोंडकर मुंबई-उत्तर से कांग्रेस उम्मीदवार घोषित

जानीमानी अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर को कांग्रेस ने मुंबई-उत्तर लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार घोषित किया है।

पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक की ओर जारी एक बयान के मुताबिक, कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति ने उर्मिला की उम्मीदवारी को स्वीकृति प्रदान की। उर्मिला गत बुधवार को कांग्रेस में शामिल हुईं थी। उन्होंने पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, कांग्रेस की मुंबई इकाई के अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा और पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी। इससे पहले उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात भी की थी।

गौरतलब है कि उर्मिला 1990 के दशक में हिंदी सिनेमा की शीर्ष अभिनेत्रियों में गिनी जाती थीं। उन्होंने ‘रंगीला, ‘सत्या, ‘खूबसूरत’, ‘जुदाई’, ‘जंगल’ और अन्य कामयाब फिल्मों में काम किया।

इस्तीफा देने पहुंचे कांग्रेस विधायक को खींच ले गए मंत्री

धरमपुरी से कांग्रेस विधायक पांचीलाल मेंढा ने अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री कमलनाथ देने भोपाल पहुंचे। वे अपने क्षेत्र में शराब माफिया पर कार्रवाई नहीं होने से दुखी हैं। विधायक का कहना है कि स्कूल के पास बनीं दो शराब दुकानों को हटाने के लिए मैंने अपने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की थी। इसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों को भी की थी। इसके बाद भी उन पर कार्रवाई नहीं है। सुबह प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर वहां पहुंचे और विधायक मेंढा को मीडिया के सामने ही अपने साथ में खींचकर ले गए।

इस दौरान उन्होंने विधायक को मीडिया से बात भी नहीं करने दी और कहने लगे कि हम साथ में सीएम कमलनाथ से मिलने के लिए जाएंगे। मेंढा मेरे मित्र हैं और मैं उन्हें अपने साथ ले जाऊंगा। मंत्री विधायक को ले गए फिर बंद कमरे में उनके साथ चर्चा की। विधायक का कहना है‍ कि शराब दुकान तो नहीं हटी पर शराब माफिया ने मेरे कार्यकर्ताओं के साथ अभद्रता की है। उन्होंने अतिरिक्त आबकारी अधिकारी राधेश्याम राय को हटाने की मांग की है।

बता दें कि अपने क्षेत्र में शराब माफिया पर कार्रवाई नहीं होने से पांचीलाल मेड़ा दुखी हैं. उनके मुताबिक जिला प्रशासन अपनी मनमानी कर रहा है. वही पांचीलाल ने खुद की जान का ख़तरा भी बताया और मुख्यमंत्री से मिलकर इस संबंध में चर्चा करने की बात कही है.

पांचीलाल का कहना है कि शराब माफिया की वजह से पुलिस ने 4 घंटे तक उन्हें थाने में बैठाए रखा. इस घटनाक्रम से मुझे बहुत मानसिक पीड़ा हुई, जिससे मै बहुत आहत हुआ हूं.

लोकसभा के चुनावी मौसम में कांग्रेस विधायक के इस्तीफे की पेशकश के बाद पूरी कमलनाथ सरकार घबरा गई. आनन फानन में दो कैबिनेट मंत्री गृहमंत्री बाला बच्चन और खाद्य आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर हरकत में आ गए और रुठे विधायक को मनाने सीधे विधायक विश्राम गृह पर पहुंच गए.

इससे पहले कि विधायक पांचीलाल मीडिया के सामने कुछ और पत्ते खोलते, मंत्री उनका हाथ पकड़कर गाड़ी में बैठाकर रवाना हो गए. इस दौरान उन्होंने विधायक को मीडिया से बात भी नहीं करने दी. उधर लंबी बातचीत के बाद आखिरकार रूठे विधायक पांचीलाल को दोनो मंत्रियों मनाकर सीधे मानस भवन में आदिवासी विकास परिषद के कार्यक्रम में ले गए और सीधे मंच पर मौजूद कमलनाथ के साथ बैठा दिया. इस दौरान सीएम कमलनाथ ने भी इशारे इशारे में आदिवासी विधायक पांचीलाल को एक कड़ा संदेश दे दिया कि बोलना सीखो.

वहीं कांग्रेस की मानें तो विधायक पांचीलाल ने इस्तीफा नहीं दिया. उनकी नाराजगी थी, लेकिन उन्हें मना लिया है. लेकिन कांग्रेस ये यकीनन मान रही है कि जिला प्रशासन उनके साथ सहयोग नहीं कर रहा है. विधायकों का मानना है कि अफ़सर अभी भी इस गलतफहमी में है कि सरकार अभी बीजेपी की ही है.

हालांकि ये बात स्पष्ट है कि कांग्रेस विधायक का नाराज़गी और इस्तीफे की पेशकश ने जैसे बीजेपी को कांग्रेस के खिलाफ हमलवार होने का मौका दे दिया है. इधर नेता विपक्ष गोपाल भार्गव ने इसे दुखद बताते हुए कहा कि शराब माफिया से प्रताड़ित होकर इस्तीफे की पेशकश विधायक करे, तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि 80 दिनों में शराब माफिया प्रदेश में किस तरह हावी हो गया है.

अब सवाल ये कि आखिरकार कांग्रेस के एक विधायक की नाराज़गी और फिर पल भर में इस्तीफे की पेशकश से क्यों इतनी खलबली मच गई. इसके लिए मध्यप्रदेश की सत्ता का गणित समझना होगा. दरअसल 230 में से पूर्ण बहुमत 216 का होता है, जिसमें से 114 कांग्रेस विधायकों और दो बीएसपी, एक समाजवादी पार्टी समेत चार निर्दलीय विधायकों के दम पर कमलनाथ सरकार बनी है. जबकि बीजेपी के पास 109 विधायक हैं. इसी जोड़तोड़ के बीच बनी कांग्रेस की सरकार में पहले से ही बीएसपी विधायक रामबाई और निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा की नाराजगी आए दिन जाहिर हो रही है.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना की तीसरी लहर आई तो बच्चों को कैसे दें सुरक्षा कवच

नई दिल्ली 12 मई 2021 । भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार …