मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> मध्‍यप्रदेश में सरकार बनते ही 10 दिन में किसानों के कर्ज माफ करेंगे: राहुल गांधी

मध्‍यप्रदेश में सरकार बनते ही 10 दिन में किसानों के कर्ज माफ करेंगे: राहुल गांधी

नई दिल्ली 16 अक्टूबर 2018 । मध्‍यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा. मैं सिर्फ एक बार प्रधानमंत्री के ऑफिस गया हूं, वह भी किसानों की कर्जमाफी की बात करने, लेकिन प्रधानमंत्री चुप रहे. उन्‍होंने कोई उत्‍तर नहीं दिया. मैं आपसे कोई झूठा वादा नहीं करूंगा कि मैं आपके खाते में
15 लाख रुपए डाल दूंगा.

यह कहना है कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी का. वे सोमवार को मध्‍यप्रदेश के दतिया में एक सभा को संबोधित कर रहे थे. उन्‍होंने कहा कि 70 साल पहले देश गरीब था. यहां रोजगार नहीं था, सड़क नहीं थी, कॉलेज नहीं थे, हॉस्पिटल नहीं थे. हिंदुस्तान को यहां तक पहुचाने में किसानों का बड़ा योगदान रहा है. आज हिंदुस्तान यहां तक पहुंच गया है कि ओबामा ने कहा था कि सिर्फ हिंदुस्तान और चीन ही अमेरिका का मुकाबला कर सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त के भाषण में कहा था कि मेरे प्रधानमंत्री बनने से पहले देश सो रहा था. ऐसा कहकर वे किसका अपमान कर रहे थे.

उन्‍होंने कहा कि किसान अपना कर्ज माफ करने की मांग कर रहे हैं. मनमोहन सिंह ने किसानों का 70 हज़ार करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया था. मैं सिर्फ एक बार पीएम के ऑफिस गया, रिकॉर्ड चेक कर लो आप. मैं किसान की बात करने गया था. मैंने किसानों का कर्ज माफ करने की बात कही, लेकिन पीएम के मुंह से एक शब्द भी नहीं निकला. मध्‍यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा.

राहुल गाँधी के रोडशो में उमड़ा जनसैलाब
ग्वालियर। ग्वालियर चम्बल संभाग के दो दिवसीय दौरे पर आये कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के ग्वालियर में आयोजित रोड शो ने बीजेपी के नेताओं की नींद उड़ा दी है। रोड शो में भारी जन सैलाब उमड़ा। हाथों में कांग्रेस के झंडे लहराते कार्यकर्ता राहुल जिंदाबाद सिंधिया जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे। राहुल गाँधी का यह रोड शो सोशल मीडिया पर भी छा गया|

दतिया और डबरा की सभाओं को करने के बाद राहुल गाँधी शाम को ग्वालियर पहुंचे। उनका हेलिकॉप्टर जयविलास पैलेस में बने हेलीपेड पर उतरा। सबसे पहले वे सिंधिया राजवंश की छत्री गए और पूर्व केन्द्रीय मंत्री माधव राव् सिंधिया को पुष्प अर्पित किये। उनके साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ भी थे। पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद तीनों नेता अचलेश्वर मंदिर पहुंचे जहाँ उन्होंने विशेष पूजा अर्चना की । और देश प्रदेश के लिए सुख शांति की प्रार्थना की।

पूजा करने के बाद जैसे ही राहुल गांधी संकल्प रथ पर सवार हुए ग्वालियर का आसमान राहुल गांधी जिंदाबाद, श्रीमंत सिंधिया जिंदाबाद, कांग्रेस जिंदाबाद के नारों से गूंज उठा। राहुल गांधी के स्वागत में उमड़े कांग्रेस कार्यकर्ता और जनता रोके नहीं रुक रही थी। भीड़ इतनी ज्यादा थी कि संकल्प रथ रेंग रेंग कर चल रहा था। रथ को आगे बढ़ाने के लिए सुरक्षाकर्मियों को जगह बनाने मशक्कत करनी पड़ रही थी। हर कोई राहुल की एक झलक देखना चाहता था और सिंधिया को अपनी शक्ल दिखाना चाहता था।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पिछले दिनों उत्सव वाटिका में ली बैठक में राहुल गांधी के ग्वालियर चम्बल दौरे को ऐतिहासिक बनाने की जिम्मेदारी कार्यकर्ताओं को दी थी और कहा था कि किसको कहाँ स्वागत की जिम्मेदारी दी जाएगी इसकी सूची मेरे पास रहेगी और मैं खुद उसका प्रदर्शन देखूंगा फिर आगे बढ़ाउंगा। चूँकि अभी विधानसभा उम्मीदवारों के नाम की घोषणा होना बाकी है इसलिए कार्यकर्ता जमकर शक्ति प्रदर्शन कर रहे थे।

उधर राहुल के रोड शो ने भाजपा नेताओं की नींद उड़ा दी । अभी तक कम्फर्ट जोन में चल रहे बीजेपी नेताओं को जोर का झटका धीरे से लगा है। उन्हें राहुल के रोड शो में इतनी भीड़ जुटने की बिलकुल उम्मीद नहीं थी। वे लगातार मीडिया के मित्रों या अपने मिलने वालों से भीड़ का अंदाजा लगाने के लिए फोन पर संपर्क करते रहे।

राहुल का चुनावी अभियान,पहले शिव के सामने मत्था टेका फिर मस्जिद में।कई इबादत

अपने दो दिवसीय चुनावी दौरे पर मप्र के ग्वालियर पहुंचे कांग्रेस के राष्टीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने परंपरागत मंदिर मस्जिद पूजा अर्चना के साथ ही की । राहुल गांधी दोपहर हेलीकॉप्टर से ग्वालियर पहुंचे । थोड़ी देर होटल उषा किरण पैलेस में रुकने के बाद वे वे पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता माधव राव सिंधिया की छत्री पर गए और वहां पुष्पांजलि अर्पित की । इसके बाद राहुलगांधी,कमल नाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया प्राचीन अचलेश्वर शिव मंदिर पहुंचे और वहां तीनो ने लगभग पच्चीस मिनिट तक पूरे विधि विधान के साथ भोलेनाथ का अभिषेक और पूजा अर्चना की ।
इसके बाद तीनों खुली गाड़ी में सवार होकर रोड शो पर निकल पड़े । लंबे अरसे बाद ग्वालियर में कांग्रेस के किसी रोड शो में इतनी जबरदस्त भीड़ उमड़ी । पूरे रॉड पर भीड़ ही भीड़ नज़र आ रही थी । भीड़ और उसका उत्साह देखकर राहुल गांधी काफी प्रसन्न दिखे ।

विभिनन मार्गो से रोड शो करते हुए काफिला लगभग सवा आठ बजे वीरांगना लक्ष्मी बाई की बलिदान स्थली पर पहुंचे और वहां अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए । इस मौके पर ज्योतिरादित्य सिंधिया भी उनके साथ श्रद्धानजलि अर्पित करने गए । लक्ष्मी बाई के बहाने भाजपा गाहे बगाहे सिंधिया परिवार पर निशाना साधती रही है ।

इसके बाद राहुल गांधी कार में सवार हो गए । सिंधिया के साथ वे फूलबाग स्थित मोती मस्जिद पहुंचे । वहां राहुल ने पहले परंपरा के अनुसार उन्होंने बाहर पानी से बुजु किया और फिर इबादत के लिए मस्जिद के अंदर चले गए ।

महारानी ने सुने भासण ,सभा में पहुंची

सिंधिया राजपरिवार की महारानी प्रियदर्शनी राजे सिंधिया फूलबाग मैदान पर कांग्रेस के रोड शो के बाद आयोजित सभा को सुनने पहुंचीं .भीड़ और मंच से दूर महारानी मंच के दाहनी तरफ दीवार की आड़ में खड़ी होकर कांग्रेस की सभा में आये नेताओं के भासण सुन रहीं थीं .उनके इस सादगी के अंदाज की लोग तारीफ करते सुने गए .हांलाकि महारानी पर जब महिला नेत्रियों की नजर पड़ी तो बे सभी जोर -जोर से चिल्लाने लगीं ,महारानी -महारानी .यह सुन बे दीवार से पीछे हट गईं.फिर दीवार के पास आकर खड़ीं हो गईं .जब मंच पर राहुल गाँधी भाषण देने आये तो उन्होंने ताली बजाकर ताली बजने के लिए जनता की तरफ इशारा किया तो जोर से तालियां बजने लगी .मंच पर बैठे नेता नहीं समझ पाए की यह तालियां किसके निवेदन पर बज रहीं हैं .भीड़ की नजर महारानी की तरफ थी ,तब नेताओं ने देखा तो दीवार की तरफ महारानी खड़ी नजर आईं फिर खूब तालियां बजी .महारानी राहुल गाँधी का भाषण सुनने के बाद महल रवाना हो गईं .

दिग्विजय का छलका दर्द, बोले- मेरे भाषण से कांग्रेस के वोट कटते हैं, इसलिए रैलियों में नहीं जाता

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कभी कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का कार्यकर्ताओं के बीच दर्द छलकता नजर आया है। कार्यकर्ताओं के बीच वेदना प्रकट करते हुए दिग्विजय सिंह कहते हैं, ‘मेरे भाषण से कांग्रेस के वोट कटते हैं, इसलिए मैं रैलियों में नहीं जाता।’ सिंह ने यह बात विधायक जीतू पटवारी के भोपाल स्थित सरकारी निवास पर कार्यकर्ताओं से चलते-चलते हुई मुलाकात के दौरान कही। उनका ये कहते हुए एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

‘मेरे भाषण से कांग्रेस के वोट कटते हैं’

जानकारी के मुताबिक, दिग्विजय सिंह दो दिन पहले कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी के घर पहुंचे थे और वहां से बाहर निकलते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से उनका सामना हो गया, जो उनके इंतजार में बाहर खड़े थे। इस दौरान दिग्विजय सिंह ने साफ शब्दों में कार्यकर्ताओं से कहा, ‘देखते रह जाओगे। ऐसे सरकार नहीं बनेगी। जिसको टिकट मिले, चाहे दुश्मन को टिकट मिले, जिताओ।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मेरा काम सिर्फ एक है- कोई प्रचार नहीं, कोई भाषण नहीं। मेरे भाषण देने से तो कांग्रेस के वोट कटते हैं इसलिए मैं कहीं जाता ही नहीं।’

तो क्या इस कारण छलका दर्द?

आपको याद हो तो, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भोपाल में हुए रोड शो और भेल दशहरा मैदान में हुई रैली स्थल पर दिग्विजय सिंह के कटआउट नदारक दिखाई दिए थे। जबकि पूरा शहर तमाम कांग्रेसी नेताओं की तस्वीरें और होर्डिंग्स से पटा पड़ा था। दिग्विजय सिंह की होर्डिंग नजर ना आने से पार्टी की आपसी गुटबाजी भी साफ नजर आई। ऐसे में इस पर खूब राजनीति भी हुई। हालांकि बाद में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने उनसे माफी भी मांगी थी। जाहिर है कि इस घटना ने दिग्विजय सिंह को काफी आहत किया होगा। इस बीच पार्टी के ही कुछ अन्य नेता का मानना है कि दिग्विजय के खिलाफ कांग्रेस में ही साजिश हो रही है।

गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह के खिलाफ भाजपा द्वारा 2003 में मिस्टर बंटाधार का नारा दिया गया था। अभी भी भाजपा उनके कार्यकाल के दिनों को जनता को याद दिलाती रहती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर तमाम राष्ट्रीय नेता दिग्विजय सरकार के कार्यकाल की सड़क, बिजली की हालत को भाषण में बताकर जनता की यादों को ताजा करते रहते हैं। यही कारण है कि कांग्रेस हाईकमान ने भी उन्हें एक रणनीति के तहत इस विधानसभा चुनाव में जनता के सामने जाने से रोका है और समन्वय समिति का अध्यक्ष बनाकर रूठे हुए कांग्रेस नेताओं को मनाने व संगठन को सक्रिय करने की जिम्मेदारी दी है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

अमित शाह के बयान पर नीतीश कुमार का तंज, बोले- इतिहास कोई कैसे बदल सकता है

नयी दिल्ली 14 जून 2022 । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी सहयोगी पार्टी बीजेपी …