मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> राहुल की रैलियां रद्द, ममता की हुईं कम…बीजेपी ‘अपना बूथ कोरोना मुक्त’ के भरोसे

राहुल की रैलियां रद्द, ममता की हुईं कम…बीजेपी ‘अपना बूथ कोरोना मुक्त’ के भरोसे

नई दिल्ली 19 अप्रैल 2021 । देश में कोरोना संक्रमण के मामले रिकॉर्ड तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में 8419 नए मामले आए हैं और 28 लोगों की मौत हो गई है. कोरोना संकट के बीच हो रहे पश्चिम बंगाल में चुनाव को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कल बंगाल में अपनी चुनावी रैली को रद्द करने का ऐलान किया था. इसके तुरंत बाद टीएमसी प्रमुख मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कोलकाता में चुनाव प्रचार नहीं करने और बाकी रैली के समय को घटाने का ऐलान किया है. हालांकि, बीजेपी ने ‘अपना बूथ कोरोना मुक्त’ अभियान शुरू किया है.

मोदी की 6 और शाह की 8 रैलियां प्रस्तावित

पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच विधानसभा चुनाव के अभी तीन चरण की वोटिंग बाकी है. राज्य में छठे चरण के लिए 22 अप्रैल, सातवें चरण के लिए 26 अप्रैल और आठवें चरण के लिए 29 अप्रैल को वोटिंग होगी. अगले आठ दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 6 और अमित शाह की 8 रैलियां प्रस्तावित हैं. साथ ही बीजेपी सहित अन्य पार्टी के अन्य नेताओं की जनसभाएं, रोड शो और बैठक भी होनी हैं.

ममता ने रैलियों का समय कम किया

टीएमसी प्रमुख व सीएम ममता बनर्जी की अगले एक सप्ताह में कुल 17 रैलियां होनी थी, जिसमें से उन्होंने कोलकाता की सारी रैलियों को रद्द कर दिया है. बाकी रैलियों के समय को घटा दिया गया है. टीएमसी प्रवक्ता और सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट कर बताया कि ममता बनर्जी अब कोलकाता में चुनाव प्रचार नहीं करेंगी. उन्होंने कहा कि अंतिम चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन यानी 26 अप्रैल को वो शहर में केवल एक प्रतीकात्मक बैठक में हिस्सा लेंगी. उन्होंने यह भी जानकारी दी कि अब राज्य के सभी ज़िलों में होने वाली ममता बनर्जी की रैलियों का समय कम किया गया है. अब उनकी कोई भी सभा आधे घंटे से ज्यादा लंबी नहीं होगी.

राहुल गांधी ने चुनावी रैलियां रद्द की

बता दें कि कोरोना के बिगड़ते हालात देखते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल में अपनी सभी चुनावी रैलियां रद्द कर दी हैं. बंगाल में अब तक हुए चुनाव प्रचार में राहुल गांधी महज एक बार रैली करने राज्य गए. उन्होंने चौथे चरण के अंतिम दिन दो जनसभाओं को संबोधित किया था. ऐसे में अब उन्होंने सारे कार्यक्रम रद्द कर दूसरे दलों से भी रैलियां रद्द करने की अपील है.

राहुल गांधी ने कहा था, ‘कोरोना की स्थिति को देखते हुए मैं बंगाल में अपनी सभी सार्वजनिक रैलियों को स्थगित कर रहा हूं. मैं सभी राजनीतिक नेताओं को सलाह दूंगा कि मौजूदा परिस्थितियों में बड़ी सार्वजनिक रैलियों के आयोजन के परिणामों पर गहराई से विचार करें.’ राहुल के इस कदम के बाद सियासी दलों पर दबाव बढ़ गया है, जिसके चलते ममता ने आगामी फेज के चुनाव प्रचार को कम कर दिया है.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच चुनाव प्रचार

बंगाल में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए बड़े पैमाने पर चुनाव प्रचार को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं. सभी रैलियों में बड़ी तादाद में भीड़ जुट रही है, जहां कोरोना प्रोटोकॉल का कोई पालन नहीं किया जा रहा है. चुनावी रैलियों में बड़ी संख्या में लोग मास्क लगाए नहीं नजर आ रहे हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग पालन किया जा रहा है.

पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में 8,419 नए कोरोना के मामले हैं जबकि 28 लोगों की मौत हुई है. राज्य में कोरोना के कुल केस की संख्या 6,59,927 तक पहुंच गई है. अबतक 10,568 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में कोलकाता में 2,197 नए मामले सामने आए जबकि उत्तर 24 परगना जिले में 1,860 संक्रमण के केस आए हैं.

पश्चिम बंगाल में छठे चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार सोमवार को शाम समाप्त हो जाएगा. हालांकि गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को राज्य के नदिया जिले में रोड शो और रैली की. एक दिन पहले भी उन्होंने उत्तर 24 परगना ज़िले के आमडांगा में रोड शो किया था.

प्रधानमंत्री मोदी ने भी शनिवार को आसनसोल में जनसभा की थी. प्रधानमंत्री 22 और 24 अप्रैल को राज्य का दौरा करने वाले हैं. पीएम मोदी 22 अप्रैल को छठे चरण के मतदान के दिन मालदा और मुर्शिदाबाद में सभाएं करेंगे. वहीं 24 अप्रैल को वो बोलपुर और दक्षिण कोलकाता में रैलियां करेंगे.

बीजेपी का ‘अपना बूथ कोरोना मुक्त’ अभियान

वहीं, देश में कोरोना के बढ़ते मामलो के बीच बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को पार्टी पदाधिकारियों से कहा कि देश में कोरोना संक्रमण के मामले बेतहाशा बढ़ोतरी को देखते हुए ‘अपना बूथ कोरोना मुक्त’ अभियान चलाएं. पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों और राज्य इकाई के प्रमुखों को ऑनलाइन संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि सहायता डेस्क बनाएं और लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करें. उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराने के उपाय करने चाहिए. साथ ही बीजेपी सदस्यों को मास्क और सैनिटाइजर बांटना चाहिए और प्लाज्मा दान करने के लिए स्थानीय प्रशासन के साथ समन्वय करना चाहिए.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना की तीसरी लहर आई तो बच्चों को कैसे दें सुरक्षा कवच

नई दिल्ली 12 मई 2021 । भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार …