मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति का इस्तीफा राजभवन ने किया अस्वीकार।

विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति का इस्तीफा राजभवन ने किया अस्वीकार।

उज्जैन 27 सितम्बर 2019 । विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ बालकृष्ण शर्मा ने अपना इस्तीफा राजभवन भेज दिया जहाँ से इसे अस्वीकार कर लौटा दिया गया। विक्रम के गलियारों में आज दिनभर कुलपति के इस्तीफे की चर्चा रही।
मिली जानकारी के अनुसार के अनुसार कुलपति ने पद पर बने रहने से अनिच्छा जाहिर करते हुए राजभवन को इस्तीफा भेजा। यहाँ बात दें कि पूर्व कुलपति के भ्रष्टाचार में लिप्तता और उसकी जांच के चलते त्यागपत्र देने के बाद राज्य सरकार ने विक्रम यूनिवर्सिटी में धारा 52 लगा दी थी और इसी के तहत डॉ बालकृष्ण शर्मा को कुलपति बनाया था। लेकिन डॉ शर्मा भी यूनिवर्सिटी के बिगड़े हुए ढर्रे को सुधारने में नाकाम रहे और आखिरकार अपना इस्तीफा राजभवन भेज दिया।

राजभवन कर रहा स्थायी कुलपति भेजने की तैयारी।
धारा 52 के कुलपति द्वारा विश्वविद्यालय के सुचारू संचालन में असफल होने को देखते हुए राजभवन और राज्य सरकार यहाँ स्थायी कुलपति भेजने की तैयारी कर रहे है। सूत्र बताते है कि राजभवन की कुलपति चयन समिति विश्वविद्यालय के ही एक दबंग प्रोफेसर को ( पूर्व में अन्य विश्वविधालय में भी कुलपति रहे )स्थायी कुलपति बनाने पर विचार कर रही है और सारे राजनीतिक पांसे वेसे ही बिछाए जा रहे है। जल्द ही इसकी घोषणा की जा सकती है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

किश्तवाड़ में बादल फटने से पांच की मौत, 40 से ज्यादा लोग लापता

नई दिल्ली 28 जुलाई 2021 ।  जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश का कहर देखने को मिला …