मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> राज्यसभा चुनाव : अप्रैल में खाली हो रहीं 55 सीटों के लिए 26 मार्च को मतदान

राज्यसभा चुनाव : अप्रैल में खाली हो रहीं 55 सीटों के लिए 26 मार्च को मतदान

नई दिल्ली 27 फरवरी 2020 । मध्य प्रदेश में राज्यसभा की 3 सीटों पर चुनाव के लिए 6 मार्च को अधिसूचना जारी होगी। 13 मार्च तक नामांकन पत्र दाखिल किए जा सकेंगे और 16 मार्च को इनकी जांच होगी। 18 मार्च तक प्रत्याशी नाम वापस ले सकते हैं। चुनाव के लिए मतदान 26 मार्च को होगा और इसी दिन मतों की गिनती होगी। पूरी चुनाव प्रक्रिया 30 मार्च तक पूरी कर ली जाएगी।

मध्यप्रदेश से 3 राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह, प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया का कार्यकाल 9 अप्रैल को पूरा हो रहा है। विधानसभा में वर्तमान में विधायकों की संख्या के आधार पर माना जा रहा है कि इन 3 में से 2 सीटों पर कांग्रेस और एक सीट पर भाजपा प्रत्याशी जीत हासिल करेंगे। राज्य में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस और मुख्य विपक्षी दल भाजपा की ओर से राज्यसभा जाने के इच्छुक दावेदार सक्रिय हो गए हैं। मध्यप्रदेश से राज्यसभा की कुल 11 सीट हैं।

अप्रैल में मध्य प्रदेश से राज्यसभा की 3 सीटें खाली हो रही हैं। इनमें से फिलहाल 2 भाजपा और 1 कांग्रेस के पास है, लेकिन प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के साथ ही राज्यसभा सीटों का समीकरण भी बदल गया है। अब कांग्रेस के खाते में 2 और भाजपा के खाते में 1 सीट जाना तय माना जा रहा है।

ये है राज्यसभा का समीकरण

विधानसभा में विधायकों की संख्या के आधार पर राज्यसभा सीट का निर्धारण होता है।

एक राज्यसभा सीट के लिए 58 विधायकों की आवश्यकता होती है।

मप्र में 2 विधायकों के निधन के बाद खाली हुई सीट के अलावा 228 विधायक हैं।

विधानसभा में कांग्रेस के पास 115 विधायक हैं। (सरकार में मंत्री 1 निर्दलीय भी शामिल)

सरकार को अन्य 3 निर्दलीय विधायक, 2 बसपा और 1 सपा विधायक का भी समर्थन।

कांग्रेस के हिस्से में 115 विधायकों और 6 निर्दलीय के समर्थन से 2 राज्यसभा सीट मिलेंगी।

भाजपा के पास 107 विधायक हैं। वोटिंग में महज एक सीट ही हिस्से में आएगी।

कौन हैं राज्यसभा जाने के दावेदार
राज्यसभा की 3 सीटों पर दोनों की पार्टियों से नेता अपनी दावेदारी जता रहे हैं, लेकिन कांग्रेस में ज्यादा घमासान मचा है। यहां पर दिग्विजय सिंह का कार्यकाल खत्म हो रहा है, वो दोबारा राज्यसभा के लिए गणित भिड़ा रहे हैं। पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के राज्यसभा में भेजे जाने की मांग कांग्रेस के एक खेमे से लगातार उठ रही है। वहीं, प्रियंका गांधी का नाम भी सुर्खियों में हैं। अगर प्रियंका गांधी का नाम मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए फाइनल होता है तो सिंधिया और दिग्विजय सिंह में एक का पत्ता कटना तय है। भाजपा में प्रभात झा दोबारा राज्यसभा जाने का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि उन्हें फिर से मौका मिलेगा या नहीं, ये अभी पक्का नहीं है।

राज्यसभा चुनाव कार्यक्रम

नोटिफिकेशन जारी होने की तारीख – 6 मार्च

नॉमिनेशन फाइल करने की आखिरी तारीख – 13 मार्च

नॉमिनेशन की स्क्रूटनी – 16 मार्च

नाम वापसी की आखिरी तारीख – 18 मार्च

निर्वाचन की तारीख – 26 मार्च

मतदान – 9 बजे से 4 बजे तक

वोटो की गिनती – शाम 5 बजे (26 मार्च)

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

सुनील गावस्कर ने बताया, महेंद्र सिंह धोनी के बाद कौन सा बल्लेबाज नंबर-6 पर बेस्ट फिनिशर की भूमिका निभा सकता है

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट के बाद भारत को …