मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> रैली की भीड़ से 20 KM तक लगा जाम

रैली की भीड़ से 20 KM तक लगा जाम

करौली 12 सितम्बर 2018 । राजस्थान के करौली में कांग्रेस ने राज्य में अब तक की सबसे बड़ी सभा कर अपनी ताकत का एहसास कराया है. रैली में भीड़ इतनी उमड़ी कि कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट जनता के बीच मोटरसाइकिल पर सवार होकर पहुंचे. हर तरफ 20 किलोमीटर तक का जाम लगा हुआ था, तब पायलट ने एक कार्यकर्ता से मोटरसाइकिल मांगी और गहलोत को बैठाकर सभा स्थल तक पहुंचे.

करौली के त्रिलोक चंद माथुर स्टेडियम में आयोजित रैली में भारी भीड़ के कारण लोगों को पैर रखने तक की जगह नहीं मिल रही थी. स्टेडियम के बाहर भी हजारों लोगों की भीड़ का जमावड़ा बना रहा. वहीं सड़क पर हजारों वाहनों के कारण जाम की स्थिति रही, जिससे अन्य वाहनों का आवागमन बंद हो गया. 6 घंटे देरी से पहुंचे कांग्रेस नेताओं को 15 किमी पहले अपने वाहन छोड़ने पड़े.

सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि भाजपा ने झूठ बोलकर चुनाव जीता है. कांग्रेस ने हार को विनम्रता से स्वीकार किया, लेकिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बहुमत का सम्मान नहीं किया. गहलोत ने कार्यकर्ताओं से कहा कि वह कांग्रेस को जिताने का संकल्प लेकर जाएं. टिकट एक को ही मिलता है, कांग्रेस का टिकट मिलने के बाद उस उम्मीदवार को जिताने में जुट जाएं.

सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि करौली में अब तक कई राजनीतिक दलों की सभाएं हुई हैं, लेकिन कांग्रेस की संकल्प रैली अब तक की सबसे बड़ी और ऐतिहासिक सभा बन गई है. पायलट ने कहा कि भाजपा ने लोगों को लड़ाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस को इतना बहुमत दीजिए कि दिल्ली की सरकार भी हिल जाए.

सचिन पायलट ने सीएम राजे पर पलटवार करते हुए कहा, ‘वो मेरे बारे में बोलती हैं कि सचिन नौसिखिया है. वसुंधरा जी मेरे से बड़ी हैं, मैं उनका सम्मान करता हूं. लेकिन राजनीति के अखाड़े में पटखनी देने में कोई कसर नहीं छोडूंगा. लोकतंत्र में राजा, राजघरानों से नहीं किसानों की कोख से पैदा होते हैं. मैं किसान परिवार से आता हूं, वो राजघराने से आती हैं. उन्होंने वसुंधरा राजे पर महलों में रहकर फरमान जारी करने के भी आरोप लगाए.

कांग्रेस की गुटबाजी आई सामने

करौली में मंगलवार को आयोजित हुई कांग्रेस की संकल्प रैली में सभा स्थल पर कार्यकर्ताओं के बीच गुटबाजी उभरकर आई. जब सपोटरा विधायक रमेश मीणा मंच से बोल रहे थे, तब कांग्रेस की पूर्व जिलाध्यक्ष अलका मीणा के समर्थकों ने काले झंडे दिखाकर विरोध जताया और रमेश मीणा के खिलाफ नारेबाजी की. आरोप है कि इसके बाद रमेश मीणा के समर्थकों ने काले झंडे दिखाने वाले अलका मीणा के समर्थकों के साथ मारपीट भी की, जिसमे पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष हरकेश मीणा सहित एक दर्जन कांग्रेस कार्यकर्ता चोटिल हुए हैं. वहीं हरकेश मीणा को उपचार के लिए जयपुर ले जाया गया है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं की गुटबाजी का मामला सभा के बाद चर्चा का विषय बना रहा.

सवर्ण समाज और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प

एससी-एसटी एक्ट का विरोध कर रहे सवर्ण और ओबीसी वर्ग के लोगों पर आज हिंडोन के चौपड़ सर्किल पर कांग्रेस के पदाधिकारियों ने गुस्से में हमला बोल दिया. दोनों पक्षों के बीच चल रहे झड़प को रोकने के प्रयास करते वक्त एक पुलिसकर्मी भी सिर पर पत्थर लगने से घायल हो गया. करौली में आयोजित संकल्प रैली में पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट एवं पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के काफिले को सवर्ण समाज और ओबीसी वर्ग के लोगों ने काले झंडे दिखाकर एससी-एसटी एक्ट का विरोध किया.

नेता प्रतिपक्ष राहुल ने मुख्य मंत्री पर साधा निशाना : रथ से जमीन पर आ गये

मुख्य मंत्री के जन आशिर्वाद यात्रा के बाद गिरफ्तारी के विरोध में जिला कांग्रेस ने आज धावा बोल आंदोलन किया | पूजा पार्क में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह “राहुल” ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुये कहा कि मुख्यमंत्री को सीधी जिले की जनता ने ढाई करोड़ के रथ से उतार कर जमीन पर ला दिया है । अब वह रथ में चढ़कर आशीर्वाद नहीं मांग रहे हैं।यह उनके लिए संकेत है कि अब उनकी पार्टी सीधी -सिंगरौली जिला की सीटें हार रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष राहुल ने मुख्य मंत्री पर साधा निशाना : रथ से जमीन पर आ गये
नेता प्रतिपक्ष राहुल ने मुख्य मंत्री पर साधा निशाना : रथ से जमीन पर आ गये

श्री राहुल ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री के रथ पर पटपरा में पथराव हुआ था, तो उसके बाद चुरहट सहित तीन सभायें करने के बावजूद उन्होंने कही इस बात का उल्लेख नहीं किया कि उनके ऊपर जानलेवा हमला हुआ है | लेकिन सर्किट हाउस पहुंचते-पहुंचते मध्य रात्रि को आनन-फानन में जिस तरह से 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया और यह कहा गया कि उनके ऊपर जानलेवा हमला हुआ है | अपनी वायदा खिलाफी से जगह-जगह जन आक्रोश के शिकार हुये मुख्यमंत्री ने सुनियोजित साजिश के तहत कांग्रेस कार्यकर्ताओ पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया |

सिहावल विधायक कमलेश्वर पटेल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं पर झूठे आरोप लगा कर उन्हें जेल भेजा जा रहा है | यह अपमान और अत्याचार सीधी जिला एवंकांग्रेस पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। इस चुनाव में भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी।

सभा को कांग्रेस नेता राजेन्द्र मिश्रा सहित जिला कांग्रेस अध्यक्ष रुद्रप्रताप सिंह बाबा, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष आनंद सिंह चौहान, महिला, कांग्रेस अध्यक्ष बसंती कोल, पूर्व विधायक कमलेश्वर द्विवेदी, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष एवं पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष चिंतामणि तिवारी, पूर्व विधायक तिलकराज सिंह निवास सहित करीब दर्जन भर कांग्रेसियों ने संबोधित किया।

धावा बोल आंदोलन में जिले के सुदूर ग्रामीण अंचल से कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व सांसद द्वय सर्वश्री मानिक सिंह व तिलकराज सिंह बरका, प्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधि श्यामवती सिंह, कांग्रेस जिला महामंत्री भानू पांडेय, युवा कांग्रेस नेता ज्ञान सिंह चौहान, कांग्रेस नेत्री कुमुदनी सिंह , युवक कांग्रेस अध्यक्ष रंजना मिश्रा , तिलकराज सिंह डालापीपर,धौहनी विधानसभा प्रभारी आनंद सिंह शेरगांव, मडवास मंडल प्रभारी संतोष तिवारी, कुसमी ब्लाक अध्यक्ष नंदलाल सिंह एवं आनंद बहादुर सिंह का ददुआ कांग्रेस नेता अजीत सिंह सरदार, प्रकाश परिहार विनोद गहरवार, दिग्विजय सिंह राहुल,सुरेश सिंह नौढिया दिनेश द्विवेदी, ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई |

मप्र अपराधियों की century बन चुका है- कमलनाथ
मध्‍यप्रदेश कांग्रेस के अध्‍यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश में तंज कसते हुए कहा है कि मध्‍यप्रदेश अपराधियों की सेंचुरी बन चुका है। उन्‍होंने शिवपुरी में दलित व्यक्ति की हत्या पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आज प्रदेश की क़ानून व्यवस्था की स्थिति बेहद खराब है। आज दलित हो, किसान हो या महिलाएँ सभी शिवराज की सरकार में अत्याचार का शिकार हो रहे हैं। NCRB रिपोर्ट पर उन्‍होंने कहा कि बीजेपी सरकार रिपोर्ट दबा रही है, क्योंकि इससे सच्चाई का पर्दाफाश हो जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि प्रदेश अंधेरे की तरफ़ बढ़ रहा है। इन सब बातों से बेख़बर शिवराज सिंह जनआशीर्वाद यात्रा में व्यस्त है। पोहरी पुल वाले मामले पर बोलते हुए नाथ ने कहा कि मप्र में वही ठेके होते है, जिसमें 15 से 20 फीसदी कमीशन मिलता है। सबने शिकायत की थी लेकिन किसी ने नहीं सुना। कमलनाथ ने कहा कि हम संविधान के साथ है सबके साथ न्याय होना चाहिए।

राम पथ गमन पर बीजेपी के आरोपों पर नाथ ने कहा कि क्या बीजेपी ने धर्म का ठेका लिया है। हमें बीजेपी से कोई प्रमाण पत्र नहीं चाहिए। बीजेपी धर्म का राजनीतिक मंच पर उपयोग करती है। हम राम गमन पथ का निर्माण करेंगे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

फ्रांस से भारत आएंगे 4 और राफेल लड़ाकू विमान, 101 स्क्वाड्रन को फिर से जिंदा करने के लिए IAF तैयार

नई दिल्ली 15 मई 2021 । राफेल लड़ाकू विमान का एक और जत्था 19-20 मई …