मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> JNU में फिर लहराया लाल परचम, चारों सीटों पर लेफ्ट यूनिटी का कब्जा

JNU में फिर लहराया लाल परचम, चारों सीटों पर लेफ्ट यूनिटी का कब्जा

नई दिल्ली 17 सितम्बर 2018 । देश के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में एक बार फिर से लेफ्ट का परचम लहराया है. रविवार को आए नतीजों में चारों सीटों पर लेफ्ट यूनिटी के प्रत्याशियों को जीत मिली है. अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त सचिव के पद लेफ्ट यूनिटी के खाते में गए हैं. वहीं सभी पदों पर ABVP दूसरे स्थान पर रही है.

कैंपस में शुक्रवार को वोटिंग तो हो गई लेकिन नतीजे आने में काफी वक्त लगा. छात्र संगठनों में झड़प की वजह से कई बार मतगणना को रोका गया लेकिन 14 घंटे बाद रविवार को फिर से काउंटिंग शुरू गो पाई.

इस साल कैंपस में 70 फीसदी वोटिंग हुई थी जो बीते 6 साल में अबतक का सबसे ज्यादा मतदान है. लेफ्ट यूनिटी में आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा), स्टूडेंट्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसएफआई), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) और ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) शामिल हैं जिन्होंने एन बालाजी के अपना अध्यक्ष उम्मीदवार नियुक्त किया था.

रविवार को छात्रसंघ चुनाव के नतीजे आ गए इनमें…

अध्यक्ष

N Sai Balaji (Left Unity)- 2151

Lalit Pandey (ABVP )-972

1179 वोटों से लेफ्ट की जीत

उपाध्यक्ष

Sarika (Left Unity)- 2592

Geeta Sri (ABVP)- 1013

1579 वोटों से लेफ्ट की जीत

महासचिव

Aejaj (Left Unity)- 2426

Ganesh (ABVP)- 1235

1193 वोटों से लेफ्ट की जीत

संयुक्त सचिव

Amutha (Left Unity)- 2047

Venkat Chaubey (ABVP)- 1290

757 वोटों से लेफ्ट की जीत

छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) और लेफ्ट समर्थक संगठनों के बीच यहां मुख्य मुकाबला था.

JNU फिर लाल, लेफ्ट यूनिटी ने किया क्लीन स्वीप

आइसा, एसएफआई, एआईएसएफ और डीएसएफ – के संयुक्त मोर्चा (वाम एकता) ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) चुनावों में केंद्रीय पैनल के सभी चार पदों पर जीत दर्ज की. जेएनयूएसयू चुनाव संपन्न कराने के लिए गठित चुनाव समिति ने रविवार को यह घोषणा की.

वाम एकता की तरफ से अध्यक्ष पद के उम्मीदवार एन. साई बालाजी को 2,161 वोट मिले और उन्होंने इस पद पर जीत दर्ज की जबकि उपाध्यक्ष पद के लिए वाम एकता की उम्मीदवार सारिका चौधरी सबसे अधिक 2,692 वोट हासिल कर विजयी हुईं.

महासचिव पद के लिए वाम एकता के उम्मीदवार ऐजाज अहमद को 2,423 वोट मिले और उन्होंने इस पद पर जीत दर्ज की. वाम एकता की तरफ से संयुक्त सचिव पद की उम्मीदवार अमुथा को 2,047 वोट मिले और उन्होंने भी जीत हासिल की.

वाम समर्थित ऑल इंडिया स्टूडेंट्स असोसिएशन (आइसा), स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) और ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) ने वाम एकता (लेफ्ट यूनिटी) नाम का गठबंधन बनाकर जेएनयूएसयू चुनाव लड़ा था.

वाम एकता के अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी), कांग्रेस की छात्र इकाई नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) और बिरसा आंबेडकर फुले स्टूडेंट्स असोसिएशन (बापसा) के भी उम्मीदवार चुनावी मैदान में थे.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Ram Mandir निर्माण के लिए Rajasthan के लोगों ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

जयपुर: विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के …