मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> IT रिटर्न भरने वालों की संख्‍या में आई कमी

IT रिटर्न भरने वालों की संख्‍या में आई कमी

नई दिल्ली 3 मई 2019 । इनकम टैक्‍स रिटर्न भरने वालों की संख्या में 2018-19 में सात लाख यानी करीब एक प्रतिशत की कमी आने की आशंका है. ब्रोकरेज कंपनी कोटक सिक्योरिटीज ने आधिकारिक आंकड़ों के हवाले से अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि 2018-19 में 6.68 करोड़ रिटर्न भरे गये जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में यह संख्या 6.75 करोड़ थी. यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब सरकार लगातार टैक्‍स बेस बढ़ाने पर जोर दे रही है.

यही वजह है कि रिपोर्ट में भी इस कमी पर हैरानी जताई गई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी के बाद यह उम्मीद थी कि टैक्‍स दायरा बढ़ेगा. ऐसे में टैक्‍स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्या में कमी हैरान करने वाली है. बता दें कि सरकार की ओर से लगातार नोटबंदी के कदम के फायदे के रूप में टैक्‍स रिटर्न भरने वालों की संख्या में वृद्धि को गिनाया जाता है.

आईएएनएस की हाल ही में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में बनने वाली नई सरकार पूर्ण बजट में चालू वित्त वर्ष के लिए निर्धारित 13.80 लाख करोड़ रुपये के प्रत्यक्ष कर संग्रह लक्ष्य में कटौती कर सकती है.

सूत्रों के मुताबिक, “राजस्व विभाग बजट में 13.80 लाख करोड़ रुपये के वर्तमान प्रत्यक्ष कर संग्रह लक्ष्य में कटौती करने की दिशा में कोशिश कर सकता है, क्योंकि 21 फीसदी की वृद्धि (वास्तविक संशोधित 11.4 लाख करोड़ रुपये प्रत्यक्ष कर संग्रह लक्ष्य के मुकाबले) हासिल करना कठिन है. मौजूदा लक्ष्य को पूरा करना कठिन है. पिछले वित्त वर्ष में 12 लाख करोड़ रुपये का लक्ष्य पूरा नहीं हो सका था। इसलिए कटौती के परिमाण पर विचार किया जा सकता है.”

बता दें कि फरवरी में पेश किए गए अंतरिम बजट में चालू वित्त वर्ष में प्रत्यक्ष करों से 13.80 लाख करोड़ रुपये संग्रह करने का लक्ष्य रखा गया है, जबकि पिछले वित्त वर्ष में यह लक्ष्य 12 लाख करोड़ रुपये था. प्रत्यक्ष करों में कॉरपोरेट कर और व्यक्तिगत आयकर शामिल हैं.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …