मुख्य पृष्ठ >> सोनिया गांधी से मिले कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जताई नाराजगी

सोनिया गांधी से मिले कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जताई नाराजगी

नई दिल्ली 15 फरवरी 2020 । मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक राज्यसभा चुनाव को लेकर दोनों के बीच बातचीत हुई है. मुलाकात के दौरान कमलनाथ ने कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की ओर से राज्य सरकार पर किए गए ताजा हमले को लेकर अपनी नाराजगी भी जाहिर की.

कहा जा रहा है कि कांग्रेस के वचनपत्र (घोषणापत्र) को लागू किए जाने पर कई नेताओं की ओर से सवाल खड़े किए जाने के मुद्दे पर भी मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सोनिया गांधी से बात की. कमल नाथ ने कहा, मैंने पार्टी अध्यक्ष से मुलाकात की है और चर्चा की है कि राज्य में सरकार वचनपत्र के वादों को पूरा करने में कितनी सक्षम है.

पार्टी के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्यप्रदेश के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने में पार्टी के गंभीरता न दिखाने पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा, “अगर कांग्रेस कोई वादा करती है, तो वह उसे पूरा करे. अन्यथा, हम सड़कों पर उतर आएंगे.” राज्य कांग्रेस के कुछ नेताओं ने मांग की है कि पार्टी को अपने घोषणापत्र में किए गए वादों को निभाना चाहिए. राज्यमंत्री गोविंद सिंह ने हाल ही में एक सार्वजनिक समारोह में कहा कि धन की कमी की वजह से कुछ वादे पूरे नहीं हो पाए.

अभी हाल में कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणामों को निराशाजनक करार देते हुए कहा था कि पार्टी को नई विचारधारा, नई सोच और कामकाज के नए तरीकों से खुद को मजबूत करने की जरूरत है. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, “दिल्ली के परिणाम पार्टी के लिए बहुत निराशाजनक हैं और नई सोच, नई विचारधारा व कामकाज के नए तरीकों की आवश्यकता है.

अपनी ही पार्टी पर सिंधिया का बड़ा बयान… कांग्रेस को नई सोच, नई विचारधारा की सख्त जरूरत

दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की निराशाजनक प्रदर्शन पर कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने मध्य प्रदेश के पृथ्वीपुर में कहा कि कांग्रेस को नई सोच, नई विचारधारा और नई कार्यप्रणाली की सख्त जरूरत है। दिल्ली चुनाव परिणाम बहुत निराशाजनक रहे हैं। पार्टी को इस पर मंथन करना चाहिए और अपनी विचार धारा बदलनी चाहिए अब देश बदल चुका है हमें इसके समक्ष जाना चाहिए। बता दें कि हाल ही में हुए दिल्ली विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है। 2015 की तरह इस बार भी कांग्रेस दिल्ली में खाता तक भी खोल नहीं पाई है। जहां तक 67 उम्मीदवारों की जमानतें भी जब्त हो गई है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

जमीन विवाद में नया खुलासा, ट्रस्ट ने उसी दिन 8 करोड़ में की थी एक और डील

नई दिल्ली 17 जून 2021 । अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी …