मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> मार्केट से गायब हो गया घर में शीतल पेय के तौर पर मौजूद रहने वाला रूहअफजा

मार्केट से गायब हो गया घर में शीतल पेय के तौर पर मौजूद रहने वाला रूहअफजा

नई दिल्ली 14 अप्रैल 2019 । गर्मियों में हर घर में शीतल पेय के तौर पर मौजूद रहने वाला रूहअफजा मार्केट से गायब हो गया है. उत्तर हिंदुस्तान के कई शहरों के अतिरिक्तऔनलाइन भी यह नहीं मिल रहा है.अमर उजाला ने इस बारे में दिल्ली एनसीआर समेत कई उत्तर प्रदेश के कुछ शहरों में इसकी उपलब्धता के बारे में पता किया तो बहुत कम स्थान यह मिल रहा है

पुराना स्टॉक है मौजूद
दिल्ली एनसीआर के गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा व फरीदाबाद के अतिरिक्त आगरा, एटा, इटावा, कानपुर, अलीगढ़, लखनऊ आदि स्थान पर मौजूद ज्यादातर छोटी व बड़ी दुकानों पर यह नहीं है. जिनके पास इसका स्टॉक पड़ा हुआ है वो पिछले वर्ष जुलाई का है. वहीं उत्तर प्रदेश के भी कई शहरों में इसका पुराना स्टॉक ही बिक रहा है.

ऑनलाइन के अतिरिक्त इन स्टोर्स पर भी नहीं मौजूद
अमर उजाला ने इस बारे में पड़ताल की तो पता चला कि दिल्ली एनसीआर के ज्यादातर प्रमुख बड़े स्टोर्स जैसे कि बिग बाजार, मोर, स्पेंसर्स आदि में रूहअफजा स्टॉक से गायब है.विशाल मेगामार्ट में जून 2018 व इसके बाद का स्टॉक मिल रहा है. लेकिन यह भी सीमित संख्या में उपलब्ध है. वहीं अमेजन पर यह 135 रुपये में उपलब्ध है, लेकिन इसके लिए आपको 80 रुपये अलावा डिलीवरी चार्ज के तौर पर देने पड़ेंगे. ग्रोफर्स, बिगबास्केट, वेजी इंडिया, मिल्कबास्केट, फ्लिपकार्ट जैसे ग्रोसरी डिलीवरी मोबाइल ऐप पर यह मिल नहीं रहा है.इन सभी स्थान पर यह ऑउट ऑफ स्टॉक बता रहा है. अमर उजाला। कॉम रूहआफजा की उपलब्धता को मार्च महीने से ही ट्रैक कर रहा है.

हमदर्द का बयान–जारी है उत्पादन
हालांकि इस बारे में जब हमने रूहअफजा को बनाने वाली कंपनी से संपर्क किया तो फिर कंपनी के ब्रांड मैनेजर का कहना था कि रूहअफजा का उत्पादन लगातार हो रहा है. कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि रुहअफजा को तैयार करने में जिस कच्चे माल का इस्तेमाल होता है, उसकी कमी हो गई थी, जिसकी वजह से पूरे राष्ट्र में यह उपलब्ध नहीं हो पा रहा था. अब उत्पादन प्रारम्भ होने के बाद इसे जल्द ही पूरे राष्ट्र में पहुंचाया जाएगा. उन्होंने बोला कि कंपनी के मालिकों में किसी तरह का कोई टकराव नहीं है व हमदर्द बंद नहीं होने वाली है.

शीतल पेय के तौर पर होता है प्रयोग
रूहअफजा का इस्तेमाल लोग शरबत, दूध, लस्सी और चुस्की जैसे उत्पादों में करते हैं.फिल्हाल रामनवमी, ईद, बैसाखी, महावीर जयंती, गंगा दशहरा जैसे कई प्रमुख त्योहार आने वाले हैं, जिनमें लोग इसका प्रयोगकाफी संख्या में करते हैं.

1906 में प्रारम्भ हुआ था उत्पादन
हमदर्द ने 1906 में इसका उत्पादन गाजियाबाद से प्रारम्भ किया था. अब इसका उत्पादन हिंदुस्तान के अतिरिक्तपाकव बांग्लादेश में भी होता है. यह उत्पाद तीनों राष्ट्रों में बराबर तौर पर लोकप्रिय है.a

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …