मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> सचिन पायलट बनेंगे राजस्थान के मुख्यमंत्री!

सचिन पायलट बनेंगे राजस्थान के मुख्यमंत्री!

नई दिल्ली 8 जून 2019 । लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election Results 2019) में कांग्रेस (Indian National Congress) को करारी हार मिलने के बाद अब पार्टी में दरार पड़नी शुरू हो गई है। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में जहाँ कांग्रेस सरकार गिराने के दावे किये जा रहे हैं वहीं राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस में ही फुट पड़ चुकी है। लोकसभा चुनाव में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Ashok Gehlot, Chief Minister of Rajasthan) के बेटे वैभव गहलोत की भी हार हुई, जिसके बाद अब सीएम गहलोत की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि सूबे के कांग्रेस नेताओं ने नई मांग सामने रख दी है। सभी की मांग है कि अब गहलोत की जगह सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाया जाए।

पायलट बने मुख़्यमंत्री

टोडाभीम से कांग्रेस विधायक बी आर मीणा का कहना है कि अशोक गहलोत के स्थान पर सचिन पायलट को राज्य का मुख्यमंत्री बनाना चाहिए। ये युवा है और युवा चेहरे को दरकिनार करने के कारण ही लोकसभा चुनाव में पार्टी को जनसमर्थन नहीं हासिल हुआ। राज्य में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की है और इसके लिए सचिन पायलट को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के लिए पार्टी हाई कमान भी वरिष्ठ नेताओं से नाराज है। वहीँ छोटे नेता भी तंज कसने से पीछे नहीं हट रहे हैं।

हार के लिए पायलट जिम्मेदार
कांग्रेस के नेताओं का गुस्सा सीएम गहलोत के लिए इसीलिए फुट रहा है क्योंकि उन्होंने अपने बेटे की हार के लिए सचिन पायलट को जिम्मेदार ठहराया। मुख्यमंत्री ने बयान दिया था,” सचिन पायलट ने कहा था कि वैभव बड़े अंतर से जीत हासिल करेंगे, क्योंकि वहां हमारे 6 विधायक हैं और हमारा चुनाव प्रचार अच्छा है। ऐसे में मुझे लगता है कि उन्हें (पायलट) वैभव के हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। जोधपुर सीट पर पार्टी की हुई हार का पोस्टमार्टम होगा कि आखिर हम जीत दर्ज क्यों नहीं कर सके।” इसके पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भी सीएम गहलोत और सीएम कमलनाथ पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि बेटों को जिताने के लिए बड़े नेताओं ने मेहनत की और एक संसदीय क्षेत्र में सीमित रह गए। इसके बाद अध्यक्ष से राहुल गाँधी ने अशोक गहलोत से मुलाक़ात करने से भी मना कर दिया था।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

चीन नहीं, हिमाचल में तैयार होगा दवाइयों का सॉल्ट, खुलेगा देश का पहला एपीआई उद्योग

नई दिल्ली 01 अगस्त 2021 । नालागढ़ के पलासड़ा में एक्टिव फार्मास्यूटिकल इनग्रेडिएंट (एपीआई) उद्योग …