मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सपाक्स पार्टी की विधिवत घोषणा, पूर्व आईएएस हीरालाल त्रिवेदी बने अध्यक्ष

सपाक्स पार्टी की विधिवत घोषणा, पूर्व आईएएस हीरालाल त्रिवेदी बने अध्यक्ष

भोपाल 3 अक्टूबर 2018 । सपाक्स के 30 सितंबर को आयोजित क्रांति सभा में की गई घोषणानुसार गांधी जयंती के अवसर पर आज सपाक्स पार्टी का गठन कर दिया गया। मप्र के पूर्व आईएएस हीरालाल त्रिवेदी नवगठित सपाक्स पार्टी के अध्यक्ष होंगे। इसके अलावा पार्टी में तीन उपाध्यक्ष, एक संयोजक, दो महासचिव, कोषाध्यक्ष तथा सह सचिव के पदाधिकारियों की प्रथम कार्यकारिणी की भी घोषणा की गई। सपाक्स पार्टी की घोषणा के समय अध्यक्ष हीरालाल त्रिवेदी, उपाध्यक्ष डॉ. वीणा घाणेकर, राजीव खंडेलवाल, डॉ. केएल साहू, महासचिव सुरेश तिवारी द्वारा महात्मा गांधी के चित्र पर सूत की माला अर्पण करते हुए उनका स्मरण किया गया। इसके बाद सभी पदाधिकारियों ने पार्टी के ध्वज का अनावरण किया।

सपाक्स पार्टी का झंडा जो ऊपर एंव नीचे लाल एंव मध्य में पीला रखा गया है जिस पर सपाक्स पार्टी लिखा गया है का लोकार्पण उपस्थिति सपाक्स पदाधिकारियों, जनसमूह एवं मीडिया के समक्ष किया गया। पार्टी के प्रथम अध्यक्ष हीरालाल त्रिवेदी ने मीडिया से चर्चा में बताया कि सपाक्स पार्टी का गठन विधिवत रूप से राजनैतिक क्षेत्र में कार्य करने एवं आगामी विधानसभा चुनाव में मप्र की सभी 230 विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि विधानसभा के साथ-साथ सपाक्स पार्टी आगामी लोकसभा और आने वाले नगरीय निकाय चुनावों में भी अपने प्रत्याशी उतारेगी। पार्टी के प्रमुख मुद्दों के बारे में त्रिवेदी ने बताया कि एट्रोसिटी एक्ट में माननीय उच्चतम न्यायालय के दिशा निर्देशों का पालन होना चाहिए। पदोन्नति में आरक्षण पूर्णत: समाप्त करने, आरक्षण के लाभ हेतु क्रिमीलियर का निर्धारण करने एंव जाति, धर्म, संप्रदाय, वर्ग लिंग के आधार पर भेदभाव करने की राजनीति को पूर्णत: समाप्त करना है। इसके अलावा सभी वर्गो के सर्वांगीण विकास, भेदभाव रहित समाज, प्रदेश एंव देश में सामाजिक समरसता एवं सद्भावना बनाने का भी निर्णय लिया गया।
पार्टी की पहली बैठक में बनाए गए संभाग प्रभारी
सपाक्स पार्टी की आज पहली कार्यकारिणी बैठक का भी आयोजन किया गया। बैठक में विधानसभा चुनाव के लिए सभी संभागों के प्रभारी गठित किए गए। पार्टी अध्यक्ष हीरालाल त्रिवेदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रदेश भर में गांव-गांव तक पार्टी का विस्तार किया जाएगा। पार्टी पदाधिकारी दौरे कर पार्टी को मजबूती प्रदान करने का कार्य करेंगे। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि पार्टी के मुद्दों को प्रदेश के हर वर्ग तक पहुंचाया जाएगा।

आईएएस डॉ. वीणा घाणेकर ने इस्तीफा देकर सपाक्स पार्टी ज्वाइन की
सपाक्स पार्टी के सिद्धांतों, मुद्दों एवं सरकारों द्वारा सभी वर्गों के साथ किए जा रहे भेदभाव के चलते आज भूमि सुधार आयोग सदस्य सचिव के पद से इस्तीफा देकर सपाक्स पार्टी ज्वाइन की गई। श्रीमती घाणेकर रिटायरमेंट के बाद आयोग में संविदा नियुक्ति पर थीं। उन्हें पार्टी में प्रदेश उपाध्यक्ष पद पर मनोनीत किया गया।
पार्टी पदाधिकारियों की सूची
हीरालाल त्रिवेदी, अध्यक्ष, डॉ. के.एल. साहू, उपाध्यक्ष, डॉ. बीणा घाणेकर, उपाध्यक्ष, विजय वाते, उपाध्यक्ष, राजीव खंडेलवाल, उपाध्यक्ष, इंजी. पी.एस. परिहार, संयोजक, सुरेश तिवारी, महासचिव(संगठन), हरीओम गुप्ता, महासचिव(कार्यालय), श्रीकांत घाणेकर, कोषाध्यक्ष, पी.के. मंजूरे, सह-सचिव

सपाक्स ने नई पार्टी का किया गठन

गांधी जयंती पर सपाक्स ने नई पार्टी के गठन की घोषणा की है। पार्टी का नाम सपाक्स समाज पार्टी रखा गया है। पार्टी प्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पार्टी का पहला अध्यक्ष हीरालाल त्रिवेदी को बनाया गया। साथ ही, चार उपाध्यक्ष बनाए गए। पार्टी ने अपना झंडा भी लांच किया।

रविवार को भोपाल में सपाक्स की महाक्रांति रैली हुई थी। उसमें ऐलान किया था कि 2 अक्टूबर को पार्टी का गठन किया जाएगा। ऐसे में अब सपाक्स संगठन से राजनीतिक दल बन गया। सपाक्स ने प्रदेश कार्यकारिणी का भी गठन किया गया है। भाजपा नेता राजीव खंडेलवाल ने सपाक्स ज्वाइन की है, उन्हें उपाध्यक्ष बनाया गया है।

सपाक्स ने ऐलान किया है कि वो प्रदेश की सभी 230 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। एससीएसटी एक्ट और प्रमोशन में आरक्षण का विरोध इनका प्रमुख चुनावी मुद्दा होगा। चुनाव आयोग की मंजूरी के बाद चुनाव चिन्ह तय होगा।

रविवार 30 सितंबर को महाक्रांति रैली के बाद सपाक्स ने सरकार पर आरोप लगाया था कि उसने रैली को नाकाम करने के लिए हर तरीके के हथकंडे अपनाए। 18 ट्रेन रद्द करने के साथ-साथ भोपाल शहर में सभा की अनुमति नहीं दी। बावजूद इसके सवर्ण समाज के सैकड़ों लोग रैली में शामिल होने भोपाल आए।

एससीएसटी एक्ट की चौसर पर मध्य प्रदेश की सियासत में कई खिलाड़ी मैदान में कूद चुके हैं। सपाक्स भी अपना पूरा दम दिखा रही है। सपाक्स की सियासत मजबूत पार्टियों के लिए आखिर कितनी मुश्किल पैदा करेगी ये आने वाला वक्त ही बताएगा।

काम न करने वाले बीजेपी सांसदों का कटेगा टिकट

बीजेपी ने 2019 के लोकसभा चुनाव का बिगुल बजा दिया है। सोमवार को विज्ञान परिषद सभागार में पांच लोकसभा सीटों के चुनाव संचालन समिति की बैठक हुई, जिसमें कार्यकर्ताओं को चुनावी तैयारियों में जी-जान से जुटने के निर्देश दिए गए। प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल ने कहा कि काम नहीं करने वाले सांसदों का टिकट कटेगा। जो सांसद पांच साल तक गणेश परिक्रमा में लगे रहे उन्हें पार्टी अवसर नहीं देगी। साथ ही बूथस्तर पर होने वाले कार्यक्रमों में कार्यकर्ताओं के साथ ही सांसदों और विधायकों को भी जुटने की हिदायत दी।

सुनील बंसल ने कहा कि बूथ मजबूत होने पर सीधे सांसदों-विधायकों को ही लाभ होगा इसलिए सांसद-विधायक भी इन कामों में पूरी रुचि लें। जिन बूथों पर काम नहीं हो रहा वहां के पदाधिकारियों को चेतावनी भी दी। बैठक में इलाहाबाद, फूलपुर, कौशाम्बी, प्रतापगढ़ और अमेटी संसदीय सीटों में चुनाव तैयारियों की समीक्षा हुई। इस दौरान डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह समेत अन्य प्रमुख कार्यकर्ता मौजूद रहे।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

टूटे सारे रिकॉर्ड, 10 बिंदुओं में जानिए क्यों आ रहा जोरदार उछाल

नई दिल्ली 24 सितम्बर 2021 । घरेलू शेयर बाजार में शानदार तेजी का सिलसिला जारी …