मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> सिंधिया ने शिवराज को बताया ‘कंस’ और ‘शकुनी’, बोले-‘ऐसा कोई सगा नहीं

सिंधिया ने शिवराज को बताया ‘कंस’ और ‘शकुनी’, बोले-‘ऐसा कोई सगा नहीं

गुुना  19 नवम्बर 2018 । कांग्रेसी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर जोरदार हमला किया है| उन्होंने शिवराज सिंह चौहान की तुलना ‘कंस’ और ‘शकुनी’ से की है| गुना के बूढ़़ेबालाजी मैदान में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अब मध्य प्रदेश से इस भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंकने का वक्त आ गया है| उन्होंने कहा, ‘‘शिवराज सिंह चौहान कहते हैं कि वह मामा हैं. भाजपा कहती है कि वह हिंदू धर्म की एकमात्र रक्षक है| अगर हम इस पर सहमत हो भी जाएं तो धर्मग्रंथों में मामा की परिभाषा कैसे की गई है|” कांग्रेस नेता ने यहां बूढ़़ेबालाजी मैदान में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘एक ‘कंस मामा’ था जिसने अपने भांजे को खत्म करने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी| दूसरा ‘शकुनी मामा’ था जिसने हस्तिनापुर के नाश करने के लिए सब कुछ किया और अब कलयुग में तीसरे मामा भोपाल के (राज्य सचिवालय) वल्लभ भवन में बैठे हैं|”

सिंधिया ने शिवराज को बताया ‘सबसे बड़ा ढोंगी’, बोले- उड़नखटोले में सवार CM को सड़क का गड्ढा मखमल नजर आता है

उन्होंने मुख्यमंत्री पर किसान विरोधी होने के भी आरोप लगाए और कहा कि पिछले साल किसान आंदोलन के दौरान मंदसौर में अन्नदाता माने जाने वाले किसानों पर गोलियां चलाईं| सिंधिया ने यह भी आरोप लगाया कि फसल बीमा के नाम पर किसानों के साथ छल किया गया| उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘किसान भाई मुझे बताएं जलियांवाला बाग की तरह शिवराज सरकार ने मंदसौर में किसानों की हत्याएं की| किसानों के लिए फसल बीमा से भी कोई मदद नहीं मिली| किसानों के बैंक खातों से पैसे काट लिए गए और उसे शिवराज के कारोबारी मित्रों की मिल्कियत वाली कंपनियों को भेज दिया गया. यह 6000 करोड़ रूपये की राशि है|” भाजपा पहले ही इन आरोपों से इनकार कर चुकी है|
टिप्पणियां सिंधिया ने कहा, ‘‘जब कांग्रेस सरकार सत्ता में आएगी तो हम निजी कंपनियों के सारे धंधे खत्म कर देंगे और सुनिश्चित करेंगे कि यह बीमा सरकारी कंपनियों से दिया जाए|” उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने…शास्त्री जी ने ‘जय जवान, जय किसान’ का नारा दिया था, लेकिन भाजपा का नारा ‘मर जवान, मर किसान’ का है|‘‘
उन्होंने चौहान पर हमला करते हुए कहा, ‘‘ऐसा कोई सगा नहीं, जिसको इन्होंने ठगा नहीं|”

एमपी: कार्यकर्ताओं से बोले दिग्विजय- EVM को 100 बार चेक करना
मध्य प्रदेश चुनाव प्रचार में जुटे कांग्रेस के दिग्गज नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का वीडियो सामने आया है| विडीओ में सिंह एक चुनवाई सभा को सम्बोधित करते हुए कार्यकर्ताओ को मतदान के दौरान सतर्क रहने को कह रहे हैं| वीडियो में सिंह ईवीएम मशीन को लेकर कह रहे हैं की वोट डालने से पहले सौ बार चेक करे कि वोट कहां जा रहा है| कांग्रेस नेता का यह वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है| जिसमे वह कह रहे हैं, ‘ईवीएम मशीन को पहले टेस्ट करना| जब जांच होती है, तब एक बटन पर १००-१०० बार कांग्रेस का बटन दबाकर देखना| कही ऐसा न हो कि बटन दबा रहे हो हाथ पर वोट चला जाए फूल पर| पर्ची निकलेगी उसपर ध्यान देना| चूँकि बटन दबाया अपने हाथ पर, पर्ची निकली फूल कीतो बाहर शिकायत करे की अंदर गलत काम हो रहा है|’
सिंह का पहले भी एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमे वह कहते नज़र आये की उनके भाषण से पार्टी को नुकसान होता है इसीलिए वह किसी भी चुनावी अभियान में हिस्सा नहीं लेंगे| इसके अलावा वो सार्वजानिक मंच से भाषण भी नहीं देंगे| पूर्व सीएम का यह वीडियो तब सोशल मीडिया में खूब वायरल हुआ|

कांग्रेस ने पूर्व मंत्री समेत 16 बागियों को किया बाहर

प्रदेश कांग्रेस पार्टी से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे 16 बागियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है, जिनमें तीन पूर्व विधायक भी है। इनके निष्कासन के आदेश जारी कर दिए गए। इन 16 में जोबट से तीन बारविधायक रहीं पूर्व मंत्री सुलोचना रावत का नाम शामिल है। जोबट से पार्टी ने सांसद कंतिलाल भूरिया की भतीजी कलावती भूरिया को टिकट दिया हे, उन्होंने 2013 में झाबुआ से निर्दलीय चुनाव लड़ा था, लेकिन वे हार गई थी। झाबुआ से पूर्व विधायक और निर्दलीय प्रत्याशी जेवियर मेडा, उज्जैन की पार्षद माया त्रिवेदी, उज्जैन दक्षिण से ही जयसिंह दरबार (दिग्विजय समर्थक) को भी बाहर किया गया है। मंडला से बागी पूर्व विधायक रहे तुलसीराम धूमकेति और सावित्री धूमेति और अशोक दीक्षित का निष्कासन किया गया है। बुरहानपुर से पार्टी बागवत कर चुनाव लड़ रहे सुरेंद्र सिंह उर्फ शेरा को निष्कासित किया है। शेरा का खंडवा संसदीय क्षेत्र में खासा प्रभव हैं यहा से उनके दोभाई शिवकुमार सिंह 1980 से 1984 और महेंद्र सिंह 1991 से 1996 तक सांसद रहे हैं। सिंह ने बुरहानपुर से निर्दलीय 1998 से विधानसभा चुनाव लड़ा था, उन्होंने जीत भी दर्ज की, उनकी मृत्यु हो जाने से उनकी बेटी मंजू श्री ने चुनाव लड़ा और वे जीत गई थी।

EC ने छत्तीसगढ़ सरकार के जनसंपर्क आयुक्‍त को हटाने का दिया आदेश

चुनाव आयोग छत्तीसगढ़ सरकार को कांग्रेस के नेताओं का स्टिंग ऑपरेशन करने के लिए कथित रूप से पैसों की पेशकश करते पकड़े गए राज्य के जनसंपर्क आयुक्त को पद से हटाकर ट्रांसफर करने को कहा है। शनिवार को आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार में जनसंपर्क विभाग के सचिव और आयुक्त एस राजेश टोप्पो को पद से हटाने का आदेश जारी किया गया है।

क्या है आरोप
टोप्पो को कथित तौर पर एक ऑडियो टेप में किसी पत्रकार से कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए वीडियो टेप बनाने के लिए कहते सुना जा सकता है। इसके एवज में उन पर कथित रूप से पैसों की पेशकश करने का आरोप है।

प्रवक्ता ने बताया, आयोग ने अपने आदेश में कहा है कि एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने अनुचित भाषा का इस्तेमाल तो किया ही है, साथ में यह पक्षपातपूर्ण व्यवहार को भी दर्शाता है। 90 विधानसभा सीटों वाले छत्तीसगढ़ में 18 सीटों के लिए 12 नवंबर को पहले चरण का चुनाव हो चुका है। यहां वाकी 78 सीटों के लिए 20 नवंबर को दुसरे चरण की वोटिंग होनी है। छत्तीसगढ़ समेत 5 चुनावी राज्यों में वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना विस्फोट के बीच क्या लगेगा लॉकडाउन? पीएम मोदी की आज बड़ी बैठक

नई दिल्ली 19 अप्रैल 2021 । कोरोना की दूसरी लहर की वजह से देश में …