मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> थानों, अस्पतालों में यौन उत्पीड़न निगरानी केंद्र गठित हों : मेनका

थानों, अस्पतालों में यौन उत्पीड़न निगरानी केंद्र गठित हों : मेनका

नई दिल्ली 27 नवम्बर 2018 । मेनका गांधी ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी. नड्डा से सभी पुलिस विभागों व अस्पतालों में कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़िन अधिनियम 2013 के तहत आंतरिक शिकायत समितियों (आईसीसी) के तुरंत गठन को कहा।

केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी. नड्डा से सभी पुलिस विभागों व अस्पतालों में कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़िन अधिनियम 2013 के तहत आंतरिक शिकायत समितियों (आईसीसी) के तुरंत गठन को कहा।

महिला एंव बाल विकास (डब्लूसीडी) मंत्री ने सिंह को लिखे एक पत्र में कहा, “मुझे सूचित किया गया है कि अधिकतर सरकारी कार्यालयों में आईसीसी गठित कर दी गई है जबकि राज्यों के पुलिस कार्यालयों में ऐसा नहीं किया गया है।”

नड्डा को लिखे अपने पत्र में उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाले कुछ अस्पतालों में आईसीसी की अनुपस्थिति के मुद्दे को उठाया है।

मेनका गांधी ने नड्डा से कहा, “मैं आपसे इस मामले को देखने और केंद्र सरकार के अस्पतालों व राज्य चिकित्सा विभागों को तत्काल आईसीसी गठित करने एवं सभी अस्पतालों द्वारा अधिसूचित करने का निर्देश देने का अनुरोध करती हूं।”

उन्होंने दोनों नेताओं को लिखे पत्र में यह भी कहा कि पुलिस और अस्पताल अधिकारियों को यह सलाह दी जाए कि वह अपने कर्मचारियों के साथ-साथ आईसीसी के सदस्यों को डब्ल्यूसीडी वेबसाइट पर उपलब्ध प्रशिक्षण सामग्री से अवगत कराएं।

उन्होंने कहा, “हमने पूर्ण रूप से एक एकीकृत शिकायत प्रबंधन प्रणाली बनाई है जिसमें कोई भी महिला हमारी वेबसाइट पर यौन उत्पीड़न के संबंध में शिकायत कर सकती है। यह सभी मंत्रालयों, सभी राज्य सरकारों और देश के अधिकांश जिलों से एकीकृत रूप से जुड़ी हुई है।”

मेनका ने लिखा, “राष्ट्रीय महिला आयोग ने कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न की शिकायतें संभालने के लिए एक अलग सेल भी स्थापित किया है।”

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब कांग्रेस का सस्पेंस बरकरार, नाराज सुनील जाखड़ को अपनी फ्लाइट में दिल्ली लाए राहुल-प्रियंका गांधी

नई दिल्ली 23 सितम्बर 2021 । चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के बावजूद पंजाब …