मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> शिमला से ज्यादा ठंडी हुई दिल्ली, राजस्थान और पंजाब में पारा शून्य से नीचे

शिमला से ज्यादा ठंडी हुई दिल्ली, राजस्थान और पंजाब में पारा शून्य से नीचे

नई दिल्ली 30 दिसंबर 2018 । उत्तर भारत शीत लहर की चपेट में है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का असर मैदानों में भी दिखाई दे रहा है और राजस्थान में भी पारा -4.5 डिग्री तक गिर गया है। वहीं, दिल्ली में भी पारा 2.6 डिग्री दर्ज किया गया है, जो कि शिमला से भी कम है।

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के साथ हिमाचल और उत्तराखंड में भी अधिकांश जगह पारा शून्य से नीचे हैं। मौसम विभाग ने बताया कि शनिवार को श्रीनगर की डल झील जमने के बाद अब जम्मू के कई इलाकों में पाला पड़ा। वहीं, हिमाचल के आठ शहरों का तापमान शून्य से नीचे पहुंच गया है। इसके अलावा उत्तराखंड स्थित चारों धाम का अधिकतम तापमान भी माइनस में पहुंच गया है।

राजस्थान में -4.5 डिग्री तक गिरा पारा राजस्थान में ठंड ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। राजस्थान के सीकर जिले में तापमान -4.5 डिग्री तक जा पहुंचा है। शनिवार सुबह फतेहपुर शेखावाटी कस्बे में न्यूनतम तापमान -4.5 डिग्री दर्ज किया गया।

तापमान के गिरने से इस इलाके में खुली जगहों पर रखा और खेतों में दिया गया पानी जम गया। ऐसे में इलाके में फसल खराब होने की आशंका बढ़ गई है। वहीं, मौसम विभाग ने सर्द हवाओं और कोहरे के अलावा पाला गिरने की आशंका भी जताई है।

इन शहरों में रहा सबसे कम तापमान : भीलवाड़ा -1.0 चुर -0.6 माउंट आबू -1.0 फतेहपुर शेखावाटी -4.5

शिमला से भी ठंडे रहे पंजाब और दिल्ली

दिल्ली शनिवार को शिमला से भी अधिक ठंडी हो गई। न्यूनतम तापमान ने कई रिकॉर्ड तोड़ दिए। जहां, शिमला का न्यूनतम तापमान शनिवार को 4.5 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं, दिल्ली में यह 2.6 पहुंच गया। इसके अलावा गुरुग्राम में न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं, पंजाब में बठिंडा सबसे ठंडा रहा। यहां का न्यूनतम पारा -0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि फिरोजपुर और अमृतसर का तापमान क्रमशः 0.4 और 0.8 डिग्र्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 29 दिसंबर का तापमान (डिग्री सेल्सियस में) साल अधिकतम न्यूनतम 2011 24 7 2012 19 9 2013 20 5 2014 18 5 2015 25 11 2016 25 8 2017 25 7 2018 20 2.

डल झील जमी, हाड़ कंपाने वाली ठंड जारी : राज्य में हाड़ कंपा देने वाली ठंड और शीतलहर का प्रकोप जारी है। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को लद्दाख के द्रास में तापमान -21.9 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। वहंी, लेह का तापमान भी -17.5 डिग्री दर्ज किया गया। विभाग ने 2 जनवरी को उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में भारी बर्फबारी और मैदानी क्षेत्रों में बारिश होने की बात भी कही है।

हिमाचल के आठ शहरों में तापमान शून्य से नीचे :

हिमाचल में दिन भर धूप खिले रहने के बावजूद भी तापमान में कोई खासा बदलाव नहीं आ रहा है। प्रदेश के आठ स्थानों का तापमान माइनस में दर्ज किया गया है। इनमें सुंदरनगर, भुंतर, कल्पा, ऊना, केलंग, सोलन, मनाली और चंबा शामिल हैं।

कहां रहा कितना तापमान

शहर न्यूनतम अधिकतम सुंदरनगर -2.1 18.5 भुंतर -1.9 5.5 कल्पा -2.4 5.8 ऊना -1.7 20.0 केलंग -10.8 1.9 चंबा -1.0 17.0 मनाली -2.6 11.0 सोलन -1.2 16.5 शिमला 4.5 13.6 धर्मशाला 2.2 12.8 (तापमान डिग्र्री सेल्सियस में)

चार धामों में अधिकतम तापमान भी शून्य से नीचे उत्तराखंड को शीतलहर के प्रकोप से निजात नहीं मिल पा रही है। ज्यादातर शहरों में पारा शून्य से नीचे चला गया है। वहीं, बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में अधिकतम तापमान भी शून्य से नीचे दर्ज किया गया है। शनिवार को प्रदेश में अल्मोड़ा सबसे ठंडा रहा।

यहां न्यूनतम तापमान -4.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि मैदानी क्षेत्रों, विशेषकर हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में देर रात से सुबह तक घने कोहरे की आशंका है।

चार धामों में कितना रहा तापमान

कांप रहा बंगाल, दार्जिलिंग में शून्य से नीचे पहुंचा तापमान : बंगाल में तापमान गिरने का क्रम 11वें दिन भी जारी रहा। शनिवार को तापमान एक नया रिकॉर्ड बनाते हुए शून्य से नीचे पहुंच गया। अलीपुर मौसम कार्यालय की ओर से बताया गया कि शनिवार को दार्जिलिंग का न्यूनतम तापमान -1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हरियाण में भी माइनस में पारा : हरियाण में सर्दी का सितम जारी है। हिसार का तापमान फिर से माइनस में चला गया। शनिवार को यहां -0.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, करनाल में पांच साल का रिकॉर्ड तोड़ते हुए पारा 2.0 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। इसके अलावा पाला पड़ने से फसलों को हुआ नुकसान हुआ है।

मध्य प्रदेश में एक डिग्री तक गिरा पारा : मध्य प्रदेश में बर्फीली हवाओं का सितम जारी है। शनिवार को पचमढ़ी, बैतूल और खजुराहो में पारा 1 डिग्री से. पर पहुंच गया। 22 जिले शीतलहर की चपेट में रहे। मौसम विज्ञानियों ने सभी जिलों में शीतलहर चलने की चेतावनी दी है। साथ ही नौ जिलों में पाला पड़ने की आशंका जाहिर की है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Facebook न्यूज़ इंडस्ट्री को 3 साल में 1 अरब डॉलर का करेगा भुगतान

नई दिल्ली 26 फरवरी 2021 । Google के नक्शे-कदम पर चलते हुए सबसे बड़े सोशल …