मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> शिमला-मसूरी-नैनीताल का हाल तो देख ही लिया होगा, अगर घूमना ही है तो ये जगहें ज़्यादा बेहतर हैं

शिमला-मसूरी-नैनीताल का हाल तो देख ही लिया होगा, अगर घूमना ही है तो ये जगहें ज़्यादा बेहतर हैं

नई दिल्ली 20 जून 2019 । पिछले कुछ दिनों से जो हाल शिमला, मसूरी, नैनीताल और मनाली का है, उससे तो यही लग रहा है कि आने वाले कुछ सालों में ये हिल स्टेशंस भी ओवर क्राउडिंग के चलते दिल्ली, मुंबई और चेन्नई जैसे महानगरों जैसे बन जाएंगे.

पिछले कुछ सालों से शिमला, मसूरी, नैनीताल और मनाली की आब-ओ-हवा एकदम बदल चुकी है. अधिक मात्रा में टूरिस्ट्स का पहाड़ों पर जाना, अपने निजी वाहनों का इस्तेमाल करने और पहाड़ों में गंदगी फैलाने से भी इन हिल स्टेशंस की रौनक ख़त्म होती जा रही है.

टूरिस्ट्स की अधिक संख्या के चलते पिछले कुछ सालों से शिमला पानी की समस्या से जूझ रहा है. सिर्फ़ टूरिस्ट ही नहीं, शिमला के स्थानीय लोग भी पीने के पानी की समस्या से जूझ रहे हैं. कमोबश यही हाल नैनीताल और मसूरी का भी है. यहां पार्किंग सबसे बड़ी समस्या बनती जा रही है. दिल्ली से बेहद करीब होने के चलते लोग अपनी पर्सनल गाड़ियों से नैनीताल और मसूरी आसानी से पहुंच जाते हैं.

अब सवाल ये उठता है कि क्या पॉपुलर होने के चलते इन हिल स्टेशन को ये दिन देखने पड़ रहे हैं? अगर आप भी लगता है कि कहीं भीड़भाड़ के चलते ये ख़ूबसूरत हिल स्टेशंस अपनी वास्तविकता न खो दें, तो आप यहां जाने के बजाय किसी अन्य जगह की ट्रिप बना सकते हैं.

ये हैं वो जगहें, जो देखने में इन जगहों जैसी ही हैं, लेकिन बेहद भी शांत भी है:

1- शिमला के बजाय शोघी

शिमला से मात्र 13 किमी की दूरी पर स्थित ये छोटा सा हिल स्टेशन अपनी अलौकिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है. यहां पर आपको हर कदम पर मंदिर ही मंदिर दिखाई देंगे. इसीलिए शोघी को ‘सिटी ऑफ़ टेंपल’ भी कहा जाता है. शोघी को देखकर ऐसा प्रतीत होता है मानो हर क़दम पर भगवान आपके साथ चल रहे हों. शिमला की भीड़ भाड़ से दूर शोघी आपको ज़रूर पसंद आने वाला है.

2- नैनीताल के बजाय मुक्तेश्वर

नैनीताल से करीब 46 किमी की दूरी पर स्थित मुक्तेश्वर उत्तराखंड के सबसे ख़ूबसूरत हिल स्टेशंस में से एक है. रामगढ़ की ख़ूबसूरत वादियों से होते हुए आप मुक्तेश्वर पहुंच सकते हैं. हिमालय बेहद करीब होने के चलते यहां सालभर मौसम बेहद सुहावना बना रहता है. भीड़भाड़ और ट्रैफ़िक की समस्या से दूर मुक्तेश्वर आपको निराश नहीं करेगा.

3- मसूरी के बजाय हर्सिल

पिछले कुछ सालों में हर्सिल उत्तराखंड के सबसे ख़ूबसूरत हिल स्टेशन के रूप में प्रसिद्ध हो चुका है. मसूरी से करीब 107 किमी की दूरी पर स्थित ये ख़ूबसूरत गांव उत्तरकाशी ज़िले में स्थित है. भागीरथी नदी के किनारे पर स्थित हर्सिल की ख़ूबसूरती देखने लायक है. मसूरी के ट्रैफ़िक में फंसे रहने से अच्छा है, हर्सिल की ख़ूबसूरत वादियों में सुकून के पल गुज़ारें.

4- मनाली के बजाय पार्वती वैली

मनाली से करीब 73 किमी की दूरी पर स्थित पार्वती वैली ख़ूबसूरती के मामले में स्विटज़रलैंड से कुछ कम नहीं है. अगर आप एडवेंचर, फ़ोटोग्राफ़ी और नेचर लवर हैं ,तो पार्वती वैली से बेहतर जगह और कोई नहीं हो सकती.

5- दार्जिलिंग के बजाय मिरिक

दार्जिलिंग से करीब 60 किमी की दूरी पर स्थित मिरिक एक छोटा सा हिल स्टेशन है. मिरिक लेक के किनारे स्थित ये ख़ूबसूरत हिल स्टेशन हरे भरे पहाड़ों और जंगली फूलों के लिए भी जाना जाता है.

6- गोवा के बजाय लक्षदीप

अगर हर बार गोवा जा-जाकर थक चुके हैं तो क्यों न इस बार लक्षदीप का ट्रिप बनायें. लक्षदीप के Beaches भारत के सबसे ख़ूबसूरत और शांत Beaches में से एक माने जाते हैं. यहां आपको गोवा जैसी भीड़ भी देखने को नहीं मिलेगी. कुल मिलकार लक्षदीप में आपकी छुट्टियां सुकून के साथ बीतेंगी.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

Skepticism And Vaccine Hesitancy For Precaution dose Among People : Dr Purohit

Bhopal 28.01.2022. Advisor for National Immunisation Programme Dr Naresh Purohit said that there exists vaccine …