मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> किसी को बिना बताये दिल्ली से उज्जैन पहुंची ‘शिप्रा’

किसी को बिना बताये दिल्ली से उज्जैन पहुंची ‘शिप्रा’

नई दिल्ली 13 सितम्बर 2019 । दिल्ली में रहने वाली शिप्रा नामक महिला घर पर किसी को बताये बगैर ट्रेन में बैठकर उज्जैन चली आई। पति ने उसकी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई और जैसे ही उसे पता चला कि पत्नी उज्जैन जा रही है तो वह फ्लाइट से उज्जैन आया। यहां जीआरपी व आरपीएफ की मदद से पत्नी को तलाशा और प्लेटफार्म पर जब दोनों मिले तो आंसुओं की झड़ी लग गई। जीआरपी द्वारा दंपत्ति को थाने ले जाकर सुपुर्दगी की कार्रवाई की गई।

राजेश मिड्ढा पिता नरेन्द्र निवासी उत्तम नगर दिल्ली व्यापारी हैं। राजेश ने बताया कि उनकी पत्नी शिप्रा मिड्ढा कल बिना किसी को बताये घर से कहीं चली गई। तलाश करने के बाद भी उसका सुराग नहीं मिला तो थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। उसी दौरान बेटी क्रिशिका ने बताया कि मां उज्जैन जाने की बातें कर रहीं थी। इस पर राजेश मिड्ढा रेलवे स्टेशन पहुंचे, जहां सीसीटीवी कैमरों से पता चला कि शिप्रा देहरादून एक्सप्रेस के जनरल कोच में बैठी है।

इस पर राजेश मिड्ढा ने तुरंत फ्लाइट पकड़ी और इंदौर उतरे। वहां से टैक्सी से उज्जैन रेलवे स्टेशन आये। यहां जीआरपी व आरपीएफ को घटना से अवगत कराया। दोनों थानों के पुलिसकर्मी राजेश मिड्ढा की मदद के लिये प्लेटफार्म 2 पर पहुंचे। यहां 9.15 पर देहरादून एक्सप्रेस रुकी और जनरल कोच से शिप्रा मिड्ढा जैसे ही उतरीं तो पति को सामने देखा। दोनों की आंखों से आंसू झलक आये। जीआरपी के जवान उन्हें लेकर थाने पहुंचे।

शिप्रा नाम के कारण जिद करती थी
राजेश ने बताया कि उनकी पत्नी का नाम शिप्रा है और पिछले कई दिनों से उज्जैन आकर शिप्रा नदी देखने की इच्छा व्यक्त कर चुकी थी, लेकिन समय नहीं मिलने के कारण वह पत्नी को लेकर यहां नहीं आ पाये। अगस्त माह में मां की मृत्यु के बाद से पत्नी की जिद बढ़ गई थी। संभवत: इसी कारण वह घर पर किसी को बताये बगैर उज्जैन चली आई।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

चीन नहीं, हिमाचल में तैयार होगा दवाइयों का सॉल्ट, खुलेगा देश का पहला एपीआई उद्योग

नई दिल्ली 01 अगस्त 2021 । नालागढ़ के पलासड़ा में एक्टिव फार्मास्यूटिकल इनग्रेडिएंट (एपीआई) उद्योग …