मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> शिव ने फिर कमल के साथ अपनी दोस्ती निभाई

शिव ने फिर कमल के साथ अपनी दोस्ती निभाई

नई दिल्ली 25 मई 2019 । पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और सीएम कमलनाथ (shivraj singh chouhan with kamalnath) भले ही राजनीतिक परिदृश्य में एक-दूसरे के विपक्षी हों, लेकिन सामाजिक जीवन में दोनों एक-दूसरे के अच्छे दोस्त हैं| इन दोनों के याराने के बारे में काफी लोग नहीं जानते हैं। कई मौकों पर उन्होंने कमलनाथ का साथ दिया है | अब उन्होंने एक बार फिर कमलनाथ के साथ अपनी दोस्ती निभाई है | दरअसल, उन्होंने कमलनाथ का साथ देने का फैसला किया है |

इस बार उन्होंने कमलनाथ का साथ देकर अपनी ही पार्टी के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के लिए परेशानी खड़ी कर दी है | दरअसल, जब नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने फ्लोर टेस्ट की चुनौती पेश की तो शिवराजसिंह (shivraj singh chouhan with kamalnath) ने इस चाल को भी फेल कर दिया।

सीएम कमलनाथ के सामने फ्लोर टेस्ट की चुनौती आने के 3 दिन बाद बुधवार को शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि वो फ्लोर टेस्ट के पक्ष में (shivraj singh chouhan with kamalnath) नहीं है। 2006 से लेकर 2014 तक कांग्रेस नेताओं को घर से बुलाकर टिकट और मंत्री पद देने वाले शिवराज सिंह का कहना है कि हम तोड़फोड़ में भरोसा नहीं करते। ये सरकार अपने आप ही गिर जाएगी।

दरअसल, भाजपा की गुटबाजी कमलनाथ सरकार (shivraj singh chouhan with kamalnath) को लगातार बचा रही है। 109 विधायक होने के बावजूद भाजपा के रणनीतिकार बहुमत का जादुई आंकड़ा 116 तक पहुंचने की जुगत लगा ही रहे थे कि शिवराज सिंह ने बयान जारी करके हार स्वीकार कर ली। नेता प्रतिपक्ष के चयन में रोड़े अटकाए। कैलाश विजयवर्गीय और नरोत्तम मिश्रा एक्टिव हुए तो दोनों को यूटर्न लेने के लिए मजबूर कर दिया। लोकसभा चुनाव में कुछ इस तरह के बयान दिए कि कांग्रेस को फायदा पहुंचे और अब जबकि नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर फ्लोर टेस्ट के पक्ष में हैं तो उनके इस अभियान की हवा निकाल दी।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan with kamalnath) ने कमलनाथ सरकार (Kamal Nath government in problem ?) पर हमला बोल दिया और मुख्यमंत्री का इस्तीफा भी मांग लिया था |

इंदौर पहुंचे शिवराजसिंह चौहान ने कहा था, (Shivraj Singh Chouhan Ask Resignation To Kamal Nath),“पूरे प्रदेश में कांग्रेस हार रही है इसलिए मंत्रियों के बजाय खुद सीएम कमलनाथ (Kamal Nath government in problem ?) इस्तीफा दें, कमलनाथ ने कहा था कि जिस मंत्री के क्षेत्र से कांग्रेस हारेगी, उसे मंत्री पद छोड़ना होगा|” शिवराज चौहान ने दावा किया कि बीजेपी मध्य प्रदेश की सभी 29 सीटें जीत रही है|”

दिग्विजय की हार के बाद जिंदा समाधि की बात करने वाले बाबा पर भी आफत
कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की हार के बाद जिंदा समाधि लेने की बात करने वाले बाबा के ऊपर भी आफत आ गई है। बाबा को उनके अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। क्योंकि उनकी वजह से अखाड़े की बदनामी हो रही थी।

निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर वैराज्ञानंद गिरी को उनके अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। मीडिया से बात करते हुए इसकी पुष्टि हरिद्वार के निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पूरी ने की है। दरअसल, वैराग्यानंद ने दिग्विजय सिंह को जीताने के लिए भोपाल में पांच क्विंटल लाल मिर्ची से यज्ञ किया था। साथ ही उन्होंने कहा था कि अगर दिग्विजय सिंह हार गए तो मैं जिंदा समाधि ले लूंगा। चुनाव परिणाम आने के बाद दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव हार गए हैं। ऐसे में सोशल मीडिया पर लोग बाबा को खोज रहे हैं।

दरअसल, सोशल मीडिया यूजर्स बाबा को ढूंढ रहे हैं। सोशल मीडिया पर तरह-तरह की टिप्पणी कर रहे हैं। कई लोगों ने महामंडलेश्वर वैराग्यानंद का मोबाइल नंबर तक ढूंढ लिया है। उन्हें फोन कर रहे हैं, उनसे सवाल पूछ रहे हैं कि बाबाजी अब समाधि कब लेंगे।

सोशल मीडिया पर बाबा से बातचीत का ऑडियो भी वायरल है। जिसमें खुद को राहुल बता रहे एक शख्स ने बाबा को फोन किया। युवक ने बाबा से पूछा कि आप समाधि कब ले रहे हैं। उधर से जवाब आया कि जरूर है कि क्या। तो युवक कहता है कि आप स्वामी होकर झूठ बोलते हैं। इस पर बाबा कहते है कि आप ये शिक्षा अपने लोगों को दीजिए न।

बाबा ने चुनावों के दौरान ऐलान किया था कि मैं दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार करूंगा। साथ ही उन्हें जीताने के लिए पांच क्विंटल में लाल मिर्ची से मिर्ची यज्ञ करूंगा। बाबा ने पांच मई को उनके लिए यज्ञ भी किया। साथ ही उऩ्होंने वादा किया था कि अगर दिग्विजय सिंह नहीं जीते तो मैं नतीजों के बाद जिंदा समाधि ले लूंगा।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, बोले- तीसरी लहर की तैयारी करे सरकार

नई दिल्ली 22 जून 2021 । कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस …