मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> शिवराज बोले- क्या दिग्विजय, कमलनाथ मेरी बराबरी कर सकते हैं?

शिवराज बोले- क्या दिग्विजय, कमलनाथ मेरी बराबरी कर सकते हैं?

भोपाल 8 जून 2018 । मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि आगामी 23 जून को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राजगढ़ जिले के मोहनपुरा वृहद सिंचाई परियोजना का लोकार्पण करेंगे। मुख्यमंत्री चौहान बुधवार को राजगढ़ जिला मुख्यालय पर असंगठित श्रमिक, तेंदूपत्ता श्रमिकों के बोनस वितरण तथा अन्त्योदय सम्मेलन के अवसर पर आयोजित आमसभा में बोल रहे थे।

उन्होंने मंच से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मंदसौर दौरे को लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और जनता से पूछा कि क्या दिग्विजय सिंह और कमलनाथ मेरी बराबरी कर सकते है? साथ उन्होंने बताया कि राजगढ़ जिले की मोहनपुरा और कुंडालिया सिंचाई परियोजनाओं से

लगभग आठ लाख एकड़ क्षेत्र में सिंचाई होगी तथा बांध से लगे क्षेत्रों में सतही स्त्रोतों के माध्यम से पेयजल समस्या भी हल होगी।

किसानों को भड़का रही कांग्रेस

राहुल गांधी के मंदसौर जिले में प्रदेश के किसानों को लेकर दिए गए बयान पर मुख्यमंत्री ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस किसानों की मदद नहीं, उन्हें भड़काने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की मदद में कांग्रेस उनका मुकाबला नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि वे इस तरह किसानों को भड़काकर प्रदेश में राजनीतिक माहौल खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। कांग्रेस की सरकार किसानों को 18 प्रतिशत की ब्याज दर पर कृषि ऋ ण देती थी, हमने इसे 0 प्रतिशत कर दिया है।

उस समय खाद के लिये किसान मारे-मारे फिरते थे आज एडवांस में खाद मिल रहा है। फसल को लेकर हम हर प्रकार की मदद दे रहे हैं। समर्थन मूल्य के साथ ही भावांतर राशि के माध्यम से किसानों को लाभ दे रहे हैं। कांग्रेस ने किसानो को गुमराह करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि किसानो की मदद करने में कांग्रेस उनका मुकाबला नहीं कर सकती है। सीएम ने आरोप लगाया कि कांग्रेस मंडी में गदर कराती है। कांग्रेस के वे दिन कोई भूला नहीं है, जब गर्मी में बिजली के अभाव में लोग रात रात परेशान रहते थे।

23 साल के बच्चे से डरे शिवराज मामा

23 साल के एक बच्चे से शिवराज मामा डर गए हैं। यही कारण है कि उनकी सरकार ने उसे आम सभा करने की अनुमति नहीं दी। यह आम सभा जबलपुर में होना है। यह कहना है गुजरात में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल का। वे जबलपुर जाते समय कुछ देर इटारसी स्टेशन पर रुके। यहां पर उन्होंने स्थानीय लोगों से चर्चा की और सरकारी का नाकायाबियों का चिट्ठा बताया।

गुजरात चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की नाक में दम करने वाले पाटीदार नेता हार्दिक पटेल अब मध्यप्रदेश में जनता के बीच जाने का मन बना रहे हैं। बुधवार को वे राजकोट एक्सप्रेस से जबलपुर जाते समय कुछ देर के लिए इटारसी में रुके जहां उन्होंने मीडिया से खुलकर चर्चा की। इससे पहले उनसे जिला किसान कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बाबू चौधरी और जिला प्रवक्ता चंचल पटेल ने मुलाकात की।

यह कहा-
जबलपुर में जनसभा की अनुमति जिला प्रशासन द्वारा नहीं देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम आजाद भारत में रहते हैं और हमारा संविधान हमें सब कुछ करने की आजादी देता है। केवल गैरकानूनी कामों को छोड़कर, और हम जनसभा करके कोई गैरकानूनी काम नहीं कर रहे हैं। फिर भी हमें अनुमति नहीं देना यही साबित करता है कि एक २३ साल के बच्चे से शिवराज मामा डर गए हैं। उन्होंने कहा कि यहां की सरकार यदि अंग्रेज बनने की कोशिश करेगी तो मुझे भगत सिंह बनने में कोई एतराज नहीं है।

सरकार पर साथ निशाना
पिछले 15 सालों में शिवराज सरकार ने काम कुछ नहीं किया है केवल बातें ही बनाई हैं। भोपाल में सड़क बनाने से कुछ नहीं होता है। झाबुआ से बुंदेलखंड तक सड़क होना चाहिए, नदियों में पानी होना चाहिए तब उसे विकास कहा जा सकता है। उन्होंने भावान्तर योजना पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि योजना अच्छे से बनाई होती और मंदसौर गोलीकांड नहीं हुआ होता तो सब कुछ अच्छा था मगर हकीकत यह है कि किसान परेशान हैं।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: एग्जिट पोल में दावा,ये पार्टी पड़ेगी सबपर भारी

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: एग्जिट पोल में दावा,ये पार्टी पड़ेगी सबपर भारी
दोस्तों 2018 के नवंबर महीने में होने जा रहे मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के सभी 230 सीटों पर महासर्वे किया गया। इससे होने जा रहे चुनाव के नतीजों की तस्वीर उभर कर सामने आएगी। सर्वे में मध्यप्रदेश में जो आंकड़े सामने आए वो सच में चौकाने वाले थे।

मध्यप्रदेश के 15 हजार से ज्यादा लोगों से उनकी राय ली गयी। मध्यप्रदेश के 51 जिलों के 230 विधानसभा सीटों पर हुए इस सर्वे में चुनाव की तस्वीर साफ हो गई। क्योंकि ओपिनियन पोल के अनुसार इस बार बीजेपी को 101, कांग्रेस को 119 और अन्य को 10 सीटें मिलेंगी।

मुख्यमंत्री के तौर पर लोकप्रिय चेहरा कौन ?
जब जनता से ये पूछा गया तो कमलनाथ को 12 फीसदी वोट मिले। वर्तमान सीएम शिवराज सिंह चौहान को 31 फीसदी और ज्योतिरादित्य सिंधिया को सबसे ज्यादा 37 फीसदी वोट मिले। इसका साफ मतलब ये है कि मध्यप्रदेश में इस बार कांग्रेस का पलड़ा बीजेपी से भारी दिखाई दे रहा है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

टूटे सारे रिकॉर्ड, 10 बिंदुओं में जानिए क्यों आ रहा जोरदार उछाल

नई दिल्ली 24 सितम्बर 2021 । घरेलू शेयर बाजार में शानदार तेजी का सिलसिला जारी …