मुख्य पृष्ठ >> प्रदेश >> मध्यप्रदेश >> उज्जैन / भोपाल >> सत्ता छिनने से शिवराज की मानसिक स्थित बिगड़ी

सत्ता छिनने से शिवराज की मानसिक स्थित बिगड़ी

जबलपुर 18 जनवरी 2019 । मध्य प्रदेश में भाजपा से 15 साल की सत्ता छिनने व कांग्रेस के सत्ता में काबिज होने के बाद दोनों ही दलों के एक-दूसरे के नेताओं पर हमले तेज हो गये हैं. आज 16 जनवरी मंगलवार को एक सवाल के जवाब में प्रदेश के सामाजिक न्यायमंत्री लखन घनघोरिया ने तो पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर बड़ा हमला करते हुए यहां तक कह दिया कि सत्ता छिनने के बाद शिवराज की मानसिक स्थिति बिगड़ गई है, वे बेवजह ट्विट कर रहे हैं.

दरअसल मध्य प्रदेश में मीसाबंदी पेंशन रोके जाने पर सियासत तेज हो गई है. कमलनाथ सरकार ने बुधवार को आदेश जारी किया है. इसके अनुसार पेंशन को रोका नहीं जाएगा, लेकिन पेंशन लेने वाली मीसाबंदियों की पहले अफसर जांच करेंगे. सरकार के इस कदम को पूर्व सीएम शिवराज ने यू टर्न बताया. इस पर कांग्रेस सरकार के दो मंत्रियों लखन और तरुण भानोट ने शिवराज पर बड़ा हमला बोला है.

15 साल की भाजपा सरकार व 15 दिनों की कांग्रेस सरकार में शिवराज कर रहे तुलना

श्री घनघोरिया ने शिवराज पर हमला करते हुए कहा कि शिवराज इतने खाली बैठे हैं कि 15 सालों के भाजपा राज की बजाए 15 दिनों की कांग्रेस सरकार के कामों में मीन-मेख निकाल रहे हैं. लखन ने कहा कि कांग्रेस कभी यू टर्न नहीं लेती, जो मीसाबंदी पेंशन पाने वालों की जांच करवा कर रहेगी. वहीं, वित्त मंत्री ने भी शिवराज को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि अगर बीजेपी किसान कर्जमाफी को खैरात मानती है तो शिवराज बताएं कि मध्यप्रदेश में मीसाबंदियों को दी जा रही पेंशन क्या थी. वित्त मंत्री तरुण ने भनोत ने कहा कि ये सवाल पूर्व सीएम शिवराज से मिलकर भी जरूर पूछेंगें.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

आयुष्मान भारत ने लाखों लोगों को गरीबी के दलदल में फंसने से बचाया: पीएम नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली 27 सितम्बर 2021 । पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को आयुष्मान भारत डिजिटल …