मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> अमेरिका में इस साल तीसरी बार हुआ शटडाउन, छुट्टी पर भेजे जाएंगे आठ लाख कर्मचारी

अमेरिका में इस साल तीसरी बार हुआ शटडाउन, छुट्टी पर भेजे जाएंगे आठ लाख कर्मचारी

नई दिल्ली 23 दिसंबर 2018 । अमेरिका में सरकारी खर्च और मेक्सिको बॉर्डर पर दीवार बनाने के लिए पैसे मुहैया कराने की मांग वाला बिल पास किए बिना ही संसद की कार्यवाही शुक्रवार को स्थगित हो गई. इस कारण अमेरिका में शनिवार से सरकारी कामकाज आंशिक रूप से ठप हो गया. इस साल यह तीसरी मौका है जब अमेरिका में सरकारी कामकाज ठप हुआ है.

शनिवार को सुबह 12 बजकर एक मिनट (अंतरराष्ट्रीय समयानुसार 05:01) पर कई महत्वपूर्ण एजेंसियों का कामकाज बंद हो गया. इससे पहले कैपिटल हिल में व्हाइट हाउस के अधिकारियों और अमेरिकी कांग्रेस के दोनों दलों के नेताओं के बीच अंतिम क्षण तक चली बातचीत में फंडिग को लेकर कोई सहमति नहीं बन पाई.

हालांकि, अभी यह साफ नहीं हुआ है कि यह बंद कितने समय के लिए है. बताया जा रहा है कि इस दौरान करीब 800,000 सरकारी कर्मचारियों को या तो छुट्टी दे दी जाएगी या फिर क्रिसमस की छुट्टियों के बीच बिना वेतन काम पर बुलाया जाएगा. हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उम्मीद जतायी है कि यह बंद ज्यादा लंबा नहीं चलेगा. ट्रंप ने ट्विटर पर एक वीडियो साझा करते हुए यह बात कही.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मेक्सिको-अमेरिका सीमा पर दीवार बनाने के लिए 5 अरब अमेरिकी डॉलर की मांग कर रहे हैं, लेकिन विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता इसका विरोध कर रहे हैं. समझौता नहीं हो पाने की वजह से दर्जनों एजेंसियों के लिए संघीय कोष 12 बजते ही खत्म हो गया.

बता दें कि अमेरिका में सेना, स्वास्थ्य और मानव सेवा मंत्रालय समेत सरकार के तकरीबन तीन चौथाई विभागों के लिए सितंबर 2019 तक के लिए धन का इंतजाम है. वहीं शनिवार तक सिर्फ 25 फीसदी विभागों के लिए धन का इंतजाम नहीं हो सका.

इस कारण नासा के ज्यादातर कर्मचारियों को छुट्टी पर भेजा जाएगा. वहीं वाणिज्य मंत्रालय, गृह सुरक्षा, न्याय, कृषि और विदेश मंत्रालय के कर्मचारियों को भी छुट्टी पर भेजा जाएगा. इस बीच नेशनल पार्क खुले रहेंगे, लेकिन ज्यादातर पार्क कर्मी घर पर रहेंगे.

इससे पहले इस संकट के लिए राजनीतिक विरोधियों को जिम्मेदार ठहराते हुए ट्रंप ने कहा, ‘यह डेमोक्रेट के ऊपर है कि आज रात कामकाज ठप हो या नहीं.’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन हम बहुत लंबे समय तक कामकाज ठप रहने की स्थिति के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.’

सीनेटर्स ने संवाददाताओं को बताया कि दोनों दलों के कांग्रेस के सदस्य पर्दे के पीछे व्हाइट हाउस के अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहे थे, जिसमें उपराष्ट्रपति माइक पेंस, ट्रंप के दामाद जेरेड कुशनर और नव नियुक्त कार्यवाहक चीफ ऑफ स्टाफ मिक मुलवेनी शामिल थे. तीनों ने सफलता पाने के लिए कैपिटल हिल में रिपब्लिकन और डेमोक्रेट सांसदों के साथ कड़ी मशक्कत की, लेकिन यह शुक्रवार को नहीं हो पाया.

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब कांग्रेस का सस्पेंस बरकरार, नाराज सुनील जाखड़ को अपनी फ्लाइट में दिल्ली लाए राहुल-प्रियंका गांधी

नई दिल्ली 23 सितम्बर 2021 । चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के बावजूद पंजाब …