मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> मेडिकल स्टूडेंट को सुस्त बना रहा स्मार्ट फोन

मेडिकल स्टूडेंट को सुस्त बना रहा स्मार्ट फोन

नई दिल्ली 27 नवम्बर 2018 । स्मार्ट फोन के उपयोग से मेडिकल स्टूडेंट सुस्त हो रहे हैं। उन्हे मोटापा घेर रहा है एवं अनिद्रा के शिकार हो रहे है। एमबीबीएस अंतिम वर्ष तक आते आते अधिकतर विद्यार्थी ओवरवेट से पीडित हो जाते है। परिणामस्वरूप छात्र सुस्त हो रहे है | इससे उनकी पढाई के रिजल्ट पर भी प्रभाव पड रहा है।
यह खुलासा इंडियन डॉक्टर्स ऑनलाइन सर्विसेस के मानद सलाहकार डॉ नरेश पुरोहित ने सर्विसेस के तत्वावधान में कराए गए एक शोध सर्वेक्षण रिपोर्ट मे किया है। पिछले दो वर्षों मे मध्यप्रदेश के प्रमुख शहरों के 6 सरकारी एवं 6 निजी क्षेत्र के चिकित्सा महाविद्यालयों के 18 – 25 वर्ष की आयु वर्ग के 800O विद्यार्थियों को शोध अध्ययन मे शामिल किया गया था । इनमें 65 प्रतिशत सरकारी चिकित्सा महाविद्यालयों के विद्यार्थी थे, जबकि 37 प्रतिशत निजी चिकित्सा महाविद्यालयो से संबंधित थे।
डॉ पुरोहित ने शोध- रिपोर्ट मे कहा कि स्मार्ट फोन का अधिक इस्तेमाल करने से मेडिकल स्टूडेंट की जीवन शैली बिगडी तो खेलो मे घटी रुचि I उनके कुर्सी पर बैठकर पढने की क्षमता मे कमी आई है।
मोबाइल छीन रहा है मुस्कुराहट :
शोध रिपोर्ट के अनुसार स्मार्ट फोन की बढती लत मेडिकल स्टूडेंट के चेहरे से मुस्कुराहट छीन रहा है। वे अपने मे ही ज्यादा व्यस्त रहते है और अपने आस-पास के माहौल में कम घुलना मिलना पसंद करते है। हर समय डिजिटल दुनिया में रहने का उनके व्यवहार और यादास्त पर असर पड रहा है।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

पंजाब कांग्रेस का सस्पेंस बरकरार, नाराज सुनील जाखड़ को अपनी फ्लाइट में दिल्ली लाए राहुल-प्रियंका गांधी

नई दिल्ली 23 सितम्बर 2021 । चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने के बावजूद पंजाब …