मुख्य पृष्ठ >> Uncategorized >> अमिताभ-रेखा के मोहब्बत की कुछ अनकही-अनसुनी दास्तान

अमिताभ-रेखा के मोहब्बत की कुछ अनकही-अनसुनी दास्तान

नई दिल्ली 22 मई 2020 । ये मोहब्बत का वो सिलसिला है जो थमने का नाम ही नहीं लेता. कहने को तो रेखा और अमिताभ के प्यार का किस्सा 80 के दशक में ही खत्म हो चुका था. लेकिन आज भी उनके किस्से लोगों के लिए उतने ही दिलचस्प बने हुए हैं. अमिताभ को ‘इनको’ ‘इन्‍होंने’ कहती थीं रेखा बहुत कम लोगों को ये बात पता होगी कि रेखा अमिताभ को कभी उनके नाम से नहीं पुकारती थीं. वो अमिताभ के लिए हमेशा ‘इनको’ ‘इन्‍होंने’ जैसे शब्‍द इस्तेमाल करती थीं. भारत में महिलाएं ऐसे शब्‍द केवल अपने पति के लिए ही इस्‍तेमाल करती हैं. ज़ाहिर था कि वह खुद को शादीशुदा और अमिताभ को अपना पति समझती थीं. ये बात फिल्ममेकर मुजफ्फर अली ने एक इंटरव्यू के दौरान बताई थी. उन्होंने ये भी बताया था कि जब फिल्‍म ‘उमराव जान’ की शूटिंग दिल्‍ली में हो रही थी तो सेट पर अक्‍सर अमिताभ आ जाया करते थे और अमिताभ को देख कर रेखा चलती फिरती लाश जैसी हो जाती थीं. उन्हें देखते ही सुध बुध खो बैठती थीं. जब शुरू हुआ मोहब्बत का सिलसिला 70 के दशक में आई फिल्म ‘दो अनजाने’ के सेट से रेखा और अमिताभ का प्यार शुरू हुआ था. ये फिल्म दोनों की पहली फिल्म थी, जिसमें अमिताभ और रेखा ने एक साथ काम किया. इससे पहले दोनों कभी मिले भी नहीं थे, लेकिन इस फिल्म ने सब कुछ बदल कर रख दिया था. अमिताभ शादीशुदा थे, लेकिन इसके बावजूद उन्हें रेखा से प्यार हो गया.’दो अनजाने’ की शूटिंग के दौरान रेखा सेट पर…मोहब्बत का वो सिलसिला है जो थमने का नाम ही नहीं लेता. कहने को तो रेखा और अमिताभ के प्यार का किस्सा 80 के दशक में ही खत्म हो चुका था. लेकिन आज भी उनके किस्से लोगों के लिए उतने ही दिलचस्प बने हुए हैं.अमिताभ को ‘इनको’ ‘इन्‍होंने’ कहती थीं रेखा
बहुत कम लोगों को ये बात पता होगी कि रेखा अमिताभ को कभी उनके नाम से नहीं पुकारती थीं. वो अमिताभ के लिए हमेशा ‘इनको’ ‘इन्‍होंने’ जैसे शब्‍द इस्तेमाल करती थीं. भारत में महिलाएं ऐसे शब्‍द केवल अपने पति के लिए ही इस्‍तेमाल करती हैं. ज़ाहिर था कि वह खुद को शादीशुदा और अमिताभ को अपना पति समझती थीं. ये बात फिल्ममेकर मुजफ्फर अली ने एक इंटरव्यू के दौरान बताई थी. उन्होंने ये भी बताया था कि जब फिल्‍म ‘उमराव जान’ की शूटिंग दिल्‍ली में हो रही थी तो सेट पर अक्‍सर अमिताभ आ जाया करते थे और अमिताभ को देख कर रेखा चलती फिरती लाश जैसी हो जाती थीं. उन्हें देखते ही सुध बुध खो बैठती थीं.

जब शुरू हुआ मोहब्बत का सिलसिला

70 के दशक में आई फिल्म ‘दो अनजाने’ के सेट से रेखा और अमिताभ का प्यार शुरू हुआ था. ये फिल्म दोनों की पहली फिल्म थी, जिसमें अमिताभ और रेखा ने एक साथ काम किया. इससे पहले दोनों कभी मिले भी नहीं थे, लेकिन इस फिल्म ने सब कुछ बदल कर रख दिया था. अमिताभ शादीशुदा थे, लेकिन इसके बावजूद उन्हें रेखा से प्यार हो गया.
‘दो अनजाने’ की शूटिंग के दौरान रेखा सेट पर टाइम से नहीं आती थीं. कई बार वो शूटिंग में सीरियस भी नहीं रहती थीं. कहते हैं अमिताभ बच्चन ने एक बार रेखा को समझाया कि समय पर आया करो और अपना काम सीरियसली करो. बस, अमिताभ की ये बात रेखा को इतनी अच्छी लगी कि उन्होंने सेट पर न सिर्फ टाइम से आना शुरू किया, बल्कि शूटिंग में भी सीरियसली पार्टिसिपेट करने लगीं. इसी वाकये के बाद रेखा अमिताभ की तरफ अट्रैक्ट होने लगीं. तब दोनों चुपचाप रेखा की फ्रेंड के बंगले में मिला करते थे और साथ काफी वक्त बिताया करते थे, लेकिन बहुत दिनों तक दोनों ने अपना प्यार दुनियावालों से छिपाकर रखा.

जब प्यार दुनिया के सामने आया

लेकिन इनका प्यार सबके सामने तब खुलकर आया, जब फिल्म ‘गंगा की सौगंध’ के समय एक को-एक्टर रेखा को भलाबुरा कहने लगा, यहां तक कि उसने रेखा के साथ बदतमीजी भी कर दी. वहां बैठे अमिताभ रेखा का अपमान बर्दाश्त नहीं कर पाए और अपना आपा खो बैठे. कहा तो ये भी जाता है कि अमिताभ ने गुस्से में उस बन्दे की पिटाई भी कर दी थी. बस इस घटना के बाद अमिताभ-रेखा के प्यार के किस्से आम हो गए.

जया को ‘दीदी भाई’ कहती हैं रेखा

आपको जानकर बड़ी ही हैरानी होगी कि जब रेखा बॉलीवुड में करियर बनाने मुंबई पहुंचीं, तो मुंबई में उनकी पहली दोस्त जया बच्चन ही थीं. रेखा उनके ऊपर वाले फ्लैट में रहती थीं और उन्होंने लोगों को जया बच्चन के घर का नंबर दे रखा था. जब भी रेखा के लिए फोन आता, तो जया उन्हें बुला लेती थीं. तब जया की शादी नहीं हुई थी. रेखा हमेशा से ही जया को दीदीभाई कह कर बुलाती थीं. रेखा आज भी जया को दीदी भाई ही कहती हैं.

जब जया ने अमिताभ के सामने रेखा को थप्पड़ मारा

जया बच्चन नहीं चाहती थीं कि अमिताभ और रेखा साथ काम करें. इसी दौरान प्रोड्यूसर टीटो टोनी रेखा और अमिताभ को लेकर फिल्म ‘राम बलराम’ बनाने की प्लानिंग की. जया और टीटो के अच्छे संबंध थे, इसलिए जया को जब इस बारे में पता चला, तो उन्होंने टीटो से रेखा की जगह फिल्म में जीनत अमान को कास्ट करने के लिए कहा. टीटो ने जया की बात मान ली और रेखा को फिल्म से बाहर कर दिया. रेखा को जब ये बात पता चली, तो उन्होंने टीटो के सामने ऐसा ऑफर रखा कि वो रेखा को मना नहीं कर सके. रेखा ने कहा कि वो इस फिल्म में बिना पैसे लिए काम करने को तैयार हैं. इस तरह ये फिल्म रेखा को मिल गई और जया चाहकर भी कुछ न कर पाईं. रेखा और अमिताभ के साथ ‘राम बलराम’ फिल्म की शूटिंग शुरू हो गई. लेकिन जया से ये बात बर्दाश्त नहीं हो रही थी. एक दिन जया अमिताभ को बताए बिना फिल्म के सेट पर पहुंच गईं. वहां जब उन्होंने रेखा और अमिताभ को एक साथ प्राइवेट में बात करते देखा, तो उनसे बर्दाश्त नहीं हुआ और जया ने सबके सामने रेखा के गाल पर थप्पड़ जड़ दिया. ये सब इतना अचानक हुआ कि अमिताभ को समझ नहीं आया कि क्या रियेक्ट करें. वो चुपचाप सेट छोड़ कर घर चले गए.

रेखा की मांग में सिंदूर देखकर जया रोने लगीं

उन दिनों रेखा और अमिताभ बच्‍चन के अफेयर के चर्चे बेहद गर्म थे, उस पर जब रेखा ऋषि कपूर और नीतू सिंह की शादी पर पहुंचीं, तो सबके आकर्षण का केंद्र बन गईं. उनके माथे पर सजी लाल बिंदिया, मांग में सिंदूर और गले में मंगल सूत्र देखकर सबमें खुसफुसाहट होने लगी. इस शादी में अमिताभ पत्‍नी जया और अपने पैरेंट्स के साथ पहुंचे थे. शादी में रेखा पर लगभग सभी मेहमानों की नज़र थी, लेकिन वो बस अमिताभ को ही देख रही थीं. दोनों के बीच कुछ देर बातचीत भी हुई. जया पहले शांत रहीं और सर झुका कर एक ओर बैठ गईं. उनकी आंखों से आंसू बहने लगे. हालांकि काफी लंबे समय बाद रेखा ने खुलासा किया कि वे एक फिल्‍म के सेट से सीधे शादी में पहुंचीं थीं और ये लुक उनकी फिल्‍म का गेटअप था.

जब जया ने रेखा को डिनर पर बुलाकर अमिताभ से दूर रहने का इशारा किया

कहते हैं ऋषि कपूर की शादी वाली घटना के बाद ही एक दिन जब अमिताभ शूटिंग के लिए मुंबई से बाहर गए थे तो मौका देखकर जया ने फोन करके रेखा को डिनर पर इनवाइट किया. पहले रेखा को लगा कहीं जया उन्हें घर पर बुलाकर उनकी बेइज्जती न करें. लेकिन फिर भी रेखा डिनर पर गईं. जया ने रेखा का स्वागत किया. उनसे ढेर सारी बातें की. इस बीच अमिताभ का जिक्र तक नहीं हुआ. लेकिन जब रेखा लौटने लगीं और जया उन्हें बाहर तक छोड़ने आईं, तब जया ने रेखा को सख्त लहज़े में कहा, ‘चाहे कुछ भी हो जाए मैं अमित को नहीं छोड़ूंगी.’ कहते हैं उसी दिन के बाद से रेखा ने ये फैसला कर लिया था कि अब वो न कभी अमिताभ बच्चन से मिलेंगी और न बात करेंगी.

…और फिर आई ‘सिलसिला’

जब 80 में यश चोपड़ा ने अमिताभ, रेखा और जया को लेकर फ़िल्म ‘सिलसिला’अनाउंस की, तो हंगामा मच गया. खबरों की मानें तो अमिताभ ने ही उन दोनों को साथ फिल्म करने के लिए मनाया था. ताकि उन दोनों के बीच की कड़वाहट को खत्म किया जा सके.
पहले यश जी रेखा और जया की जगह परवीन बॉबी और स्मिता पाटिल को लेकर ‘सिलसिला’ बनाने वाले थे. कश्मीर में शूटिंग से पहले अमिताभ ने फिल्म की स्क्रिप्ट पढ़ी, तो उन्होंने यश जी से कहा कि क्यों न जया और रेखा को लिया जाए. और इस तरह ‘सिलसिला’ बनी. हालांकि यश चोपड़ा ने एक इंटरव्यू में खुद ही बताया था कि ‘सिलसिला’ बनाते वक्त बहुत डर रहे थे क्योंकि इन तीनों के बीच पहले से ही काफी तनातनी थी. ये अमिताभ- रेखा की जोड़ी की आखिरी फ़िल्म साबित हुई. कहते हैं कि जया ने सख्ती से अमिताभ से कह दिया था कि अब वो रेखा के साथ काम नहीं करेंगे और इस तरह ‘सिलसिला’ के बाद दोनों की मोहब्बत का सिलसिला भी थम गया.

रेखा को अमिताभ से मिलने तक नहीं दिया गया

‘सिलसिला’ के बाद अमिताभ और रेखा एक दूसरे से दूर हो गए. लेकिन तीन साल बाद फिल्म ‘कुली’ के सेट पर अमिताभ के साथ हादसा हो गया और सीरियस हालत में उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा. रेखा फिर अमिताभ के लिए तड़प उठीं और अमिताभ को अस्पताल देखने पहुंच गईं. लेकिन वहां उनको अमिताभ से मिलने नहीं दिया गया. वो आखिरी मौका था जब रेखा ने अमिताभ से मिलने की कोशिश की थी.

जब रेखा ने बेबाकी से कहा,’ मैं उनको पसंद करती थी और करती हूं. बात खत्म.’

अमिताभ बच्‍चन ने कभी न खुलकर रेखा से अपने रिश्ते की बात स्वीकारी, न कभी यही कहा कि वो रेखा से प्यार करते थे, लेकिन रेखा कई बार इस बात को कबूल कर चुकी हैं. सिमी ग्रेवाल के शो में जब सिमी ने रेखा से अमिताभ को लेकर सवाल किए तो उन्होंने हर सवाल का जवाब काफी बेबाकी से दिया.
अपने और अमिताभ के रिश्ते पर रेखा ने कहा, “मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि लोग क्या सोचते हैं. मैं उन्हें अपने लिए प्यार करती हूं किसी को दिखाने के लिए नहीं. मैं उनसे प्यार करती हूं और वो मुझसे, लोग बोलते हैं कि बेचारी रेखा पागल है उसपर, लेकिन मुझे फर्क नहीं पड़ता कि कौन क्या सोचता है.” रेखा ने ये भी कहा, “वो किसी और के थे और ये सच मैं बदल नहीं सकती थी. वो शादीशुदा आदमी हैं लेकिन ये बात उनको अलग नहीं करती. मैं उनको पसंद करती थी और करती हूं. बात खत्म.”

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

देश में 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3,37,704 नये मामले, 488 मरीजों की मौत

नयी दिल्ली 22 जनवरी 2022 । देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,37,704 नये मामले …