मुख्य पृष्ठ >> खास खबरें >> प्रार्थना सभा में शामिल हुए सोनिया, मनमोहन और राहुल

प्रार्थना सभा में शामिल हुए सोनिया, मनमोहन और राहुल

सेवाग्राम 3 अक्टूबर 2018 । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेता मंगलवार को महात्मा गांधी की 149वीं जयंती के मौके पर सेवाग्राम आश्रम में आयोजित प्रार्थना सभा में शामिल हुए। राहुल गांधी के अलावा यूपीए प्रमुख सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बापू कुटी में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने बापू की कुटिया में बर्तन भी धोए।

राष्ट्रपिता अपने जीवन के आखिरी कुछ वर्षों के दौरान यहां रहे थे। इनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत और मल्लिकार्जुन खड़गे भी मौजूद थे। कांग्रेस अध्यक्ष ने उस पेड़ के निकट पौधा लगाया लगाया जिसे उनके पिता राजीव गांधी ने 1986 में लगाया था। राहुल ने यहां बर्तन भी धोए।

कांग्रेस के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल ने संवाददाताओं से कहा, ‘महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देना हमारे लिए नई बात नहीं है। भाजपा अब गांधी जी और सरदार पटेल को याद कर रही है।’

खाने के बाद सोनिया और राहुल गांधी ने खुद धोई प्लेट, वीडियो वायरल

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पूर्व एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है कि जिसमें संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने खाने के बाद खुद अपनी प्लेट धोई। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार को सुबह वर्धा पहुंचे थे। उनके साथ पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी थे। उन्होंने बापू के सम्मान में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने के बाद आश्रम में एक बेल का पेड़ लगाया और भोजन भी किया। जिसके बाद उन्होंने अपने बर्तन खुद धोए। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।सोशल मीडिया पर राहुल गांधी और सोनिया गांधी की ये तस्वीर तेजी से वायरल हो गई है। राहुल के इस कदम को सियासत से भी जोड़कर देखा जाने लगा है। सोशल मीडिया पर जहां एक तरफ राहुल गांधी और सोनिया के प्लेट धोने के कदम की सराहना की जा रही है तो वहीं कुछ यूजर्स इसे सियासत से भी जोड़कर भी देख रहे हैं।

शेयर करें :

इसे भी पढ़ें...

कोरोना विस्फोट के बीच क्या लगेगा लॉकडाउन? पीएम मोदी की आज बड़ी बैठक

नई दिल्ली 19 अप्रैल 2021 । कोरोना की दूसरी लहर की वजह से देश में …